लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबबजट 2023क्रिकेटफूडमनोरंजनवेब स्टोरीजफोटोकरियर/ जॉब्सलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसशॉर्ट वीडियोनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नर#MakeADent #RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrency
होम / न्यूज / उत्तर प्रदेश /

यमुना अथॉरिटी के मास्टर प्लान पर जल्द लगेगी मुहर, बची हैं दो आपत्ति

यमुना अथॉरिटी के मास्टर प्लान पर जल्द लगेगी मुहर, बची हैं दो आपत्ति

यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) के अफसरों का कहना है कि नए मास्टर प्लान (Master Plan) में लॉजिस्टिक सिटी (Logistic City), फन सिटी, स्पोर्ट्स सिटी का प्रस्ताव दिया गया है. इतना ही नहीं फाइनेंशियल सिटी, इलेक्ट्रॉनिक सिटी आदि बसाने का प्रस्ताव भी शामिल है. 2041 तक यमुना अथॉरिटी के सेक्टर्स में 39 लाख के करीब आबादी हो जाएगी और इसके लिए कम से कम 8 लाख घरों की जरूरत होगी. वहीं जनसंख्या के अनुसार लगभग 12 हजार हेक्टेयर जमीन व्यावसायिक इस्तेमाल लिए भी चाहिए होगी. तीन नए ट्रांसपोर्ट नगर (Transport Nagar) भी बसाए जा रहे हैं.

यमुना अथॉरिटी के अफसरों का कहना है कि नए मास्टर प्लान में लॉजिस्टिक सिटी, फन सिटी, स्पोर्ट्स सिटी का प्रस्ताव दिया गया है. Demo Pic

यमुना अथॉरिटी के अफसरों का कहना है कि नए मास्टर प्लान में लॉजिस्टिक सिटी, फन सिटी, स्पोर्ट्स सिटी का प्रस्ताव दिया गया है. Demo Pic

नोएडा. साल 2041 को ध्यान में रखते हुए यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) मास्टर प्लान (Master Plan) तैयार कर रही है. प्लान तैयार करने वाली कंपनी अथॉरिटी के सामने प्लान का डिजाइन पेश कर चुकी है. सूत्रों की मानें तो जल्द ही मास्टर प्लान पर मुहर लग जाएगी. प्लान के संबंध में अब सिर्फ दो आपत्तियां ही बची हैं. जल्द ही उन्हें भी दूर कर लिया जाएगा. प्लान के तहत अथॉरिटी नया शहर बसाने जा रही है. नए शहर में झुग्गी-झोपड़ी के लिए कोई जगह नहीं होगी. प्लान के मुताबिक इंडस्ट्रियल एरिया (Industrial Area) के पास में ही रेजिडेंशियल एरिया (Residential Area) भी बसाया जाएगा. पार्क और खेलकूद के मैदान विकसित किए जाएंगे. अथॉरिटी के अफसरों का मानना है कि देश में पहली बार इस तरह का प्लान तैयार किया गया है.

20 साल बाद 39 लाख हो जाएगी आबादी

यमुना अथॉरिटी के अफसरों का कहना है कि नए मास्टर प्लान में लॉजिस्टिक सिटी, फन सिटी, स्पोर्ट्स सिटी का प्रस्ताव दिया गया है. इतना ही नहीं फाइनेंशियल सिटी, इलेक्ट्रॉनिक सिटी आदि बसाने का प्रस्ताव भी शामिल है. 2041 तक यमुना अथॉरिटी के सेक्टर्स में 39 लाख के करीब आबादी हो जाएगी और इसके लिए कम से कम 8 लाख घरों की जरूरत होगी. वहीं जनसंख्या के अनुसार लगभग 12 हजार हेक्टेयर जमीन व्यावसायिक इस्तेमाल लिए भी चाहिए होगी.

आपके शहर से (नोएडा)

Noida Weather Updates: नोएडा में तेज हवाओं के साथ बारिश ने बदला मौसम का मिजाज, जानिए कैसा रहेगा मौसम

Noida News : बैचलर हैं और नोएडा में रूम चाहिए? एक क्लिक में सही जगह बताने वाली यह खबर आपके लिए ही है

7 दिन में 8 लोगों को आवारा कुत्तों ने काटा, एक्शन नहीं! इंजेक्शन लगा रही नोएडा अथॉरिटी

अनन्या दीक्षित की मौत की जांच CBI को सौंपी गई, 5 साल पहले हॉस्टल में पंखे से लटका मिला था MBBS छात्रा का शव, जानें पूरा मामला

ग्रेटर नोएडा में नाबालिग भाई-बहन के साथ डिजिटल रेप, आरोपी अरेस्ट, क्या होता है Digital Rape?

UP: नोएडा में हथियार के साथ हुक्का पीने का Video Viral, यूजर्स ने खड़े किए सवाल?

NOIDA: जानिए कैसे नोएडा की जीवनदायिनी है हिंडन, नदी को बचाने के लिए एनजीटी ने किया टास्क फोर्स का गठन

NCR Weather Update: अगले दो घंटे में तूफान के साथ बदलेगा NCR और यूपी का मौसम, तेज बारिश का अनुमान

Noida Flat Buyers: नोएडा में फ्लैट बुक करने वाले अब मांग रहे इच्छा-मृत्यु, जानिए आखिर ऐसा क्यों?

Noida Power Cut: बारिश के बाद नोएडा की कई सोसाइटी में बिजली गुल, आगे भी हो सकती है परेशानी

जल्द बनकर तैयार हो जाएगा नोएडा का सिग्नेचर ब्रिज, जानिए इसकी खासियत


नए शहर में होगा सर्विस कॉरिडोर

यमुना अथॉरिटी मास्टर प्लान के तहत नए शहर में सर्विस कॉरिडोर भी बनाया जाएगा. कॉरिडोर को नए डिजाइन के साथ बेहद खूबसूरत बनाया जाएगा. इस सर्विस कॉरिडोर में रेहड़ी पटरी, मोची, धोबी, नाई, सब्जी विक्रेता समेत अन्य सभी तरह के लोगों को कारोबार करने के लिए जगह दी जाएगी. प्लान के मुताबिक यह सर्विस कॉरिडोर वेंडिंग जोन का ही एक विकसित रूप होगा.

नीचे दुकानें ऊपर घर बनाए जा सकेंगे

मास्टर प्लान में जेवर एयरपोर्ट के पास एरोपोलिस सिटी विकसित करने की रिपोर्ट का जिक्र किया गया है. रिपोर्ट में ओलंपिक पार्क, ओलंपिक विलेज, गोल्फ कोर्स, सेंट्रल बिजनेस सेंटर, वेयर हाउस, लॉजिस्टिक हब जैसी बड़ी योजनाओं के बारे में भी बात की गई है. लेकिन इस सब के बीच अच्छी बात यह है कि यहां कारोबार करने वालों को दुकान के ऊपर मकान बनाने की छूट दी जाएगी. अथॉरिटी के अफसरों के मुताबिक यह तरीका यूरोपीय देशों में अपनाया जाता है.

नोएडा में बनेंगे 18 डॉग शेल्टर, डॉग बाइट के केस घटाने को अथॉरिटी ने बनाया यह प्लान

 तीन ट्रांसपोर्ट नगर भी बसाएगी अथॉरिटी

इंडस्ट्री सेक्टर को और रफ्तार देने के लिए यमुना अथॉरिटी ने नया प्लान तैयार किया है. जल्द ही अथॉरिटी अपने सेक्टर में तीन नए ट्रांसपोर्ट नगर बसाएगी. यमुना एक्सप्रेसवे के किनारे मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब और लॉजिस्टिक्स हब बनने के चलते तीनों ट्रांसपोर्ट नगर को बेहद खास माना जा रहा है. अथॉरिटी फिल्म सिटी, इंडस्ट्रियल सेक्टर-33 और सेक्टर-23 में ट्रासपोर्ट नगर बसाएगी. प्लान के तहत यहां लोड और अनलोड होने वाले ट्रकों को खड़ा करने की जगह दी जाएगी. साथ ही तीनों ट्रांसपोर्ट नगर के पास में ही मैकेनिक और पार्टस की दुकान भी होंगी.

नए मास्टर प्लान में हर काम के लिए छोड़ी गई है जमीन

यमुना अथॉरिटी के नए मास्टर प्लान में हर काम के लिए जमीन भी चिन्हित कर दी गई है. जैसे इंडस्ट्रियल लैंड के लिए करीब-20 फीसदी, मिश्रित भूमि उपयोग करीब 15 फीसदी, आवासीय 12 फीसदी, व्यावसायिक में 8 फीसदी, ग्रीन बेल्ट में 35 फीसदी, सड़क आदि में 10 फीसदी जमीन का उपयोग किया जाएगा. नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बाद यमुना में हरियाली को लगभग दोगुना कर दिया गया है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Film city in up, Transport department, Yamuna Authority

FIRST PUBLISHED : October 05, 2022, 11:08 IST
अधिक पढ़ें