23 साल में एक-चौथाई गरीबों की हालत हुई बेहतर

मैकिन्से ग्लोबल इंस्टिट्यूट (MGI) की एक रिपोर्ट के अनुसार बीते दो दशकों में भारत में करोड़ की तादाद में लोगों को गरीबी से बाहर निकाला गया है.

news18 hindi , News18Hindi
मैकिन्से ग्लोबल इंस्टिट्यूट (MGI) की एक रिपोर्ट के अनुसार बीते दो दशकों में भारत में करोड़ की तादाद में लोगों को गरीबी से बाहर निकाला गया है.
रिपोर्ट के अनुसार 1990 और 2013 के बीच गरीबी में 25% की कमी आयी है.
रिपोर्ट के अनुसार 1990-2013 के दौरान भारत दूसरा सबसे बड़ा देश है जहां 17 करोड़ लोगों को गरीबी बाहर लाया गया है. पहले पायदान पर चीन ने जगह बनाई है, जिसने इस दौरान सबसे अधिक 73 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर लाया है.
रिपोर्ट के अनुसार 1995 से 2016 के बीच कंस्यूमिंग क्लास हाउसहोल्ड में 34 लाख से 3.5 करोड़ की वृद्धि दर्ज़ की है. जो 20 सालों में करीब दस गुणा वृध्दि है. गरीबी में कमी का मुख्य कारण विकासपरक नीतियां, सकरात्मक योजनाएं सहित कई कारण शामिल हैं.
भारत और चीन के दस में से आठ शहर हर साल डबल डिजिट में पेटेंट दाखिल करते हैं. वहीं अमेरिका के 10 में से 3 शहर ऐसा करने में सफल हुए हैं. 

Trending Now