दक्षिण कोरिया में अनिवार्य सैन्य सेवा से बचने के लिए छात्रों ने निकाली नायाब तरकीब

दक्षिण कोरिया में अनिवार्य सैन्य सेवा से बचने के लिए छात्रों ने एक नायाब तरकीब अपनाया. दरअसल, छात्रों ने जानबूझकर अपना वजन बढ़ा लिया ताकि उन्हें सेना में शामिल नहीं किया जाए.

news18 hindi , News18Hindi
दक्षिण कोरिया में अनिवार्य सैन्य सेवा से बचने के लिये छात्रों ने एक नायाब तरकीब अपनाया. दरअसल, छात्रों ने जानबूझकर अपना वजन बढ़ा लिया, ताकि उन्हें सेना में शामिल नहीं किया जाए. मिलिट्री मैनपावर एडमिनिस्ट्रेशन (एमपीए) ने मंगलवार को बताया कि साउथ कोरियिन कॉलेज के 12 छात्रों ने शारीरिक जांच वाले दिन प्रोटीन पाउडर लिया और अच्छी खासी मात्रा में जूस का सेवन कर लिया.ये सभी छात्र शास्त्रीय संगीत की पढ़ाई कर रहे हैं. एमपीए ने कहा, ‘ऑनलाइन चैटरूम पर सहपाठियों ने वजन बढ़ाने के उपाय बताए.’ छात्रों ने बड़ी मात्रा में एलोवेरा का जूस पी लिया. माना जाता है कि जूस अन्य खाद्य पदार्थों की तुलना में अधिक समय तक टिकता है.दक्षिण कोरिया में शारीरिक रूप से सक्षम सभी व्यक्तियों के लिये 28 साल की उम्र तक कम से कम 21 महीने के लिए सेना में रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी है.जिन लोगों का वजन अधिक होता है या जिनका वजन कम होता है या जो किसी खास बीमारी से पीड़ित हों या विकलांग हों उन्हें इससे छूट हासिल है. आम तौर पर उन्हें अदालतों या लाइब्रेरी जैसी जगहों पर तैनात किया जाता है.12 होशियार छात्रों का अनिवार्य सैन्य सेवा के लिए वजन अधिक पाया गया और उन्हें सरकारी सेवाओं में काम करने का आदेश दिया गया. उनमें से दो ने अपनी सार्वजनिक सेवा पूरी कर ली है, जबकि चार अन्य फिलहाल काम कर रहे हैं और छह सरकारी कार्यालयों में काम सौंपे जाने का इंतजार कर रहे हैं.सेना ने कहा कि उसने इस चालबाजी का पता लगाने के लिए ‘डिजिटल फॉरेंसिक प्रौद्योगिकी’ का इस्तेमाल किया. उसने संकेत दिया कि छात्रों द्वारा इस्तेमाल किए गए चैटरूम से संदेशों को देख लिया गया.अधिकारियों ने मामले को प्रॉसिक्यूटर को भेज दिया है. प्रॉसिक्यूटर फैसला करेंगे कि समूह को आरोपित किया जाए या नहीं. सेना ने चेतावनी दी कि अगर छात्र दोषी पाए गए तो उनका फिर से शारीरिक परीक्षण कराया जाएगा और उन्हें सेना में सेवा देनी होगी. (एजेंसी इनपुट)ये भी पढ़ें-
डोनाल्ड ट्रंप को मिला किम जोंग-उन का पत्र, फिर मिलने की जताई इच्छा
नॉर्थ कोरिया ने 70वीं सालगिरह पर निकाली सैन्य परेड, नहीं दिखाया सबसे ताकतवर हथियार

Trending Now