Opinion: BJP पूरी ताकत से राहुल गांधी पर क्यों करती है सियासी हमला!

हाल ही में केरल में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने दक्षिण और उत्तर भारत के राजनीति स्टाइल की तुलना कर दी. 5 राज्यों में आगामी चुनाव के बीच राहुल गांधी के इस बयान पर बीजेपी ने बखेड़ा खड़ा कर दिया.

Source: News18Hindi Last updated on: February 25, 2021, 2:57 PM IST
शेयर करें: Facebook Twitter Linked IN
Opinion: BJP पूरी ताकत से राहुल गांधी पर क्यों करती है सियासी हमला!
राहुल गांधी (File pic)

बीजेपी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से लेकर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ तक. मोदी सरकार के कैबिनेट मंत्रियों से लेकर बीजेपी के गली कूचे के नेताओं तक, राहुल गांधी के हर बयान पर बीजेपी पूरी ताकत से उस राहुल गांधी पर हमले क्यों करती है जिसे उसके नेता काफी पहले नॉन सीरियस या पार्ट टाइम पॉलिटिशियन करार दे चुके हैं?


ये सवाल इसलिए भी कि कांग्रेस ने पिछले दो लोकसभा चुनाव असल में राहुल गांधी के नेतृत्व में ही लड़ा और इतिहास की सबसे बुरी हार भी हुई. हर हार और हर असफलता के लिए चाहे वो राज्य में हो या केंद्र में बीजेपी इसे राहुल की असफलता करार देती है.


तो बीजेपी के मुताबिक एक असफल और ऐसा राजनेता जिसमें गंभीरता नहीं है उसके लगभग हर बयान पर बीजेपी इतनी तेजी से और इतने बड़े पैमाने पर चौतरफा हमला क्यों करती है? राहुल गांधी के विदेश दौरे से लेकर उनके पहनावे तक बीजेपी के लिए मुद्दा क्यों हैं?

हाल ही में केरल में राहुल गांधी ने दक्षिण और उत्तर भारत के राजनीति स्टाइल की तुलना कर दी. 5 राज्यों में आगामी चुनाव के बीच राहुल गांधी के इस बयान पर बीजेपी ने बखेड़ा खड़ा कर दिया. बीजेपी राहुल गांधी के इस बयान पर जिस तरह से हमलावर हुई ये कांग्रेस ने सोचा भी नहीं था. सरकार से लेकर संगठन तक हर नेता के सियासी तोप का मुंह राहुल गांधी की तरफ ही हो गया. ये एकमात्र वाकया नहीं है, अक्सर ऐसा होता है लेकिन सवाल ये है कि ऐसा क्यों होता है?


इस सवाल का जवाब देते हुए बीजेपी नेता विजय सोनकर शास्त्री कहते हैं, ‘कांग्रेस आज भी मुख्य विपक्षी दल है. राहुल गांधी उसके नेता हैं. अब इसे देश का दुर्भाग्य कहिए या कांग्रेस का सौभाग्य की राहुल के हाथ में ही मुख्य विपक्षी दल की कमान है इसलिए तमाम आरोपों के बावजूद हमें उनकी नॉन सीरियस बातों पर भी टिप्पणी करनी पड़ती है.’


ये सवाल जब हमने वरिष्ठ पत्रकार शेष नारायण सिंह से पूछा तो जवाब देते हुए वे कहते हैं, ‘राहुल गांधी कांग्रेस के सबसे बड़े नेता हैं. बीजेपी के मुकाबले राहुल गांधी की कांग्रेस ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो देश के हर हिस्से और हर कोने में मौजूद है. बीजेपी जानती है कि कांग्रेस अगर मजबूत हुई तो उसके लिए सबसे बड़ी चुनौती साबित होगी. यही वजह है कि कांग्रेस के ब्रांड राहुल गांधी की चमक फीकी करने का कोई मौका बीजेपी छोड़ती ही नहीं.’


बीजेपी की रणनीति पर कांग्रेस के मीडिया विभाग के सचिव प्रणव झा कहते हैं, ‘दरअसल बीजेपी राहुल गांधी की निडर राजनीति और बेदाग़ शख्सियत से डरती है. राहुल गांधी ही पूरे विपक्ष में एक ऐसा चेहरा हैं जिनको बीजेपी सरकार सभी एजेंसियों के दुरुपयोग के बावजूद काबू नहीं कर पाई.’


प्रणव झा अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहते हैं कि राहुल गांधी एकमात्र राष्ट्रीय नेता हैं जो मोदी सरकार और उसकी नीतियों को संसद और सड़क के जरिए लगातार चुनौती दे रहे हैं. कोई भी क्षेत्रीय दल ये न तो कर रहा है और न ही कर सकता है, इसकी वजह आप बखूबी जानते हैं. यही वजह है की चट्टान की तरह खड़े राहुल गांधी पर बीजेपी पूरी ताकत से हमला करती है.’


एक बार राहुल गांधी से जब ये पूछा गया कि आपको लेकर सोशल मीडिया और विपक्षी दलों से जैसी प्रतिक्रिया आती है उससे आप कभी अपसेट क्यों नहीं होते, जवाब में राहुल गांधी ने कहा था कि उनकी चमड़ी अब मोटी हो चुकी है अब इस तरह से हमलों से उनकी सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ता. मतलब राहुल गांधी अब इन हमलों के आदी हो गए हैं इसीलिए बयान देने के अगले दिन केरल के समुंदर में तैराकी करते दिखे.


मतलब भले ही बीजेपी कांग्रेस मुक्त भारत का नारा दे चुकी हो लेकिन आज भी वो पूरी ताकत से कांग्रेस और उसके नेता राहुल गांधी से ही लड़ती है. (अरुण सिंह पत्रकार हैं और ये उनके निजी विचार हैं.)



(डिस्क्लेमर: ये लेखक के निजी विचार हैं. लेख में दी गई किसी भी जानकारी की सत्यता/सटीकता के प्रति लेखक स्वयं जवाबदेह है. इसके लिए News18Hindi किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं है)
facebook Twitter whatsapp
First published: February 25, 2021, 2:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर