Home » Photo Gallery » rajasthan
News18 हिंदी | Last Updated:September 30, 2022, 10:21 IST

इटली के जोड़े को भाया हिन्दुस्तान, गोल्डन सिटी में भारतीय पंरपरा से रचाई शादी, देखें PHOTOS

जैसलमेर. विश्वभर में गोल्डन सिटी के नाम मशहूर राजस्थान के जैसलमेर में इटली (Italy) से आए एक जोड़े ने हिन्दू रीति रिवाज के साथ धूमधाम से शादी की है. इटली के दूल्हे मतिया एस्पोसीतो ने स्वर्णनगरी जैसलमेर (Golden City Jaisalmer) शहर में पैदल बारात निकाली. इसमें शहर के विभिन्न समाजों के गणमान्य नागरिक शामिल हुए. लोक कलाकारों की लोक धुनों पर ठुमके लगाते हुए जश्न के माहौल में जब बारात निकली तो दूल्हे मतिया एस्पोसीतो की आंखों में एक अलग ही चमक दिखाई दी. वहीं दुल्हन कविशा ने इसे कभी नहीं भूलने वाला लम्हा बताया. तस्वीरों में देखे विदेशी जोड़े की राजस्थानी परंपरा से हुई शादी. रिपोर्ट- श्रीकांत व्यास

1/ 6

जैसलमेर में यह कपल एक होटल में ठहरा था. वहीं से दूल्हे मतिया की बारात निकाली गई. दूल्हे मतिया की बारात उनके होटल से एक निजी रेस्तरां पहुंची. वह रेस्तरां लड़की के धर्म भाई के घर के रूप में था. वहां लड़की वालों ने लड़के वालों का स्वागत किया. निजी रेस्तरां में इस अनूठे कपल की हिंदुस्तानी रीति रिवाजों से शादी को देखने शहरभर से लोग आए.

2/ 6

रेस्तरां में शादी का मंडप सजाया गया. वहां वर-वधू ने 7 फेरे लेकर 7 जन्मों तक साथ निभाने की कसमें खाई. शहर के लोगों ने वर वधू को आशीर्वाद दिया. दुल्हन के धर्म भाई अशरफ अली ने कन्यादान कर अपना फर्ज निभाया. खुशियों से भरी इस शादी में हर कोई बहुत खुश नजर आया. दुल्हन कविशा ने इसे कभी ना भूलने वाला लम्हा बताया.

3/ 6

इटालियन वधू कविशा उर्फ एलिन सोफिया मेडेलीन बोमग्रेन और दूल्हे मतिया एस्पोसितो की यह शादी बुधवार रात सम्पन्न हुई. मतिया ने बताया कि वो जानवरों से बहुत प्रेम करते हैं. इसलिए वे घोड़ी पर नहीं बैठे और पैदल ही बारात लेकर आए. बारात में पूर्व प्रधान और कैबिनेट मंत्री शाले मोहम्मद के भाई अमरदीन फकीर और कांग्रेस नेता मेघराज माली भी शामिल हुए.

4/ 6

बारात निजी होटल से निकलकर गाजे बाजे के साथ विवाह स्थल पहुंची. बारात के आगे लोक कलाकारों के दल ने राजस्थानी लोक धुनें बजाई. बारात फोर्ट पार्किंग से होते हुए रेस्तरां में बनाए विवाह स्थल पर पहुंची. वहां बारात का स्वागत अशरफ अली ने किया. अशरफ ने यहां कविशा के भाई के सारे दायित्व निभाए.

5/ 6

रेस्तरां में बनाए गए मंडप में पंडित मंत्रोचार के साथ दोनों का हिन्दू रीति रिवाज से विवाह सम्पन्न करवाया. शादी में कन्या की तरफ से उसके धर्म भाई अशरफ अली ने भी भाई का फर्ज निभाते हुए कन्यादान किया. खुशियों के माहौल में वर वधू ने 7 फेरे लिए.

6/ 6

इस अनूठी शादी को लेकर अशरफ ने बताया कि वे बहुत ज्यादा खुश है कि वे अपना फर्ज निभा पाए. वहीं दुल्हन बनी कविशा (एलिन सोफिया मेडेलीन बोमग्रेन) ने इसे अपनी जिंदगी का सबसे खूबसूरत लम्हा बताया और कहा कि वो बहुत खुश किस्मत हैं और इसे आखरी दम तक याद रखेंगी.

First Published:September 29, 2022, 18:29 IST

Top Galleries