भाषा चुनें :

हिंदी

गन्ना के अलावा और भी फसलें उगाने की आदत डालें किसान: योगी आदित्यनाथ

दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे के शिलान्यास समारोह को लोगों को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा, हमने प्रदेश में बिना किसी भेदभाव के शहर के साथ ही गांव में पर्याप्त बिजली की व्यवस्था की है जबकि पूर्ववर्ती बसपा और सपा की सरकारों में बिजली देने में भेदभाव किया जाता था

News18Hindi |

बागपत जिले के दौरे पर मंगलवार को पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सूबे के किसानों से नकदी फसल गन्ना के अलावा और भी फसलें खेतों में उगाने की आदत डालने की गुजारिश की है. सीएम योगी ने कहा कि किसानों को अन्य फसलें भी उगानी चाहिए, क्योंकि दिल्ली का बाजार उनके करीब है. उन्होंने आगे कहा कि वैसे भी लोग शुगर के कारण बीमार होते जा रहे हैं. दरअसल, मुख्यमंत्री योगी दिल्ली-सहारनपुर राष्ट्रीय राजमार्ग का शिलान्यास करने बागपत पहुंचे थे.


यह भी पढ़ें-यूपी कैबिनेट बैठक में 14 प्रस्तावों पर लगी मुहर, OPOD के लिए अनुदान को मंजूरी


रिपोर्ट के मुताबिक वैदिक इंटर कॉलेज बड़ौत में आयोजित दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे के शिलान्यास समारोह के बाद लोगों को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा, हमने प्रदेश में बिना किसी भेदभाव के शहर के साथ ही गांव में पर्याप्त बिजली की व्यवस्था की है जबकि पूर्ववर्ती बसपा और सपा की सरकारों में बिजली देने में भेदभाव किया जाता था.


बकौल योगी, गरीब और किसान को मुख्यधारा में लाना ही हमारी वरीयता है. चीनी मिलों ने अगर 15 अक्टूबर तक इनका भुगतान नहीं किया तो मिल मालिकों पर डंडा भी चलेगा. योगी ने आगे कहा कि प्रदेश में कांग्रेस, सपा, बसपा ने जाति के आधार पर समाज को बांटा है, लेकिन हमने सभी को अपना पर्व मनाने की आजादी दी है. उन्होंने बताया कि कांवड़ यात्रा भी बाधा रहित निकली और कांवडिय़ों पर जमकर फूल भी बरसे.


यह भी पढ़ें-चीनी मीलों ने 15 अक्टूबर तक गन्ना भुगतान नहीं किया तो चलेगा डंडा: CM योगी


दिल्ली-सहारनपुर राष्ट्रीय राजमार्ग का शिलान्यास समारोह में मौजूद केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि सपा सरकार एनओसी नहीं दे रही थी. हाईवे के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि पहले फेज में यह हाईवे अक्षरधाम से लोनी तक बनेगा जबकि दूसरे में बागपत से शामली तक और तीसरे फेज में सहारनपुर तक बनेगा. गडकरी ने कहा कि मोदी सरकार के पांचवे साल तक दो लाख किलोमीटर सड़कें बन जाएंगी.


वहीं, महापुरुषों के नाम पर सड़कें बनाने की चर्चा करते हुए उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बताया कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के साथ -साथ कांशीराम तक के नाम पर सड़क बनेगी.