Home / News / uttar-pradesh /

वाराणसी: पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की बढ़ी मुश्किलें, एक और मुकदमा दर्ज

वाराणसी: पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की बढ़ी मुश्किलें, एक और मुकदमा दर्ज

गायत्री प्रजापति (File Photo : PTI)

गायत्री प्रजापति (File Photo : PTI)

फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है. बताया जा रहा है कि मामला 2014 में जारी हुए खनन के ठेके से जुड़ा हुआ है.

रेप के आरोप में लखनऊ जेल में बंद पूर्व मंत्री गायत्री प्रजपति की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रहीं. वाराणसी के दशाश्वमेध थाने में गायत्री के खिलाफ धारा 384 के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है. उन पर एक स्थानीय ठेकेदार ने कमिशन के लिए धमकी देने का आरोप लगाया गया है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है. बताया जा रहा है कि मामला 2014 में जारी हुए खनन के ठेके से जुड़ा हुआ है. ठेकेदार अरविंद तिवारी के मुताबिक उन्हें लखनऊ जेल से गायत्री प्रजापति ने कॉल करके धमकाया और लखनऊ जेल आकर मिलने को कहा है.

दशाश्वमेध थानाक्षेत्र के जंगमबाड़ी इलाके के रहने वाले ठेकेदार अरविंद तिवारी ने पुलिस को दी गई अपनी तहरीर में कहा है कि उन्हें बालू ठेके के टेंडर का कमीशन पहुंचाने के लिए धमकी दी गई. उनके मुताबिक़ उन्हें बीती नौ जून को एक कॉल आई थी. कॉल करने वाले ने अपने आपको पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति बताया. कॉल करने वाले शख्स ने अरविंद को साल 2014 में एलॉट हुए खनन के ठेके का कमिशन अभी तक न देने के लिए धमकाया.

आपके शहर से (वाराणसी)

BHU Admission 2022: बीएचयू के यूजी कोर्स में एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, जानिए पूरा प्रोसेस

Sowa Rigpa: वाराणसी में तिब्बती चिकित्सा पद्धति से कैंसर समेत कई जानलेवा बीमारियों का होगा इलाज

CM योगी के प्रयासों से मालामाल हुआ वाराणसी नगर निगम, हुआ करोड़ों का फायदा 

Varanasi: शारदीय नवरात्र में अखंड दीप से दूर होगी सभी परेशानी, काशी के ज्योतिषी से जानिए महत्व

Shardiya Navratra: हाथी पर सवार होकर आएंगी मां दुर्गा, इस बार बन रहा ये बेहद शुभ संयोग

Varanasi: PFI के दो सदस्यों को भेजा गया जेल, लेफ्ट ने लगाया विरोधियों को प्रताड़ित करने का आरोप

1008 बार सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ, काशी को की मांस मदिरा मुक्त क्षेत्र घोषित करने की मांग

Shardiya Navratra: काशी में बंगाल के तर्ज पर शुरू हुई दुर्गा पूजा की तैयारी, जानें क्या होगा खास

नवरात्रि में इस नृत्य से आप कर सकते हैं देवी मां को खुश! काशी के ज्योतिषाचार्य ने कही ये बात

Shardiya Navratri 2022: भगवान शिव से नाराज होकर काशी में विराजी थीं मां शैलपुत्री, जानें शक्तिपीठ की पूरी कहानी

काशी विश्वनाथ धाम में मोबाइल पर बैन हटा, लेकिन मंदिर में यहां क्लिक नहीं कर सकेंगे फोटो, पढ़ें- डिटेल

इसके लिए अरविंद को तुरंत लखनऊ जेल पहुंचकर गायत्री प्रसाद प्रजापति से मिलने के लिए धमकाया गया. जब ठेकेदार ने कहा कि टेंडर एलॉट होने के बाद भी नई खनन नीति के चलते निरस्त हो गया था, इस पर धमकी देने वाले ने कहा कि जल्द इसका नतीजा भी सामने आ जाएगा.

बता दें कि साल 2017 में 18 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद गायत्री प्रसाद प्रजापति और उनके छह अन्य साथियों पर राजधानी लखनऊ के गौतमपल्ली थाने में गैंगरेप, जानमाल की धमकी और पाक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज हुआ था. इस मामले में एक महिला ने गायत्री प्रजापति और उनके साथियों पर गैंगेरप का आरोप लगाया था.

(इनपुट: नीतीश पांडेय)

यह भी पढ़ें:

मगहर के बाद अब 'मुलायम के गढ़' में पीएम मोदी, आजमगढ़ में 14 जुलाई को भरेंगे हुंकार

सीएम बनने के बाद योगी ने पहली बार बुलाई सभी जिलों के DM की बैठक

सहारनपुर: गैंगरेप पीड़िता के पिता को सपा विधायक ने दी धमकी, ऑडियो वायरल

Tags:वाराणसी

अधिक पढ़ें