होम »

ब्लॉग

प्याज़: अभी तो भाव बढ़ना शुरू हुआ है रोता है क्या, आगे-आगे देखना होता है क्या!

October 21, 2020, 08:25 PM IST

‘जिस सरकार का कीमत पर जोर नहीं, उसे देश चलाने का अधिकार नहीं ये वो नारा है जिसने जनता पार्टी से सत्ता छीन ली. साल था 1980 का और केंद्र में जनता पार्टी की सरकार थी. कांग्रेस विपक्ष में थी. देश में प्याज़ की क़ीमतें आसमान छू रही थीं. इंदिरा ... और भी पढ़ें

क्रिकेट ही नहीं ज़िदगी के कई मामलों में 'शिखर' पर हैं धवन

October 21, 2020, 12:19 PM IST

नई दिल्ली. आईपीएल(IPL 2020) में मंगलवार रात को शिखर धवन (Shikhar Dhawan) ने न सिर्फ अपने 5000 रन पूरे किए बल्कि इस टूर्नामेंट के इतिहास में लगातार 2 मैचों में शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने. बावजूद इसके उनकी टीम हारी लेकिन जब वो मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार ... और भी पढ़ें

OPINION: क्या राहुल गांधी बनाम कमलनाथ हो चला है अब "आइटम" का मामला

October 20, 2020, 07:31 PM IST

एमपी के डबरा में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) के मुंह से महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) के लिए आइटम शब्द निकल गया. एमपी की भाजपा (BJP) जो मुद्दे की तलाश में बैठी ही थी, ... और भी पढ़ें

छोटे-छोटे कदमों में छिपा है गरीबी हटाने का फार्मूला

October 20, 2020, 02:07 PM IST

जब आदमी के हाल पे आती है मुफलिसी, किस तरह से उसको सताती है मुफलिसी, प्यासा तमाम रोज बिठाती है मुफलिसी, भूखा तमाम रात सुलाती है मुफलिसी, यह दुख वो जाने, जिस पे आती है मुफलिसी.मुफलिसी यानी गरीबी (Poverty), जब-जब गरीबी की बात होती है, तब-तब करीब डेढ़ सौ साल पहले देश के पहले ... और भी पढ़ें

IPL 2020: MS धोनी का यूं रनआउट होना उनके 'बीस से उन्नीस' हो जाने की कहानी है..

October 20, 2020, 06:09 AM IST

नई दिल्ली. अब उनकी छुई चीज सोना नहीं होती, फैसले चौंकाते नहीं, क्रीज पर रहना जीत की गारंटी नहीं... और इन सबसे बढ़कर अब वो कूल नहीं. जी बात हो रही है महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की, जो आज की तारीख में भारत के सबसे चहेते क्रिकेटर हैं. ... और भी पढ़ें

क्या दुनिया को अक्ल आ रही है ?

October 19, 2020, 10:44 PM IST

रिपब्लिक ऑफ मलावी दक्षिण एशियन अफ्रीका में मौजूद एक छोटा सा देश है. ये देश दुनिया के उन 44 देशों में से एक है जो बंदरगाह विहीन देशों (लैंडलॉक्ड कंट्री) की श्रेणी में शुमार है यानि ऐसे देश जिनका समुद्र से कोई नाता नहीं होता है. रिपब्लिक ऑफ मलावी को ... और भी पढ़ें

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020: उदीयमान विश्वगुरु भारत

October 19, 2020, 05:21 PM IST

आठवीं शताब्दी ईस्वी तक वैश्विक सभ्यता मूल्यपरक, सांस्कृतिक व नैतिक शिक्षा हेतु भारत पर निर्भर थी. उस समय के विश्व प्रसिद्ध शिक्षा केन्द्र जैसे गांधार, उज्जैन, नालंदा, तक्षशिला, विक्रमशिला और काँची सार्वभौमिक संस्कृति के पोषक थे. विदेशी मूल से संबंधित विभाजनकारी शक्तियों ने सदैव सनातनी धर्म संस्कृति को विभाजित करने ... और भी पढ़ें

मतदाता और मतदान के सिद्धांतों की बहस के 100 साल

October 19, 2020, 12:23 PM IST

लगातार यह बात की जाती रही है कि भारत एक लोकतांत्रिक गणराज्य है. यहां चुनाव होते हैं. अब 18 साल से ज्यादा उम्र के हर व्यक्ति को चुनाव में मतदान करके खुद अपनी सरकार चुनने का अधिकार है. सवाल यह है कि क्या वास्तव में भारत के नागरिक चुनाव और ... और भी पढ़ें

शिक्षिका ने समझा बिगड़े नामों से चिढ़ाने का मनोविज्ञान,बच्चों को दिलाई असल पहचान

October 19, 2020, 11:37 AM IST

स्कूलों में कई बार कुछ बच्चे एक-दूसरे को उनके असली नामों से बुलाने की बजाय बिगड़े नामों से बुलाते हैं. कई बार कुछ बच्चे दूसरे बच्चों को गलत नामों से चिढ़ाते भी हैं. धीरे-धीरे बिगड़े या गलत नाम ही कुछ बच्चों की पहचान बन जाते हैं. फिर अक्सर लोग उन्हें ... और भी पढ़ें

फिंगर स्पिनर: IPL 2020 में ‘अक्सर-सुंदर क्यों दिख रहे हैं पटेल और वाशिंगटन?

October 19, 2020, 08:12 AM IST

आईपीएल में अगर इस सीजन सबसे कामयाब गेंदबाजों के बारे में आपसे पूछा जाए तो सबसे पहले आपके ज़ेहन में कैगिसो रबाडा, राशिद ख़ान, जसप्रीत बुमराह और युज़वेंद्र चहल जैसे गेंदबाज़ों के नाम आयेंगे. ये स्वभाविक ही है क्योंकि ना सिर्फ इस साल बल्कि अमूमन हर साल या तो शानदार ... और भी पढ़ें

एक जैसी सामग्री और विषयों का दोहराव, कहीं बॉलीवुड की सस्ती कॉपी न बन जाए OTT

October 18, 2020, 04:12 PM IST

मुंबई. एक ही विषय पर कई फिल्में बना देना बॉलीवुड (Bollywood) की पुरानी बीमारी है. किसी ताजा मुद्दे को झपटने की हड़बड़ी, भूली बिसरी कहानियों में फिर से प्राण फूंकना और समकालीन विषयों को बाजार के नजरिए से भांपते हुए चतुराई से लपकना, आजकल यहां एक नया बन ट्रेंड गया ... और भी पढ़ें

अगरौठा: 107 मीटर पहाड़ काटने वाली 'जल सहेलियां' अपने गांव की भागीरथ हैं

October 17, 2020, 12:58 PM IST

किसी को कमज़ोर कहना हो, किसी का विरोध करना हो तो उसे चूड़ियां दे दो, या ये कह दो कि चूड़ियां पहन लो. लेकिन क्यां चूड़ियों वाले हाथ वाकई नाकारे, निकम्मे, कमज़ोर होते हैं? जिन कलाइयों में चूड़ियां होती हैं वो किसी से कमज़ोर होती हैं वो पुरुषों से पीछे ... और भी पढ़ें

बावरा मन: तनिष्क का ऐड देखा तो ख्याल आया- मियां बीबी राज़ी तो क्या करेगा काज़ी

October 17, 2020, 10:32 AM IST

पहली बार तनिष्क का ऐड देखा तो लगा इससे खूबसूरत कुछ हो ही नहीं सकता. एक समावेशी समाज की परिकल्पना का प्रतिबिंब यह ऐड, मन को पहली नजर में भा गया. वो इसलिए कि अभी तक मेरे अन्दर की गट फीलिंग काम कर रही थी. परंतु जैसे ही लोगों की ... और भी पढ़ें

बिहार की सत्ता में 'ड्राइवर' बनेगी बीजेपी या फिर JDU की 'स्टेपनी' ही रहेगी?

October 17, 2020, 07:21 AM IST

नई दिल्ली. बिहार का विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election-2020) जितना दिलचस्प है उतना ही कन्फ्यूजिंग भी. बीजेपी के ज्यादातर बागी नेता लोक जनशक्ति पार्टी से चुनाव लड़ रहे हैं, जो केंद्र में एनडीए का घटक दल है लेकिन बिहार में एनडीए के खिलाफ लड़ रही है. बीजेपी (BJP) को यहां ... और भी पढ़ें

क्या हमें नवरात्रि में देवियों की पूजा करने का हक है?

October 17, 2020, 05:57 AM IST

[blurb]जयति जय-जय मां सरस्वती जयति वीणा वादिनी कमल आसन छोड़..., देख मेरी दुर्दशा[/blurb] नवरात्रि (Navratri 2020) के पहले दिन हर घर में माता की मूर्ति स्थापित की जाएगी. लाल चुनरी, नारियल, कलेवा, कई तरह के मिष्ठान से माता को प्रसन्न करने की कोशिश की जाएगी. माता को प्रसन्न करने वाले ... और भी पढ़ें

LIVE Now

    फोटो

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें

    टॉप स्टोरीज