लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबबजट 2023क्रिकेटफूडमनोरंजनवेब स्टोरीजफोटोकरियर/ जॉब्सलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसशॉर्ट वीडियोनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नर#MakeADent #RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrency
होम / न्यूज / उत्तर प्रदेश /

UP: विदेशी पक्षियों की खूबसूरती से गुलजार हुए वाराणसी के गंगा घाट, देखें वीडियो

UP: विदेशी पक्षियों की खूबसूरती से गुलजार हुए वाराणसी के गंगा घाट, देखें वीडियो

Varanasi News: वाराणसी में चार से पांच महीनों तक रहने के दौरान मेहमान परिंदे गंगा की लहरों और घाटों पर पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रहते हैं. गंगा में अटखेलियां करते इन खूबसूरत पक्षियों को पर्यटक दाना भी डालते हैं.

रिपोर्ट- अभिषेक जायसवालवाराणसी. उत्तर प्रदेश का वाराणसी (Varanasi) पूरी दुनियां में धार्मिक पर्यटन का केंद्र है.हर दिन यहां हजारों कि संख्या में पर्यटक आते हैं और मंदिरों में दर्शन पूजन करते हैं. साथ ही धार्मिक नगरी की गुलाबी ठंड में विदेशी परिंदों का हनीमून डेस्टिनेशन बन जाता है. रूस से लगे महासागर के पूर्वी और पच्छिमी क्षेत्र से हजारों साइबेरियन पक्षी हजारों किलोमीटर का सफर कर यहां पहुंचते हैं. नवंबर से फरवरी के महीने तक ये विदेशी पक्षी यहां गंगा की लहरों में अटखेलियां करते हैं और गंगा की रेत पर अपने अंडे देते हैं. चार महीने यहां रहने के बाद जब ये विदेशी परिंदे वापस लौटते हैं तो अपने बच्चों को भी ये साथ ले जाते हैं. बीएचयू (BHU) में पक्षियों पर रिर्सच करने वाली प्रोफेसर चांदना हलदार ने बताया कि पर्याप्त भोजन और रहने के लिए वातानुकूलित जगह की तलाश में ये विदेशी मेहमान यहां आते हैं.चार महीने तक रहते हैं वाराणसीवाराणसी में चार से पांच महीनों तक रहने के दौरान मेहमान परिंदे गंगा की लहरों और घाटों पर पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रहते हैं. गंगा में अटखेलियां करते इन खूबसूरत पक्षियों को पर्यटक दाना भी डालते हैं. यहां रहकर ये पक्षी प्रजनन कर गंगा पार रेत पर अपने अंडे को सुरक्षित रखते हैं. फरवरी के अंत या मार्च के महीने में जब वापस अपने वतन लौटते हैं तो वो अपने बच्चों को भी साथ ले जाते हैं. हालांकि इस दौरान कई पक्षी रास्ते में दम तोड़ देते हैं क्योंकि इन बच्चों के पंख ज्यादा मजबूत नहीं हो पाते.

रास्ता होता है फिक्सबता दें कि सात समुंदर पार से जब ये विदेशी परिंदे यहां आते हैं तो वो उसी रास्ते को चुनते हैं जिससे वो पहले यहां आए हो. यही नहीं उनके ठहरने का स्थान भी पहले ही फिक्स होता है जहां वो हर साल रुकते हैं.


आपके शहर से (वाराणसी)

Job Alert! बनना चाहते हैं टूरिस्ट गाइड तो फटाफट करें आवेदन, हर महीने होगी 30 हजार की कमाई

Vande Bharat Express: बनारस से सिर्फ 6 घंटे में पहुंचेंगे हावड़ा, 150KM की रफ्तार से दौड़ेगी वंदे भारत ट्रेन

Arvind Akela Kallu: हनीमून की जगह धार्मिक यात्रा पर भोजपुरी स्टार कल्लू, इस मंदिर से खास कनेक्शन

Varanasi: गंगा आरती के दौरान विदेशी कलाकारों का कमाल! कैनवास पर उकेरी गंगा आरती की लाइव पेंटिंग

Arvind Akela Kallu: भोजपुरी स्टार कल्लू ने बताया हनीमून प्लान, जानिए नई-नवेली दुल्हन के साथ कहां-कहां घूमेंगे

Gold Price in Varanasi Today: वेलेंटाइन-डे से पहले सोने-चांदी के कीमतों में भारी गिरावट, जानिए बनारस में आज का रेट

लखनऊ के लोग बनारस में काशी विश्वनाथ के दर्शन कर सेम डे लौट सकेंगे घर, शुरू हो रही नई ट्रेन

Ravidas Jayanti 2023: बाबा विश्वनाथ की तरह करोड़ों के मालिक हैं संत रविदास, जानिए अकूत संपत्ति का इतिहास

कभी बैक बेंचर कहकर चिढ़ाते थे फ्रेंड, अब प्रोफेसर बन जीती मिसेज इंडिया कोहिनूर का खिताब, पढ़ें सफलता की कहानी

Magh Purnima 2023: माघ पूर्णिमा पर नहीं आ सके काशी तो News18 पर घर बैठे देखिए 'विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती'

Magh Purnima 2023: माघ पूर्णिमा पर गंगा स्नान क्यों है जरूरी, इस मंत्र का जरूर करें जाप


ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Bird Expert, Kashi City, River Ganga, UP news, Varanasi news

FIRST PUBLISHED : November 25, 2022, 16:48 IST
अधिक पढ़ें