Home » Photo Gallery » rajasthan
News18 हिंदी | Last Updated:September 30, 2022, 09:09 IST

यह ट्रेन नहीं है! यह है फाइव स्टार रेटिंग पाने वाला स्कूल, रिजल्ट हो या एक्टिविटी... यहां रची जा रही मिसाल

इस ट्रेन को गांव में जो भी देखता है, अभिभूत रह जाता है. जब पता चलता है कि यहां स्कूल चलता है, तो दूसरा आश्चर्य होता है. फिर उसे पता चलता है कि यह ट्रेन के डिब्बे नहीं, स्कूल बिल्डिंग ही है. इसके बाद इस स्कूल के अचीवमेंट्स सामने आते हैं, तो हैरानी बढ़ती ही जाती है. तस्वीरों में देखिए गजानंद शर्मा की रिपोर्ट.

1/ 6

सवाई माधोपुर. ज़िले का एक स्कूल अपने लुक, उपलब्धियों और इनोवेशन के चलते पूरे राज्य में चर्चा हासिल कर रहा है. इस स्कूल को ट्रेन का खास लुक देने के पीछे एक कहानी है और महत्वपूर्ण बात यह है कि स्कूल को राज्य सरकार ने फाइव स्टार रेटिंग दी है. यह वही स्कूल है, जिसके बारे में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी सोशल मीडिया पर पोस्ट की थी. आइए इस स्कूल के बारे में कुछ रोचक बातें आपको बताते हैं.

2/ 6

बामनवास उपखण्ड के टोडा गांव का सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल ट्रेन के कोच की तरह बनाया गया है. इसके अलावा यहां तीन साल से रिजल्ट भी 100 प्रतिशत है. प्रिंसिपल प्रेमराज मीणा का कहना है कि कुछ समय पहले वह भीलवाड़ा गए थे, वहां एक ऐसे स्कूल को देखकर यह आइडिया आया. आइडिया आने के बाद उन्होंने स्कूल कमरों को ट्रेन कोच का लुक दिया. इस लुक में क्या खास है?

3/ 6

मीणा के मुताबिक चार दिन में 12,000 रुपये के बजट से स्कूल के कमरों का रूप बदला गया. यही नहीं, स्कूल में 20 से ज्यादा महापुरुषों की प्रतिमाएं भी स्थापित करवाई गई हैं. स्कूल के 5 क्लास रूमों को ट्रेन के डिब्बों की तरह रंगा गया है और अंतिम कक्षा की दीवार को ट्रेन के अंतिम डिब्बे की तरह रूप दिया गया है, जबकि प्रिंसिपल के कमरे को ट्रेन का इंजन की तरह रंगा गया है. अब इस स्कूल की और खासियतें देखिए.

4/ 6

फिलहाल स्कूल में 260 स्टूडेंट पढ़ते हैं और 12 टीचरों का स्टाफ है. खास बात यह है कि पिछले तीन साल से स्कूल का रिज़ल्ट 100 प्रतिशत है. इसी वजह से राजस्थान सरकार की ओर से इसे 5 स्टार रेटिंग दी गई है. मीणा बताते हैं कि स्कूल का रंग-रोगन ट्रेन की तरह इसलिए करवाया है ताकि बच्चों को यहां पढ़ने के लिए आकर्षित किया जा सके.

5/ 6

इस स्कूल की एक खासियत यह भी है कि बच्चों की सेहत को लेकर भी ध्यान रखा जाता है. यहां फिज़िकल एक्टिविटी वाले सभी गेम हैं और उनको लेकर प्रतियोगिताएं भी होती रहती हैं. इस वजह से स्कूल को भारत सरकार के खेल व युवा मामलात मंत्रालय द्वारा फिट इंडिया सम्मान से भी नवाज़ा जा चुका है.

6/ 6

हाल में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोशल मीडिया पर अपने अकाउंट से एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें ग्रामीण महिलाओं की खेल के प्रति जागरूकता की सराहना की. टोडा के इस स्कूल में महिलाएं ग्रामीण ओलंपिक की तैयारियां करती दिख रही थीं, जिसे लेकर गहलोत ने ट्वीट किया था.

First Published:September 30, 2022, 09:09 IST

Top Galleries