272
NDA:353
180 और सीट चाहिए
UPA:92

चांद पर मानवरहित अंतरिक्षयान भेजेगा इजरायल, बनेगा ऐसा करने वाला चौथा देश

अंतरिक्षयान को शुक्रवार देर शाम अंतर्राष्ट्रीय समयानुसार रात करीब पौने दो बजे फ्लोरिडा के केप कैनवेरल से प्रेक्षपित किया जाएगा.

News18Hindi |

क्षेत्रफल में छोटा होने के बावजूद तकनीक से दुनियाभर में लोहा मनवाने वाला इजरायल अंतरिक्ष में लंबी छलांग लगाने जा रहा है. इजरायल अपना पहला चंद्र अभियान शुरू करने जा रहा है. इसी सप्ताह इजरायल के पहले चंद्र अभियान की शुरुआत हो जाएगी. इजरायल चांद पर एक मानवरहित अंतरिक्षायन भेजने वाला है जो अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के साथ डेटा शेयर करेगा.


मिशन से जुड़े आयोजकों ने बताया कि चांद पर भेजा जाने वाला अंतरिक्षयान 585 किलोग्राम का होगा. अंतरिक्षयान को शुक्रवार देर शाम अंतर्राष्ट्रीय समयानुसार रात करीब पौने दो बजे फ्लोरिडा के केप कैनवेरल से प्रेक्षपित किया जाएगा.


इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (IAI)) और प्रौद्योगिकी एनजीओ ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "हम इतिहास में कदम रख रहे हैं और हमें एक ऐसे समूह से जुड़ने पर गर्व महसूस हो रहा है, जिसने सपना देखा और दुनिया में कई देशों द्वारा साझा किए गए दृष्टिकोण को पूरा किया."


बता दें कि अभी तक केवल अमेरिका, चीन और रूस ही ऐसे देश हैं जो चांद पर अपना अंतरिक्षयान भेजने में सफल हो पाए हैं. भारत अभी भी इस दिशा में प्रयासरत है. भारत इस साल चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण करेगा जो कि चांद की सतह पर लैंड करेगा. भारत को 2018 में ही इस चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण करना था लेकिन तकनीकी वजहों से इसे टाल दिया गया. जिस कारण भारत फिलहाल इजरायल से पिछड़ता नजर आ रहा है.


ये भी पढ़ें: चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण में देरी, चांद की सतह पर पहुंचने की दौड़ में इजरायल से पिछड़ सकता है भारत


एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

भाषा चुनें :

हिंदी