Home » Photo Gallery » knowledge
News18 हिंदी | May 23, 2022, 10:16 IST

जन्मदिन विशेष : गायत्री देवी इतनी सुंदर थीं कि मेकअप की जरूरत नहीं पड़ती थी

जयपुर राजघराने की महारानी गायत्री देवी दुनिया की सबसे सुंदर स्त्रियों में थीं. उनकी सुंदरता को किताबों में खूब बखान किया गया है. 23 मई 1919 को लंदन में पैदा होने वाली गायत्रीदेवी के बारे में कहा जाता था कि वो इतनी सुंदर थीं कि उन्हें मेकअप की जरूरत ही नहीं होती थी.

1/ 8

जयपुर राजघराने की राजमाता गायत्री देवी का जन्म 23 मई 1919 को लन्दन में हुआ था. उनके पिता जीतेन्द्र नारायण कूचबिहार बंगाल के युवराज के छोटे भाई थे. उनकी माता बड़ौदा की राजकुमारी इंदिरा राजे थीं.

2/ 8

उन्हें घुड़सवारी, पोलो खेलने, शिकार करने का शौक था. जब गायत्री देवी कोलकाता में पोलो का मैच देखने गईं थी तो उनकी मुलाकात जयपुर के महाराजा सवाई मान सिंह द्वितीय से हुई. दोनों में बहुत जल्दी प्यार हो गया. वे जब जब लन्दन जाते, गायत्री देवी से मुलाकात करके जाते थे. छह साल तक अफेयर चलने के बाद आखिरकार 9 मई 1940 कप दोनों की शादी हो गई.

3/ 8

शादी होने के बाद भी वे उसी शाही अंदाज में जीती रहीं. यह दावा किया जाता है कि वो इतनी सुन्दर थीं कि उन्हें मेकअप करने की जरूरत नहीं पड़ती थी. उन्होंने जरा भी पर्दा नहीं किया और लड़कियों को आगे लाने के लिए जयपुर में एक स्कूल भी स्थापित किया.

4/ 8

प्रसिद्द वोग मैग्जीन नें गायत्री देवी को दुनिया की दस खूबसूरत महिलाओं की सूची में शुमार किया था.

5/ 8

गायत्री देवी राजनीति में भी सक्रिय रहीं. आजादी के बाद जब सी राजगोपालचारी नें स्वतंत्र पार्टी बनाई तो 1962 में उन्होंने जयपुर की लोकसभा सीट से सर्वाधिक मतों से जीतने का विश्व रिकॉर्ड बनाया. उनका जनता के बीच बहुत ही ज्यादा वर्चस्व और प्रेम था. 1967 और 1971 के चुनावों में भी गायत्री देवी जयपुर संसदीय क्षेत्र से स्वतंत्र पार्टी के टिकट पर लोकसभा की सदस्य चुनी गईं.

6/ 8

गायत्री देवी के जीवन में सुख के साथ दुःख भी आता रहा. 1970 में सवाई मानसिंह ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया. उसके कुछ ही समय बाद 1977 में उनके इकलौते बेटे जगत सिंह की अत्यधिक शराब पीने के कारण मौत हो गई. इस सदमे से वो पूरी तरह टूट गईं.

7/ 8

इंदिरा गांधी द्वारा लगाए गए आपातकाल के दिनों में गायत्री देवी ने कुछ समय तिहाड़ जेल में भी बिताए थे. वहां से रिहा होने के बाद उन्होंने राजनीति से संन्यास ले लिया

8/ 8

समाज सेवा और लोगों के प्यार के लिए सदैव तत्पर रहने वाली गायत्री देवी का 90 वर्ष की उम्र में 29 जुलाई 2009 को जयपुर में निधन हो गया.