Home / News / uttar-pradesh /

cbi files chargesheet in court in child pornography case accused used to sexually abuse children ssp

चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में सीबीआई ने कोर्ट में दाखिल की 2 हजार पन्ने की चार्जशीट, लगे हैं गंभीर आरोप

चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में सीबीआई ने चंदौली कोर्ट में दाखिल की चार्जशीट.

चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में सीबीआई ने चंदौली कोर्ट में दाखिल की चार्जशीट.

Chandauli News: सीबीआई ने अपने आरोप पत्र में बताया कि, चंदौली के रहने वाले अजय कुमार गुप्ता और अविनाश कुमार सिंह, बच्चों का यौन शोषण कर उसकी फिल्म व फोटो खींचकर उसे ऊंचे दामों पर बेचा करते थे. इसमें एक आरोपी निजी इंस्टीट्यूट का मालिक भी है. सीबीआई की जांच में सामने आया कि जिले के रहने वाले दोनों आरोपी बच्चों को डरा,धमका कर और लालच देकर ऐसा कृत्य कराया करते थे.

हाइलाइट्स

सीबीआई ने 2000 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की
4 आरोपियों के लगे हैं बच्चों के यौन शोषण के गंभीर आरोप

चंदौली: चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में सीबीआई की टीम ने मंगलवार को चंदौली कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी. इस मामले में विशेष न्यायाधीश पॉक्सो चंदौली की कोर्ट में 4 लोगों के खिलाफ 2 हजार पन्ने की चार्जशीट दाखिल की है. इसमें दो आरोपी चंदौली जिले के रहने वाले हैं. जबकि अन्य दो में से एक आरोपी बांदा जिला और दूसरा पटना जिले के फतुहा का रहने वाला है. बांदा और फतुहा के रहने वाले दोनों व्यक्ति सरकारी कर्मचारी हैं.

न्यायालय में दाखिल आरोप पत्र के अनुसार सीबीआई ने बताया कि टीम को चाइल्ड पोर्नोग्राफी के मामले में दो सितंबर 2021 को एक शिकायत मिली थी. इस मामले में जांच के बाद सीबीआई ने उत्तर प्रदेश के सिंचाई विभाग में जूनियर इंजीनियर पद पर कार्यरत रामभुवन और राउलकेला में लोको पायलट अजीत कुमार के खिलाफ केस दर्ज किया था. रामभुवन उत्तर प्रदेश के बांदा जिले का जबकि अजीत कुमार बिहार के पटना का रहने वाला है. जांच के दौरान ओड़िसा के राउरकेला में लोको पायलट के पद पर कार्यरत पटना के फतुहा निवासी अजीत कुमार के यहां पुलिस ने छापेमारी की.


छापेमारी के दौरान उसके यहां से मोबाइल और लैपटॉप समेत अन्य सामानों की जांच की गई. जांच के दौरान सीबीआई टीम के हाथ चाइल्डपोर्नोग्राफी से संबंधित कई फोटो और वीडियो मिले, जो बांदा के रहने वाले जूनियर इंजीनियर के मोबाइल पर भेजे गये थे.

आपके शहर से (वाराणसी)

BHU Admission 2022: बीएचयू के यूजी कोर्स में एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, जानिए पूरा प्रोसेस

काशी विश्वनाथ धाम में मोबाइल पर बैन हटा, लेकिन मंदिर में यहां क्लिक नहीं कर सकेंगे फोटो, पढ़ें- डिटेल

Shardiya Navratra: काशी में बंगाल के तर्ज पर शुरू हुई दुर्गा पूजा की तैयारी, जानें क्या होगा खास

CM योगी के प्रयासों से मालामाल हुआ वाराणसी नगर निगम, हुआ करोड़ों का फायदा 

Varanasi: शारदीय नवरात्र में अखंड दीप से दूर होगी सभी परेशानी, काशी के ज्योतिषी से जानिए महत्व

Varanasi: PFI के दो सदस्यों को भेजा गया जेल, लेफ्ट ने लगाया विरोधियों को प्रताड़ित करने का आरोप

Shardiya Navratri 2022: भगवान शिव से नाराज होकर काशी में विराजी थीं मां शैलपुत्री, जानें शक्तिपीठ की पूरी कहानी

नवरात्रि में इस नृत्य से आप कर सकते हैं देवी मां को खुश! काशी के ज्योतिषाचार्य ने कही ये बात

Sowa Rigpa: वाराणसी में तिब्बती चिकित्सा पद्धति से कैंसर समेत कई जानलेवा बीमारियों का होगा इलाज

Shardiya Navratra: हाथी पर सवार होकर आएंगी मां दुर्गा, इस बार बन रहा ये बेहद शुभ संयोग

1008 बार सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ, काशी को की मांस मदिरा मुक्त क्षेत्र घोषित करने की मांग


ऐप के माध्यम से जुड़े
जांच में यह भी तथ्य सामने आया कि दोनों लोग एक ऐप के माध्यम जुड़े थे. इस मामले की जांच के वक्त टीम को ज्ञात हुआ कि जनवरी 2015 और फरवरी 2016 में दोनों ने चाइल्ड पोर्नोग्राफी से संबंधित वीडियो और फोटो को साझा किया था. इस मामले की जांच के क्रम में सीबीआई के सामने दो अन्य लोगों के नाम भी सामने आये जो कि चंदौली के रहने वाले थे.

बच्चों का करते थे यौन शोषण
सीबीआई ने अपने आरोप पत्र में बताया कि, चंदौली के रहने वाले अजय कुमार गुप्ता और अविनाश कुमार सिंह, बच्चों का यौन शोषण कर उसकी फिल्म व फोटो खींचकर उसे ऊंचे दामों पर बेचा करते थे. इसमें एक आरोपी निजी इंस्टीट्यूट का मालिक भी है. सीबीआई की जांच में सामने आया कि जिले के रहने वाले दोनों आरोपी बच्चों को डरा,धमका कर और लालच देकर ऐसा कृत्य कराया करते थे. साथ ही जान से मारने की धमकी भी देते थे. जिससे बच्चे डरकर किसी से कुछ नहीं कहते. न्यायालय के विशेष अधिवक्ता शमशेर बहादुर सिंह ने बताया कि सीबीआई की ओर से चार आरोपियों के खिलाफ दो हजार पन्नों की चार्जशीट दाखिल की गई है.

Tags:Chandauli News, Chief Minister Yogi Adityanath, CM Yogi Adityanath, Uttarpradesh news

अधिक पढ़ें