vidhan sabha election 2017

स्‍मार्ट होने का मतलब क्‍या है?

स्‍मार्ट होने का मतलब क्‍या है?
असमंजस में डालता है स्‍मार्ट शब्‍द : आजकल स्मार्ट शब्द की बड़ी धूम है। स्मार्ट सिटी, स्मार्ट फोन, स्मार्ट कार्ड जैसे...

असमंजस में डालता है स्‍मार्ट शब्‍द : आजकल स्मार्ट शब्द की बड़ी धूम है। स्मार्ट सिटी, स्मार्ट फोन, स्मार्ट कार्ड जैसे कई नाम दिन में ना जाने कितनी ही बार पढ़ने-सुनने को मिलते हैं। सबसे ज़्यादा चर्चित है स्मार्टफोन। जो ना जाने ऐसे कितने ही काम चुटकियां बजाते ही कर लेता है, जिनके लिए कुछ वर्षों पहले तक इंसान को अपना समय और दिमाग खपाना पड़ता रहा। भविष्य की दुनिया के सपने दिखाने वाला स्मार्ट शहर भी ना जाने कितनी ही तकनीकों के लिए के लिए पलकें बिछाए इंतज़ार कर रहा।

निश्चित ही इस तरह के शहर में बिजली वितरण से ले कर मल निकासी, सड़कें, कारें, भवन, पार्किंग, ट्रैफिक सिग्नल जैसे हर चीज एक नेटवर्क से जुड़ी मिलेगी। भवन में बिजली अपने आप बंद होगी, बिना ड्राईवर की कारें खुद अपने लिए पार्किंग ढूंढेंगी। कूड़ादान भी स्मार्ट होगा। मैं बड़ी उलझन में पड़ गया कि हम इस स्मार्ट भविष्य में जायेंगे कैसे?  इस स्मार्ट सिटी में भवनों, बिजली के खंभे, पाइप, कूड़ेदानों पर लगे सेंसरों पर कौन निगरानी रखेगा, कौन नियंत्रित करेगा उन्हें?  स्वाभाविक रूप से एक बढ़िया सॉफ्टवेयर जो तमाम तरह के सेंसर से जानकारियां लेगा।

यहां से आया स्‍मार्ट शब्‍द : बहरहाल, आखिर यह SMART शब्द आया किधर से? यह होता क्या है किशोरावस्था में लाइब्रेरी की किसी किताब में मैंने जो पढ़ा था, उसके मुताबिक़ प्रबंधन क्षेत्र में किसी लक्ष्य के लिए निर्धारित Specific, Measurable, Attainable, Relevant, Time-bound प्रणाली का एक संक्षिप्त पुकारा जाने वाला शब्द SMART है, जो प्रयुक्त किए जाने वाले शब्दों के प्रथम अक्षरों को मिला कर बना है। फिर जब कंप्यूटर की दुनिया में कदम रखा तो पता चला कि Self Monitoring Analysis And Reporting को भी SMART कहते हैं। इसके बाद तो जीवन के हर क्षेत्र में इस स्मार्ट शब्द के कई मतलब पता चलते गए, लेकिन मन को भाया तो सबसे पहले पढ़ा गया गूढ़ अर्थ। जब भी किसी चालाक, वाकपटु, फुर्तीले, जुगाडू व्यक्ति के लिए मैं यह कहते सुनता कि फलां बंदा तो बड़ा स्मार्ट है, तब मस्तिष्‍क में स्मार्ट शब्द की व्याख्या का गुणा-भाग शुरू हो जाता।

नौकरी में नया-नया आया था, तो एक बार ऐसे ही डींगें हांक रहा था मैं इस शब्द के ज्ञान को लेकर। तब एक मित्र ने उपहास किया कि यार! हिंदी में बता ना इसका मतलब!! सकपका कर तब बताया कि किसी कार्य, परियोजना या मशीन के लक्ष्य निर्धारण में Specific (कब -कहां -क्यों -कैसे – कौन), Measurable (कितने -कब तक), Attainable (वास्तविक साध्य), Relevant (प्रासंगिक), Time-bound (समयबद्ध) कारकों के समावेश  के संक्षिप्तिकरण को स्मार्ट कहते हैं।

दिेमाग गायब होगा स्‍मार्ट सिटी में ? : आजकल के समय में चर्चित स्मार्टफोन को देखें तो समझ आता है, इन सबका मतलब। अब हल्ला बहुत है, लेकिन आने वाली स्मार्ट सिटी के सपने देखने से पहले यह जानना ज़रूरी है कि स्मार्ट लोग ही स्मार्ट शहर बनाते हैं। आज के शहरों की स्थिति सुधारने में लोगों की भागीदारी बेहद अहम है। लेकिन भारतीय शहर बेहद बेतरतीब हैं, जहां धक्कामुक्की, वारदातें, ट्रैफिक जाम में फंसी एम्बुलेंस की चीख, बिजली -पानी की किल्लत, सडकों पर पसरे -जुगाली करते कभी भी बिदक जाने वाले जानवर, हर पल मंहगी होती जमीन, अतिक्रमण और एकाएक उग आई बस्तियां, पान गुटखा खा कर थूकते लोग और बदले मौसम से अनजानी पनपती बीमारियां केवल तकनीक और स्मार्ट फोन के सहारे इस सपने को पूरा नहीं किया जा सकता। लेकिन यह भी पक्का है जब स्मार्ट टीवी, स्मार्ट ग्रिड, स्मार्ट सिटी, स्मार्ट होम, स्मार्ट कार, स्मार्ट सिग्नल, स्मार्ट मशीनें जैसी चीजें अपना काम करना शुरू करेंगी तब इंसान को अपने दिमाग का इस्तेमाल करने की ज़रूरत ही नहीं होगी। तो आखिर इस दिमाग का करेगा क्या वो?

facebook Twitter google skype whatsapp

LIVE Now