लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबबजट 2023क्रिकेटफूडमनोरंजनवेब स्टोरीजफोटोकरियर/ जॉब्सलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसशॉर्ट वीडियोनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नर#MakeADent #RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrency
होम / न्यूज / उत्तर प्रदेश /

जेवर एयरपोर्ट के पास 3876 खरीदारों को मिलेगा फ्लैट का कब्जा-रजिस्ट्री, जानें प्लान

जेवर एयरपोर्ट के पास 3876 खरीदारों को मिलेगा फ्लैट का कब्जा-रजिस्ट्री, जानें प्लान

तमाम चक्कर लगाने के बाद भी बिल्डर रजिस्ट्री कराने को तैयार नहीं है. ऐसे फ्लैट खरीदारों के लिए  यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) एक स्कीम लेकर आई है. स्कीम के तहत अगर बिल्डर (Builder) ने अथॉरिटी कंपलीशन सर्टिफिकेट ले लिया है ओर किसान का लीज रेंट जमा नहीं किया है तो अथॉरिटी सीधे खरीदार को ही फ्लैट (Flat Buyers) की रजिस्ट्री कर देगा. लेकिन शर्त यह है कि किसान लीज रेंट फ्लैट खरीदार को जमा कराना होगा. इसके बाद खरीदार को फ्लैट की रजिस्ट्री कर दी जाएगी और इसके लिए बिल्डर की जरूरत भी नहीं होगी.

अथॉरिटी की इस योजना के तहत कुल 9 हजार फ्लैट की रजिस्ट्री होनी है. Demo Pic

अथॉरिटी की इस योजना के तहत कुल 9 हजार फ्लैट की रजिस्ट्री होनी है. Demo Pic

नोएडा. जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) के पास फ्लैट खरीदने वाले करीब चार हजार खरीदारों के लिए बड़ी खुशखबरी है. दिवाली (Diwali) के बाद उन्हें उनके फ्लैट का कब्जा और रजिस्ट्री मिल सकती है. अब उन्हें फ्लैट पर कब्जे और रजिस्ट्री के लिए भटकना नहीं पड़ेगा. यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) ने बिल्डर्स को 9 हजार अधूरे पड़े फ्लैट को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए हैं. दिसम्बर तक 3876 फ्लैट तैयार होने की उम्मीद. 29 बिल्डर को अथॉरिटी ने ग्रुप हाउसिंग योजना के तहत जमीन दी थी. 15 परियोजनाओं में 21 हजार फ्लैट तैयार हुए थे. 9 हजार फ्लैट अभी भी अधूरे पड़े हैं. अथॉरिटी ने दो महीने का अल्टीमेटम देकर दिसम्बर तक फ्लैट (Flat) तैयार करने के निर्देश दिए हैं. 9 बिल्डर करेंगे 3876 फ्लैट की रजिस्ट्री.

जानिए कौन बिल्डर कितने फ्लैट की करेगे रजिस्ट्री

यमुना अथॉरिटी से जुड़े सूत्रों की मानें तो अथॉरिटी की इस योजना के तहत कुल 9 हजार फ्लैट की रजिस्ट्री होनी है. इस योजना में एमराल्ड प्रमोर्ट्स 115 फ्लैट की रजिस्ट्री करेगा. वहीं सुपरटेक टाउनशिप प्रोजेक्ट में 1504, ओएसिस रियलटेक में 701, थ्रीसी होम्स में 502, ओरिस इंफ्रास्ट्रक्चर में 94, एटीएस रियलिटी में 704, आईआईटीएल निम्बस में 643, सुपरटेक में 2265 और जेपी एसोसिएट्स 2854 फ्लैट की रजिस्ट्री करेगा.

आपके शहर से (नोएडा)

Noida Metro Viral Video: मंजुलिका के बाद स्क्विड गेम्स का 001 थ्रिलर, नेशनल प्लेयर है वायरल ब्वाय

Noida News: नोएडा में आज से जब्त होंगी पुरानी गाड़ियां, कहीं आपकी गाड़ी का नंबर भी 'Z' या UP16 Z तो नहीं

Noida News: नशे में धुत युवक-युवती ने सड़क पर किया हाई वोल्टेज ड्रामा, देखिए Viral Video

Noida Metro Station: 51 का 52 करने पर अनबन, नाम बदलवाने कोर्ट जाएगा RWA? जानें क्या है यह विवाद

Noida: विकास के नाम पर खोद डाली पूरी सोसाइटी, शिकायत की तो शुरू हुआ कंपनी Vs अथॉरिटी

नोएडा: 20वीं मंजिल से गिरकर सॉफ्टवेयर इंजीनियर की मौत, हत्या या आत्महत्या की गुत्थी सुलझाने जुटी पुलिस

Greater Noida News: ग्रेटर नोएडा की इस सोसाइटी में इंटरनेट बना आफत! खतरे में नौकरी

Noida Flat Scheme: नोएडा में घर खरीदने का है सुनहरा मौका, अथॉरिटी की स्‍कीम में ऐसे करें आवेदन

Good News: नोएडा में LIG के लिए घर के आवेदन का मौका, अप्लाई करने की यह है अंतिम तारीख

PHOTOS: नोएडा अथॉरिटी की 'कबाड़ से जुगाड़' योजना, सेल्फी पॉइंट भी, जानिए क्या है खासियत

गजब का जज्‍बा: बिना डिग्री के पशुओं के डॉक्‍टर बने सोनू, पांच साल से कर रहे घायल गोवंश का इलाज


वसूला जाएगा किसान लीज रेंट का 64.7 फीसद अतिरक्त मुआवजा

जानकारों की मानें तो ग्रेटर नोएडा में जमीन देने वाले किसानों ने अतिरिक्त मुआवजे की मांग की है. यह मामला कोर्ट में भी जा चुका है. इसी के चलते ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी रेसीडेंशियल, इंस्टीट्यूशनल और कमर्शियल एरिया में पहले ही अतिरिक्त मुआवजे के लिए आदेश जारी कर चुका है. काफी लोगों से अतिरिक्त मुआवजे की वसूली भी हो चुकी है. अब अथॉरिटी ने इंडस्ट्रियल एरिया और ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी के तहत जमीन लेने वाले बिल्डर्स को नोटिस भेजना शुरू कर दिया है. नोटिस में अतिरिक्त मुआवजा अथॉरिटी में जमा कराने के आदेश दिए गए हैं. यही मुआवजा अतिरिक्त मुआवजे की मांग करने वाले किसानों में वितरित किया जाएगा.

ग्रेटर नोएडा के ट्रैफिक सिस्टम की ITMS से बदल जाएगी तस्वीर, जानें प्लान

अथॉरिटी एक्शन ले तो नहीं भटकना पड़े रजिस्ट्री के लिए-नेफोमा

नोएडा एस्टेट फ्लैट ओनर्स मेन एसोसिएशन (नेफोमा) अध्यक्ष अन्नू खान का कहना है, “जब कोई भी बिल्डर अपना प्रोजेक्ट तैयार करता है तो काम पूरा होने के बाद और अथॉरिटी का सभी तरह का बकाया चुकाने के बाद उसे अथॉरिटी की ओर से कम्पलीशन सर्टिफिकेट मिलता है. इस सर्टिफिकेट के बाद ही बिल्डर फ्लैट बुक कराने वाले बॉयर्स को फ्लैट पर कब्जा दे सकता है. लेकिन बहुत सारे बिल्डर ने बिना कम्पलीशन सर्टिफिकेट के ही बॉयर्स को कब्जा दे दिया है. लेकिन ऐसे मामलों पर अथॉरिटी भी खामोश है. कोरोना-लॉकडाउन के दौरान बुरी से बुरी मुसीबत में भी ऐसे लोग रजिस्ट्री न होने पर अपने फ्लैट को नहीं बेच सके और उनके अपने बिना इलाज के इस दुनिया को छोड़कर चले गए.”

पहले 20 हजार में होती थी रजिस्ट्री, अब एक फीसद लगेगा

जानकारों का कहना है कि नए आए सरकारी फरमान से पहले नोएडा और ग्रेटर नोएडा में 20 हजार रुपये में फ्लैट की रजिस्ट्री हो जाती थी. लेकिन यूपी सरकार की ओर से हाल ही में जारी हुए आदेश के मुताबिक अब फ्लैट की कुल कीमत का एक फीसद रजिस्ट्री कराते वक्त देना होगा. अब नोएडा और ग्रेटर नोएडा में आमतौर पर टू और थ्री बीएचके फ्लैट की कीमत 40 से 60 लाख है. ऐसे फ्लैट खरीदारों की जेब पर 30 से 40 हजार रुपये बोझ पड़ेगा. वहीं जिनके फ्लैट की कीमत एक करोड़ के आसपास है तो उन्हें एक लाख रुपये तक खर्च करना पड़ेगा.

दूसरी परेशानी यह है कि अगर कुछ दिनों के अंदर ही अंदर यह रजिस्ट्री नहीं कराई तो जमीन के सर्किल रेट बढ़ना भी तय है. क्योंकि तीनों ही अथॉरिटी अपनी जमीनों के आवंटन की कीमत बढ़ा चुकी हैं. अब इतनी जल्दी खरीदार रजिस्ट्री कैसे कराएं. कोरोना-लॉकडाउन के चलते काम-धंधे भी मंदे और चौपट पड़े हुए हैं.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Diwali festival, Jewar airport, Own flat, Yamuna Authority

FIRST PUBLISHED : October 13, 2022, 11:53 IST
अधिक पढ़ें