Home / News / uttarakhand /

madhu gram in nainital jeoli honey village localuk

Nainital: शहद की वजह से ज्‍योली गांव बना 'मधु ग्राम', अमेरिका से लेकर ब्रिटेन तक है मांग

नैनीताल जिले के ज्योली गांव के शहद की दुनियाभर में डिमांड है. जबकि गांव के रहने वाले लोग प्रति वर्ष करीब 300 कुंतल शहद का उत्पादन करने के साथ इसे 500 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बिक्री कर आर्थिक रूप से समृद्ध हो रहे हैं.

(रिपोर्ट- पवन सिंह कुंवर)

नैनीताल. उत्तराखंड के नैनीताल जिले का ज्योली गांव शहद के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है. हल्द्वानी शहर से करीब 20 किलोमीटर दूर (नैनीताल मार्ग पर) यह गांव स्थित है. इस गांव के शहद की डिमांड देश-विदेश तक है, क्‍योंकि यहां का शहद 100 फीसदी ऑर्गेनिक होता है. यही नहीं, गांव के ज्यादातर लोग मधुमक्खी पालन से जुड़े हैं, जिस वजह से इस गांव का नाम अब मधु ग्राम (Madhu Gram) पड़ गया है.

बहरहाल, आज 100 परिवार वाले मधु ग्राम में करीब 90 परिवार मौनपालन कर स्वरोजगार को बढ़ावा दे रहे हैं. यहां के ग्रामीण प्रति वर्ष करीब 300 कुंतल शहद का उत्पादन कर औसत 500 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बिक्री कर आर्थिक रूप से समृद्ध हो रहे हैं. वहीं, अब डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से यहां के शहद की मांग अमेरिका, ब्रिटेन और कतर तक से आने लगी है.

आपके शहर से (नैनीताल)

नैनीताल के DM की अनोखी पहल: रामगढ़ बना हॉर्टी टूरिज्म सेंटर, 8 एकड़ जमीन पर लहलहा रही सेब की फसल

Nainital: अब ग्रामीणों को आत्मनिर्भर बना रही यूरोपियन ट्राउट फिश, भवाली में अंग्रेज लाए थे यह मछली

नैनीताल में हुए ब्लाइंड मर्डर का खुलासा, पत्नी के कहने पर भाई ने पत्थरों से कूचकर की थी पति की हत्या

Nainital: पर्यटकों की पसंद बना खुर्पाताल का दूधिया झरना, उत्तराखंड के खूबसूरत झरनों में है शुमार

Nainital: देश-विदेश में पहचान बनाने वाला 'चोपड़ा गांव' की सड़क बनी जी का जंजाल, जानें वजह

Nainital: नैनीताल का अनोखा गार्डन, यहां देखने को मिलेंगे अमेरिका से लेकर अफ्रीका तक के कैक्टस 

Nainital: नौकुचियाताल के इस प्राचीन मंदिर का आज तक नहीं हो सका भव्य निर्माण, किसी की हिम्मत ही नहीं हुई!

Linguda Vegetable: स्वाद और सेहत से भरपूर है यह पहाड़ी सब्‍जी, फायदे जानकर रह जाएंगे हैरान

Indian Railways: रेलवे ने 31 अगस्‍त तक कैंस‍िल की काठगोदाम की ये ट्रेनें, सफर करने से पहले चेक कर लें ये ल‍िस्‍ट

Nainital: पाती से चीन के किसान मालामाल तो उत्तराखंड के 'बेहाल', कई बीमारियां दूर करने में कारगर

नैनीताल जिले में इस जगह है छोटा कैलाश, यहां बैठकर भगवान शंकर ने देखा था राम और रावण का युद्ध!


युवाओं ने मधुमक्खी पालन को बनाया अपना रोजगार
बता दें कि मधु ग्राम में शहद को फ्लेवर युक्त भी बनाया जाता है. शहद 15 दिन में बनकर तैयार हो जाता है. सालाना एक डिब्बे से 30 किलो शहद मिल जाता है. यहां के शहद में एक प्रतिशत भी मिलावट नहीं होती है. जबकि गांव के ज्यादातर युवाओं ने मधुमक्खी पालन को अपना रोजगार बनाया है. अगर आप इस गांव से शहद मंगवाना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं.भुवन पांडे- 9536246801मनोज पांडे- 8218265415दिनेश पांडे- 9870655546


Tags:Nainital news