होम »

ब्लॉग

किशोर कुमार बर्थडे स्‍पेशल : ‘ख्‍वाब हो तुम या कोई हकीकत

August 04, 2021, 06:00 AM IST

अल्‍बर्ट आइंस्‍टीन ने महात्‍मा गांधी के बारे में कहा था कि ‘आने वाली पीढ़ी शायद ही इस बात पर विश्‍वास करेगी कि इस धरती पर कभी इस तरह का हाड़-मांस का चलता-फिरता आदमी हुआ करता था. बेशक गांधी का दायरा बहुत विस्‍तृत था और उद्देश्‍य भी महान थे. जबकि किशोर ... और भी पढ़ें

मैथिलीशरण गुप्त न होते तो कौन लिखता भारत भारती?

August 03, 2021, 07:13 PM IST

[blurb]हम कौन थे, क्या हो गए हैं और क्या होंगे अभी, आओ विचारें आज मिलकर ये समस्याएँ सभी. यद्यपि हमें इतिहास अपना प्राप्त पूरा है नहीं, हम कौन थे, इस ज्ञान का, फिर भी अधूरा है नही...[/blurb]हिंदुस्तान को गौरवशाली अतीत की याद दिला कर वैभवशाली भविष्य के लिये तैयार करने ... और भी पढ़ें

शिक्षा-नीति 2020 का एक साल और शिक्षा से जुड़े नए सवालों पर विचार

August 02, 2021, 05:16 PM IST

पिछले साल 29 जुलाई यानी ठीक एक वर्ष पहले केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने देश की नई शिक्षा नीति को मंजूरी दी थी. उसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे भारतीय शिक्षा नीति में बड़े परिवर्तन के रुप में इंगित किया. उन्होंने उम्मीद जताई कि यह नई पीढ़ी को ... और भी पढ़ें

ललन सिंह को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाकर एक तीर से कई शिकार कर गए CM नीतीश

August 02, 2021, 03:31 PM IST

बिहार विकास के हर पैमाने पर भले ही पिछलग्गू राज्य बन गया हो, लेकिन क्या मजाल कि यहां के नेता आपको कभी भी बोर होने देंगे. चुनाव हो या न हो, यहां सोशल  इंजीनियरिंग का काम अनवरत गति से चलता रहता है. एक जाति को खड़ा करने और दूसरे को ... और भी पढ़ें

Tokyo Olympics 2020: मौका तो दें, बेटियां कमाल कर रही हैं

August 02, 2021, 01:01 PM IST

देश की बेटियां कमाल कर रही हैं, चूल्हा चौका से निकलकर वो खेलों में मिसाल बन रही हैं. टोक्यो ओलंपिक में रविवार और सोमवार की सुबह भारत के लिए खुशी की लहर लेकर आई. गुरजीत कौर के इकलौते गोल के दम पर भारतीय महिला महिला हॉकी टीम ने क्वॉर्टर फाइनल ... और भी पढ़ें

Tokyo Olympics: ओलंपिक में पदक जीतना ही आखिर सब कुछ क्यों नहीं होता है?

August 01, 2021, 05:03 PM IST

नई दिल्ली. एक अरब से ज्यादा आबादी वाले देश में अब तक टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में भारत को जितने पदक नहीं मिले है उससे ज्यादा शनिवार की शाम को सिर्फ 10 सेकेंड के अंदर जमैका की तीन लड़कियों ने तीन पदक जीत डाले. लेकिन, ओलंपिक (Olympics) में हमेशा मेडल ... और भी पढ़ें

उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण अस्मिता की राजनीति

July 31, 2021, 10:16 PM IST

उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण अस्मिता की राजनीति के दो लक्ष्य हैं. पहला लक्ष्य तो 10 से 12 प्रतिशत वोटों और कृषि, व्यापार, शिक्षा व मीडिया में प्रभावशाली हैसियत रखने वाली इस जाति को अपनी ओर खींचकर चुनावी सफलता हासिल करना. यह एक सामान्य उद्देश्य है, जो प्रतिस्पर्धात्मक राजनीति में आमतौर ... और भी पढ़ें

आल्हा के आंगन में वीर गाथाओं की गमक

July 31, 2021, 07:51 PM IST

इधर चौमासे ने दस्तक दी तो याद आई, चौपाल पर आसन जमाये गायकों की मंडली. कंठ से उठती वो हुंकार भी- "जो नर जैहो रण खेतन में, जुगों-जुगों तक चल है नाम". आल्हा के छंद वीरता और पराक्रम की ऐसी ही अग्निशिखा हैं. यानी शब्द, विचार और ध्वनि की तरंगों ... और भी पढ़ें

संसद में संवाद जारी रखने के लिए क्‍या 'विरोध' के विरोध का समय आ गया है?

July 31, 2021, 03:12 PM IST

मानसून के मौसम में भारत में राजनीति के बादल जमकर बरस रहे हैं. अख़बार सियासी ख़बरों से पटे पड़े हैं. टीवी न्यूज़ चैनलों पर राजनैतिक विश्लेषकों और विभिन्न पार्टियों के नेताओं का आना-जाना अनवरत लगा हुआ है. वे अपने-अपने पक्ष में खुलकर इस अंदाज़ में दहाड़ रहे हैं कि किसी ... और भी पढ़ें

बावरा मनः अटक से कटक तक…❣- नाम ट्विस्ट हो जाएगा! (भाग 2)

July 31, 2021, 01:27 PM IST

अटक (अब पाकिस्तान) और कटक (वर्तमान ओडिसा) के बीच फैला हिंदुस्तान राज अंग्रेज़ी नामों से आज भी पटा पड़ा है. कुछ नामों को सरकारों ने बदला है और कुछ वक्त के साथ खुद ही बदल गए हैं. उन्हें लोकल ट्विस्ट मिल गया है. जानते हैं आज इन ट्विस्‍टेड अंग्रेज़ी नामों ... और भी पढ़ें

संजय उवाच: ओलंपिक में छोटे देश कर रहे कमाल, पर भारतीय खिलाड़ियों का हाल बेहाल

July 31, 2021, 10:32 AM IST

ओलंपिक (Olympics) में पदक क्यों नहीं आते, यह सवाल अब शास्वत हो चुका है. वक्‍त निकलता जाता है, चर्चा का विषय वहीं रह जाता है. इसी सवाल के साथ कई ऐसे लोग होंगे, जिन्होंने खेल पत्रकारिता की शुरुआत की होगी और अब विदा लेने की दहलीज पर हैं. अभी टोक्यो ... और भी पढ़ें

श्रद्धांजलि: मुझे यूं भुला ना पाओगे, जब सुनोगे गीत मेरे, संग-संग गुनगुनाओगे

July 31, 2021, 09:15 AM IST

एक किस्‍से से मोहम्‍मद रफी को समझने की कोशिश करते हैं. 1981 में एक फिल्‍म आई थी ‘कुदरत. फिल्‍म के सभी गाने किशोर कुमार ने गाए थे. निर्देशक चेतन आनंद चाहते थे कि एक गाना रफी साहब गाएं. उनका मानना था कि इस गाने के साथ सिर्फ रफी साहब ही ... और भी पढ़ें

भारत में बढ़ते कोरोना केस पर अभी कहना कि तीसरी लहर आ गई, सही नहीं

July 30, 2021, 06:40 PM IST

भारत में कोरोना महामारी की चुनौतियों के साथ ही एक और नई बहस ने जन्‍म ले लिया है और वह है कोरोना की तीसरी लहर. देश में मार्च 2021 के बाद कोरोना की दूसरी लहर का झटका ऐसा था कि उसने लगभग हर इंसान को झकझोर दिया था. यही वजह ... और भी पढ़ें

यह वक्त है रास्ता बदलने का!

July 30, 2021, 12:48 PM IST

मानव बहुत विकास कर रहा है. 20वीं सदी में उसने इतना विकास किया कि खुद के वजूद को खत्‍म करने के तरीके (परमाणु हथियार और उपभोग के लिए जैव-विविधता-पर्यावरण का विनाश) भी ईजाद कर लिए. इन तरीकों पर उसे इतना गर्व होने लगा है कि इन्हें (जितने ज्यादा हथियार और ... और भी पढ़ें

पिछड़ों की राजनीति में क्या शिवराज से आगे निकल पाएंगे कमलनाथ?

July 30, 2021, 11:44 AM IST

भोपाल. पिछड़ा वर्ग का आरक्षण चौदह से बढ़ाकर सत्ताइस प्रतिशत किए जाने का असर सड़कों पर दिखाई देने लगा है. यद्यपि पिछड़ा वर्ग महासभा का पहला प्रदर्शन बहुत उत्साहजनक दिखाई नहीं दिया है, लेकिन राजनीतिक पटल पर हलचल जरूर दिखाई दे रही है. कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने ... और भी पढ़ें

LIVE Now

    फोटो

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें

    टॉप स्टोरीज