लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबबजट 2023क्रिकेटफूडमनोरंजनवेब स्टोरीजफोटोकरियर/ जॉब्सलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसशॉर्ट वीडियोनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नर#MakeADent #RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrency
होम / न्यूज / उत्तर प्रदेश /

काम की खबरः जितनी जरूरत उतने ही अंडे खरीदें, रखें ध्यान, वरना सेहत को हो सकता है नुकसान

काम की खबरः जितनी जरूरत उतने ही अंडे खरीदें, रखें ध्यान, वरना सेहत को हो सकता है नुकसान

Ande Ka Funda: यूपी सरकार सभी कोल्ड स्टोरेज की जांच करवाकर अंडों की तलाश करवा रही है. नियम है कि अंडा आलू समेत दूसरी सब्जियों के साथ कोल्ड में नहीं रखा जाएगा. इतना ही नहीं कोल्ड स्टोरेज में अंडे के चेम्बर और तापमान तय मानकों के अनुसार होना चाहिए. मानकों का पालन न होने पर अंडा सेहत के लिए फायदेमंद नहीं रहता है. अंडे की जरदी टूटने लगती है. कोल्ड से निकला ऐसा अंडा 7 से 8 दिन तक ही इस्तेमाल करने लायक ही बचता है.

कोल्ड स्टोरेज से निकले अंडे की पहचान यह होती है कि जब हम अंडा बनाने के लिए उसे तोड़ते हैं तो उसकी पीली जरदी तरल पदार्थ में घुली हुई मिलती है. (सांकेतिक तस्वीर)

कोल्ड स्टोरेज से निकले अंडे की पहचान यह होती है कि जब हम अंडा बनाने के लिए उसे तोड़ते हैं तो उसकी पीली जरदी तरल पदार्थ में घुली हुई मिलती है. (सांकेतिक तस्वीर)

नोएडा. घर में जितने अंडे रोजाना इस्तेमाल हों, उतने ही बाजार से खरीदे जाएं. फ्रिज में अंडे रखकर दो-चार दिन तक कतई न खाएं. यह सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं. इसकी वजह है मानकों को दरकिनार कर कोल्ड स्टोरेज में अंडे रखे जा रहे हैं. ऐसे ही कोल्ड स्टोरेज के खिलाफ यूपी सरकार ने अभियान छेड़ रखा है. मानकों की अनदेखी कर कोल्ड में रखे गए अंडों को अफसर सीज कर रहे हैं या फिर फिकवा रहे हैं. जानकारों का कहना है कि कोल्ड स्टोरेज से निकला अंडा ज्यादा दिन तक रखकर इस्तेमाल करने लायक नहीं बचता है. अंडे का मामला अब कोर्ट में भी पहुंच गया है. जानकारों की मानें तो अगर नियमानुसार अंडा बेचने का फैसला आता है तो आने वाली सर्दियों में सस्ता अंडा खाने को भी मिल सकता है.

यूपी एग एसोसिएशन के अध्यक्ष नवाब अली की मानें तो, “कुछ मुनाफाखोर किसानों से अंडा खरीदकर उसकी जमाखोरी करते हैं. बाजार के रेट गिराकर खरीदा गया सस्ता अंडा कोल्ड स्टोरेज में रख देते हैं. फिर बाजार में हल्की सी भी तेजी आने पर कोल्ड के अंडे को निकालकर बेच देते हैं. जैसे अब नवरात्र में अंडे की डिमांड कम हो जाएगी तो मुनाफाखोर सस्ता अंडा खरीदकर कोल्ड में जमा करने लगेंगे. अक्टूबर में नवरात्र के बाद उसी सस्ते अंडे को महंगाकर बेच देंगे. मई, जून और जुलाई के महीने में भी ऐसा ही होता है. तीन-तीन महीने तक मुनाफाखोर अंडे को कोल्ड में रखते हैं. लेकिन इसका सबसे बड़ा नुकसान यह होता है कि कोल्ड से निकलने के बाद अंडा ज्यादा से ज्यादा 7 से 8 दिन तक ही खाया जा सकता है.

आपके शहर से (नोएडा)

डेढ़ महीने में 4 अरब का ट्रांजेक्शन, दुबई से ऑपरेट हो रहे इंटरनेशनल गेमिंग साइट का भंडाफोड़, 16 गिरफ्तार

गोली लगने के बाद 23.7 किमी ड्राइव कर शख्स पहुंचा घर, नहाकर अस्पताल में हुआ भर्ती, पुलिस भी चकराई

Noida News: मजबूत नेशनल प्लेयर देने वाले इस स्कूल की बिल्डिंग बिल्कुल जर्जर, पढ़ें नोएडा की यह कहानी

Noida News: नोएडा के लिए शादी क्यों बन रही मुसीबत? ऑफिस और मार्केट जाना भी मुश्किल

Noida News: नोएडा के इस एरिया में घर के सामने महिलाओं से छेड़छाड़ करते हैं लफंगे, लोग बेबस

Noida News: ये हैं नोएडा के लाइब्रेरी मैन, झुग्गियों में रहने वाल बच्चों का भविष्य बना रहे डिजिटल

Noida News: यहां हजारों लोग रोज नाव से पार करते हैं हिंडन नदी, तरीका देख दंग रह जाएंगे

Noida News: टेलीकॉम कंपनियों को अथॉरिटी का नोटिस, सोसाइटी के गड्ढों को भरने का आदेश

Noida News: ये नहीं होते तो नोएडा में बन जाता दूसरा ट्विन टावर, लोगों को इस तरह किया जागरुक

जंगली, भूतिया जैसे नाम न हास हैं न परिहास, जानें नोएडा के 'यादव कुनबे' के नामों का इतिहास

NOIDA में पॉड टैक्सी चलाने की तैयारी, लोगों ने पूछा सिटी बस कब चलेगी सरकार?


कोल्ड स्टोरेज से निकले अंडे की सबसे बड़ी पहचान यह होती है कि जब हम अंडा बनाने के लिए उसे तोड़ते हैं तो उसकी पीली जरदी तरल पदार्थ में घुली हुई मिलती है. यानि कहा जाए तो जरदी टूट जाती है. हालांकि कुछ मामलों में मुर्गियों को बाजरा और चावल की किनकी खिलाने के चलते भी जरदी टूटने लगती है. इस तरह की जरदी सेहतमंद भी नहीं मानी जाती है. बाजरा और चावल की किनकी मुर्गी फीड के मुकाबले सस्ती पड़ती है.”

चिल्ला एलिवेटेड रोड: जल्द खत्म होगा फिल्म सिटी का जाम, जानें प्लान

कोल्ड स्टोरेज में अंडा रखने के यह हैं नियमन्यूज18 हिंदी से बात करते हुए डिस्ट्रिक्ट हॉर्टिकल्चर अधिकारी, आगरा देवेश मित्तल ने बताया, “आलू-सब्जी और फलों को कोल्ड स्टोरेज में रखने के लिए अलग-अलग तापमान की जरूरत होती है. वहीं अंडे के लिए भी अलग तापमान चाहिए होता है. इतना ही नहीं अंडे को कोल्ड में लाने से पहले भी कुछ मानकों का पालन करना होता है. जैसे अंडा ट्रे में नहीं गत्ते के बाक्स में पैक होना चाहिए. जांच के बाद अंडे को सर्टिफिकेट मिला होना चाहिए. अंडा एक अलग चैम्बर में रखा जाएगा.

अंडे के साथ फल-सब्जी नहीं रखी जाएंगी. कोल्ड में रखे जाने वाले अंडे के लिए 4 से 7 डिग्री तापमान और 75 से 80 फीसद ह्यूमिडिटी का होना जरूरी है. “पोल्ट्री के जानकार मनीष शर्मा का कहना है, “अभी हो यह रहा है कि सस्ते के चक्कर में बिना मानकों का पालन किए अंडे को खुली ट्रे में कोल्ड के अंदर रखा जा रहा है. इस तरह से अंडे की क्वालिटी खराब हो रही है, साथ ही अंडा खराब होने से खाने वाले को भी नुकसान पहुंच रहा है.

जरूरत न होने पर भी खिलाया जा रहा कोल्ड का अंडापोल्ट्री फार्म संचालक मनीष शर्मा का कहना है, “यूपी को सीजन में हर रोज करीब दो करोड़ अंडे की जरूरत होती है. अगर ऑफ सीजन की बात करें तो अंडे की डिमांड 1.5 करोड़ पर आ जाती है,, जबकि यूपी में हर रोज 80 लाख से लेकर एक करोड़ तक अंडे का उत्पादन होता है. मतलब यह कि हम हर रोज यूपी वालों को ताजा अंडा खिला सकते हैं. इतना ही नहीं डिमांड को पूरा करने के लिए बाहर से भी ताजे अंडे खरीदकर उनकी सप्लाई कर सकते हैं. तो ऐसे में क्यों यूपी के कोल्ड स्टोरेज में अंडा रखा जा रहा है. हालांकि अभी बीच में अंडा उत्पादन 1.5 करोड़ प्रति दिन पर पहुंच गया था. ऐसा नए-नए पोल्ट्री फार्म के आने के चलते हुआ था. लेकिन जल्द ही बहुत सारे फार्म बंद हो गए और अंडा उत्पादन अपने पुराने आंकड़े पर आ गया.”

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Egg Price, Poultry Farm, UP Government

FIRST PUBLISHED : September 26, 2022, 11:48 IST
अधिक पढ़ें