लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबबजट 2023क्रिकेटफूडमनोरंजनवेब स्टोरीजफोटोकरियर/ जॉब्सलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसशॉर्ट वीडियोनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नर#MakeADent #RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrency
होम / न्यूज / उत्तर प्रदेश /

Kashi Tamil Sangmam: महज 15 मिनट में करें दक्षिण और काशी के प्रमुख मंदिरों के दर्शन, देखें VIDEO

Kashi Tamil Sangmam: महज 15 मिनट में करें दक्षिण और काशी के प्रमुख मंदिरों के दर्शन, देखें VIDEO

अगर आप काशी और तमिलनाडु के बीच धार्मिक और आध्यात्मिक सामंजस्य को समझना चाहते हैं, तो बीएचयू पहुंच जाइए. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में चल रहे एक शो में यह भी बताया जा रहा है कि दोनों क्षेत्रों का संबंध सदियों पुराना है. देखिए खास वीडियो और रिपोर्ट.

रिपोर्ट – अभिषेक जायसवाल

वाराणसी: दक्षिण से उत्तर तक के प्रमुख मंदिरों का दीदार आप महज 15 मिनट में कर पाएंगे. इसके लिए बीएचयू (BHU) के एमपी थिएटर मैदान में खास एग्जीबिशन लगाई गई है. इस प्रदर्शनी में आप दक्षिण भारत के तमिलनाडु और यूपी के वाराणसी (Varanasi) के प्रमुख मंदिरों की खूबसूरती, कलाकृति और देव विग्रह को देख सकेंगे. इस एग्जीबिशन में दोनों राज्यों के 90 प्राचीन मंदिरों और उनके देवी देवताओं के विग्रह को खास तस्वीरों के जरिए दर्शाया गया है. इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र वाराणसी द्वारा यह एग्जीबिशन लगाई गई है, जो 16 दिसम्बर तक चलेगी.

बीएचयू में लगी ये प्रदर्शनी लोगों के आकर्षण का केंद्र बन रही है. यहां मंदिरों की खूबसूरती को निहारने के लिए दूर-दूर से लोग आ रहे हैं. खास बात ये भी है कि इससें एंट्री के लिए किसी तरह का कोई शुल्क भी नहीं देना है. क्षेत्रीय पुरातत्व अधिकारी सुभाष चन्द्र यादव ने बताया कि इस प्रदर्शनी में तमिलनाडु के 61 और काशी के 29 प्रमुख प्राचीन ऐतिहासिक मंदिरों को दर्शाया गया है. इसके साथ ही मंदिर की खूबियां और उसके इतिहास के बारे में भी जानकारी दी गई है.

आपके शहर से (वाराणसी)

Gold Price in Varanasi Today: वेलेंटाइन-डे से पहले सोने-चांदी के कीमतों में भारी गिरावट, जानिए बनारस में आज का रेट

Magh Purnima 2023: माघ पूर्णिमा पर नहीं आ सके काशी तो News18 पर घर बैठे देखिए 'विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती'

Arvind Akela Kallu: हनीमून की जगह धार्मिक यात्रा पर भोजपुरी स्टार कल्लू, इस मंदिर से खास कनेक्शन

Ravidas Jayanti 2023: बाबा विश्वनाथ की तरह करोड़ों के मालिक हैं संत रविदास, जानिए अकूत संपत्ति का इतिहास

Maha Shivratri 2023: इस दिन भगवान भोले को जरूर चढ़ाएं ये 5 सामग्री, चमक उठेगी किस्मत

Magh Purnima 2023: माघ पूर्णिमा पर गंगा स्नान क्यों है जरूरी, इस मंत्र का जरूर करें जाप

Vande Bharat Express: बनारस से सिर्फ 6 घंटे में पहुंचेंगे हावड़ा, 150KM की रफ्तार से दौड़ेगी वंदे भारत ट्रेन

कभी बैक बेंचर कहकर चिढ़ाते थे फ्रेंड, अब प्रोफेसर बन जीती मिसेज इंडिया कोहिनूर का खिताब, पढ़ें सफलता की कहानी

Job Alert! बनना चाहते हैं टूरिस्ट गाइड तो फटाफट करें आवेदन, हर महीने होगी 30 हजार की कमाई

लखनऊ के लोग बनारस में काशी विश्वनाथ के दर्शन कर सेम डे लौट सकेंगे घर, शुरू हो रही नई ट्रेन

Varanasi: गंगा आरती के दौरान विदेशी कलाकारों का कमाल! कैनवास पर उकेरी गंगा आरती की लाइव पेंटिंग


दोनों राज्यों में देवता एक

यादव ने बताया कि संयोग से दोनों ही राज्यों में देवता एक ही हैं. हालांकि उनके मंदिर और स्थान में भिन्नता दिखाई देती है. दक्षिण भारत के मंदिर द्रविड़ शैली के हैं जबकि काशी के मंदिर नागर शैली में बने हैं. इन दोनों ही शैलियों के मंदिरों में देवता एक ही विराजमान हैं. यह संयोग यह दर्शाता है कि काशी और तमिलनाडु का सम्बंध सदियों पुराना है. ऐसे में इस पुराने सम्बंध को देखने और वहां की संस्कृति को निहारने के लिए लोग यहां पहुंच रहे हैं.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Kashi Temple, Varanasi news

FIRST PUBLISHED : November 25, 2022, 08:09 IST
अधिक पढ़ें