vidhan sabha election 2017

सामान्‍य नहीं है ये ई-मेल सेवा, इसलिए है बड़े काम की, क्‍या आपने उपयोग की?

सामान्‍य नहीं है ये ई-मेल सेवा, इसलिए है बड़े काम की, क्‍या आपने उपयोग की?
दशकों से कंप्यूटर, इंटरनेट पर जुड़े होने के कारण कई मित्र और परिचित तरह-तरह की समस्याएं, जिज्ञासाएं लिए आते हैं।...

दशकों से कंप्यूटर, इंटरनेट पर जुड़े होने के कारण कई मित्र और परिचित तरह-तरह की समस्याएं, जिज्ञासाएं लिए आते हैं। कईयों का लगाव अनूठे तरीके और जुगाड़ से है, तो उसी का समाधान करने की जुगत में मुझे भी नई बातें सीखने मिल जाती हैं। इस बार एक मित्र के किशोर बेटे ने दस्तक दी अपनी समस्या लेकर। बचपन से वो मुझे देखता मिलता रहा है तो एक स्वाभाविक संकोच नहीं हुआ उसे अपनी बात कहने में।

उसका कोई मित्र है, जिससे किसी मामले में कहा-सुनी हो गई थी। नतीजतन उस मित्र ने इस किशोर को व्हाट्स एप्प पर ब्लॉक कर दिया, ई-मेल में एंट्री रोक दी, मोबाइल पर ब्लैक लिस्ट कर दिया, मिलना बंद कर दिया। अब यह किशोर चाहता था कि किसी भी तरह से उस तक वह अपना पक्ष पहुंचा सके तो गलतफहमियां दूर होने की पूरी उम्मीद है। किसी तरह की चिट्ठी रूक्के का सवाल ही नहीं, किसी अन्य के हाथ लग जाए तो उसे मिलेगा भी नहीं जगहंसाई का अलग भय। करे तो करे क्या वह?

mailinator-bspabla

बातचीत के बाद मैंने उसे सलाह दी कि वह डिस्पोजेबल ई-मेल का उपयोग कर उसे ई-मेल भेज दे। अगर उसने सही समझा तो पक्का संपर्क करेगा, चाहे जैसे भी करे।

डिस्पोजेबल ई-मेल मतलब अस्थायी ई-मेल। एक ऐसा ई-मेल पता, जिसे बस एक बार ही इस्तेमाल किया जा सकता है, उसके बाद वह गायब। जैसे कि चाय-कॉफ़ी पीने के लिए डिस्पोजेबल ग्लास। पानी पीने का काम हो जाए तो गिलास फेंक दिया जाता है। दुबारा वह गिलास नहीं मिलने वाला अपने उसी रूप में।या फिर जैसे काम निकालने के लिए अस्थायी शिक्षक होते हैं, कर्मचारी होते हैं या फिर अस्थायी राशनकार्ड होता है. काम ख़त्म, भूल जाओ कि कौन था? किधर गया? कब तक रहा? वह हैरान था कि अगर डिस्पोजेबल ई-मेल से उसे ई-मेल भेजी तो वापस ज़वाब कहां मिलेगा? मैंने समझाया कि तुम्हारा संदेश पहुंच जाएगा फिर अगले ने ज़वाब देना होगा तो कैसे भी दे देगा।

किया तो उसने वही लेकिन आगे क्या हुआ अभी तक पता नहीं

दरअसल, ऐसी डिस्पोजेबल ई-मेल का उपयोग मैं इनके उद्भव के समय से ही ऐसी वेबसाइट्स पर करता आ रहा जहां महज एक फाइल डाउनलोड करने के लिए डाउनलोड लिंक पाने या रजिस्ट्रेशन एक्टिवेशन लिंक के लिए अपना ई-मेल पता देना पड़ता है।

फाइल डाउनलोड होने के बाद  या जानकारी हासिल करने के बाद ना तो मुझे याद रहता है कि वो वेबसाइट कौन सी थी ना यह याद रहता है कि अपना ई-मेल पता वहां दिया था मैंने, ना ही मुझे ज़रूरत होती है उस वेबसाइट की। नतीज़ा यही होता है कि स्पैम मेल की बाढ़ आती रहती है, जो किसी काम की नहीं और यह मामला किसी और वेबसाइट पर ई-मेल देने के बाद अनवरत बढ़ता चला जाता है।

इन सबसे बचने के लिए डिस्पोजेबल ई-मेल, अस्थायी ई-मेल का उपयोग करूं तो फाइल डाउनलोड होने के बाद वह ई-मेल पता खुद ही नष्ट हो जाता है, जिस पर कोई मेल आने का प्रश्न ही नहीं उठता। इसके अलावा अभी कई कारण हैं, ऐसी अस्थायी ई-मेल का उपयोग करने के।

कई बार आप सार्वजनिक कंप्यूटर पर अपना ई-मेल उपयोग नहीं करना चाहते, उस कंप्यूटर पर आपके ई-मेल खाते की अनुमति नहीं है, किसी को बिना अपना परिचय दिए आई लव यू कहना हो, किसी अधिकारी को गुप्त सूचना देनी हो, पुलिस को किसी अपराध की जानकारी देनी हो वगैरह… वगैरह।

ऐसी अस्थायी ई-मेल सेवा देने वाली सैकड़ों वेबसाइट्स हैं, जिन की डिस्पोजेबल ई-मेल कुछ मिनट से ले कर कुछ घंटे बाद खुद ही नष्ट हो जाती हैं। आईए देखें कुछ उदाहरण

Guerrilla Mail की अस्थायी ई-मेल सेवा :  Guerrilla Mail वेबसाइट खोलते ही आपके सामने एक ई-मेल बॉक्स खुला दिखता है, जो क्रम रहित बेतरतीब अक्षरों वाले यूजर-नेम से बना हुआ होता है। आप चाहें तो उसी ई-मेल का उपयोग करें या कोई अन्य बना लें। डोमेन भी आप अलग चुन सकते हैं। ई-मेल भेज भी सकते हैं, पा भी सकते हैं, आई हुई ई-मेल का उत्तर दे सकते हैं। पल-पल अपडेट होता इनबॉक्स तुरंत दिखाता है आई हुई ई-मेल को और खुद ही आधे-एक घंटे बाद नष्ट हो जाता है।

guerrillaamail-bspabla

Mailinator की अस्थायी ई-मेल सेवा : इसी तरह Mailinator वेबसाइट खुलते ही आपका मनचाहा यूजर-नेम पूछा जाता है। यदि वह उपलब्ध रहा तो बढ़िया वरना कोई भी यूजर-नेम डाला जा सकता है। एक बार यह ई-मेल सक्रिय हो गया तो आप जितनी चाहे मेल मंगा  लीजिये इस पर। चाहे वह रजिस्ट्रेशन कन्फर्म करने वाली हो या किसी अटैचमेंट को लाने वाली।

याद रखिए इसका कोई पासवर्ड नहीं। इससे कोई मेल नहीं भेजी जा सकती। यह खुला है सबके लिए। अगर किसी को अंदाजा हो कि आप किस नाम का ई-मेल खोले बैठे हैं, तो वह किसी दूसरे कंप्यूटर पर बड़े आराम से वह मेल पढ़ देख सकता है। ऐसा अक्सर वहां भी हो सकता है, जहां दुनिया के किसी कोने में संयोगवश कोई और  ramu, mumbai, tajamahal. kanpur जैसे सामान्य शब्दों का यूजर-नेम बना लें।

यहां बनी अस्थायी ई-मेल कुछ घंटों में खुद ही नष्ट हो जाती है और अपने साथ उस पर आये संदेश व अटैचमेंट भी नष्ट कर देती है।

Incognito Mail की अस्थायी ई-मेल सेवा:  वहीं Incognito Mail की वेबसाइट खोलते ही विकल्प मिलता है कि आप रेडीमेड ई-मेल लेना चाहते हैं या अपनी पसंद के यूजर-नेम वाला चाहिए। एक बार आपने ईमेल चुन लिया तो वह एक घंटे तक ‘ज़िंदा’ रहता है जो डाउनलोड लिंक पाने या रजिस्ट्रेशन एक्टिवेशन लिंक पाने के लिए बहुत है।

incognitomail-bspabla

और भी हैं कई अस्थायी ई-मेल सेवा :  इस समय करीब ढाई हजार से अधिक ऐसी वेबसाइट्स हैं जो ऐसी अस्थायी डिस्पोजेबल ई-मेल सेवा दे रहीं, लेकिन लगभग सभी की सभी ई-मेल पाने वाली हैं। Guerrilla Mail जैसे ई-मेल भेजे जाने वाली वेबसाइट कम ही हैं।

याद रखिए इस जानकारी का उपयोग सामाजिक हित के सार्थक कामों के लिए और अपने वास्तविक ई-मेल को स्पैम की बाढ़ से बचाने के लिए किया जाना चाहिए। किसी विध्वंसक कार्य के लिए इसका उपयोग किया जाए या किसी प्रकार का व्यक्तिगत नुकसान हो तो इसके लिए मैं उत्तरदायी नहीं।

(इस लेख के विचार पूर्णत: निजी हैं , एवं आईबीएन खबर डॉट कॉम इसमें उल्‍लेखित बातों का न तो समर्थन करता है और न ही इसके पक्ष या विपक्ष में अपनी सहमति जाहिर करता है। इस लेख को लेकर अथवा इससे असहमति के विचारों का भी आईबीएन खबर डॉट कॉम स्‍वागत करता है । आप लेख पर अपनी प्रतिक्रिया  blogibnkhabar@gmail.com पर भेज सकते हैं। ब्‍लॉग पोस्‍ट के साथ अपना संक्षिप्‍त परिचय और फोटो भी भेजें।)

 

facebook Twitter google skype whatsapp

LIVE Now