होम »

ब्लॉग

स्थानीय खिलौनों की गरिमा लौटाकर संवरेगा स्‍वर्णिम भारत

September 22, 2020, 02:17 PM IST

बच्‍चों के खिलौनों, उनके निर्माण और व्‍यापार करने को भारत में अचानक ही तवज्‍जो मिलनी लगी है. केंद्र और राज्‍य सरकारें अपने प्रयासों में जुटी हुई हैं. ऐसा लग रहा है कि इस टॉयज इंडस्‍ट्री में बड़ा निवेश मिलेगा और सरकारें अपनी झोली भर लेंगी. स्‍थानीय खिलौना निर्माता, डिजाइनर्स, श्रमिक ... और भी पढ़ें

आंदोलन की जमीन कमजोर हुई तो जमीन के आंदोलन भी भटके हैं

September 22, 2020, 01:59 PM IST

प्रतिरोध की अभिव्यक्ति और संस्कृति उतनी ही पुरानी है जितना मानव सभ्यता का इतिहास लेकिन प्रतिरोध की प्रकृति व आयामों में जरूर समय की गति के अनुसार परिवर्तन आया है. प्रतिरोध का संबंध मानव की चेतना से है और चेतना के विकास के साथ-साथ प्रतिरोध का दायरा व तरीके भी ... और भी पढ़ें

क्‍या अब नौकरशाही भी सांप्रदायिक खांचों में बंटेगी?

September 22, 2020, 11:19 AM IST

सुशांत-रिया प्रकरण, कोरोना महामारी, चीन के साथ टकराव और अब कृषि सुधार को लेकर आए बिल के समानांतर देश में कुछ ऐसी भी घटनाएं हो रही हैं जिन पर बात भले ही उस गंभीरता से न की जा रही हो, लेकिन वे मामले न सिर्फ गंभीर हैं, बल्कि यदि समय ... और भी पढ़ें

माच के मंच से उठती महक

September 21, 2020, 06:52 PM IST

आत्मनिर्भरता की लौटती आवाज़ों के बीच जब सारा मुल्क (Country) जड़ों की अहमियत के आसपास अपना यकीन टटोल रहा है, तब यकायक विरासत (heritage) में मिली तहज़ीब (culture) के रंग रौशन होने लगते हैं. ये वे रंग हैं जिनमें मटियारे संस्कारों की इंसानी महक घुली है. कला के मंच (Stage ... और भी पढ़ें

शुक्र ग्रह पर जीवन : कितना हकीकत, कितना फसाना?

September 21, 2020, 06:18 PM IST

हाल ही में खगोलविदों को शुक्र ग्रह के तपते और जहरीले वायुमंडल में फॉस्फीन नामक एक गैस मिली है, जो वहां जीवन की मौजूदगी का संकेत दे रही है. इस खोज के बरक्स यह अनुमान लगाया जा रहा है कि हो सकता है शुक्र ग्रह के एसिडिक बादलों में सूक्ष्म ... और भी पढ़ें

जिन्होंने सदन की हर मर्यादा भंग की, वो उठा रहे हैं हरिवंश पर सवाल!

September 21, 2020, 06:15 PM IST

राज्य सभा में कल जो हुआ, उसकी शायद किसी ने कल्पना नहीं की थी. सदन का संचालन कर रहे राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश को घेरकर जिस तरह से विपक्षी सांसदों ने हंगामा किया, असंसदीय भाषा का इस्तेमाल किया और धमकी तक दे डाली, उसकी कोई कल्पना कर भी नहीं सकता ... और भी पढ़ें

बेरोजगारी का आलम जो भी हो... मिलने वाली नहीं है नौकरी

September 21, 2020, 01:27 PM IST

बढ़ती बेरोजगारी और भविष्य की आशंकाओं के बीच प्रयाग शुक्ल की `नौकरी कविता बहुत याद आती हैःनौकरियों और तबादलों के बहुत से किस्से हैं, सुने होंगे आपने भी कौन किसलिए हटा, हटाया गया कई मजेदार हैं, कई ऐसे भी कि बस इतने भर से चली गई उसकी नौकरी जानकर अचरज हो किस्से कई ये भी हैं कि ... और भी पढ़ें

भारत के संविधान से क्यों विलुप्त हुए गांव?

September 21, 2020, 12:53 PM IST

स्वतंत्र भारत के विकास की दारुण कथा में सबसे निरीह पात्र हैं इसके गाँव और पंचायत व्यवस्था. जिन्हें ढोल बना दिया गया है. जिसे सभी राजनीतिक विचारधाराएँ अपनी अपनी तरह से बजाती है. जब भारत का संविधान बन रहा था, तब ज्वलंत बहस यह थी कि भारत की शासन व्यवस्था ... और भी पढ़ें

एक सरकारी स्कूल बना बच्चों और परिजनों के संबंधों का सेतु

September 21, 2020, 10:13 AM IST

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई से सटा है ठाणे. ठाणे जिला मुख्यालय से लगभग 90 किलोमीटर दूर तहसील मुरबाड के अंतर्गत जिला परिषद मराठी प्राथमिक स्कूल-टोकावडे के अनेक मजदूर परिवार के बच्चों की दिनचर्या धीरे-धीरे बदल रही है. अब बच्चे सुबह सोने से उठने के बाद उनके अपने परिजनों को 'नमस्ते' ... और भी पढ़ें

नए कृषि कानून से किसानों को कितना फायदा और कितना नुकसान

September 21, 2020, 09:49 AM IST

भारत में कृषि सुधार की मांग वर्षों से की जा रही थी. वर्तमान की मोदी सरकार ने किसान, कृषि के सुधार हेतु संसद में तीन विधेयकों को पारित किया है. संसद में बोलते हुए भाजपा राज्यसभा सांसद भूपिंदर यादव ने कहा कि ये तीनों विधेयक कृषि क्षेत्र के सुधार हेतु ... और भी पढ़ें

कोई डिप्रेशन में दिखे तो आप कंधे पर हाथ रख कह सकते हैं- ये वक्त भी गुजर जायेगा

September 20, 2020, 05:14 PM IST

किसी ने जहर (poison) खा लिया, कोई फांसी लगाकर (by hanging) मर गया, कोई बहुमंजिला इमारत से कूद पड़ा, तालाब में डूब मरा तो किसी ने ट्रेन (train) से कटकर जान दे दी. रोज-ब-रोज ऐसी मौतों (deaths) की लंबी होती जाती फेहरिस्त उन लोगों की है, जो जिंदगी की मुश्किलात ... और भी पढ़ें

ड्रग्स जेहाद का मुकाबला करने के लिए मोदी सरकार ने कसी कमर!

September 20, 2020, 02:01 PM IST

सीमा सुरक्षा बल यानी बीएसएफ के जवानों ने आज तड़के उन घुसपैठियों के मंसूबों को नाकाम कर दिया, जो पाकिस्तान से हेरोइन और हथियार लेकर भारत में घुसने की ताक में थे. जम्मू सेक्टर में बीएसएफ की बुधवार चौकी के आसपास ये कोशिश की जा रही थी, जब हाथ में ... और भी पढ़ें

किसानों की आमदनी बढ़ेगी, तो इसमें किसे और क्यों ऐतराज़ है?

September 19, 2020, 07:42 PM IST

अगर आप दिल्ली-एनसीआर में रहते हैं, तो आपके घर के आसपास की मंडी या गली-मोहल्लों के ठेलों पर आपको टमाटर 80 रुपये किलो (थोड़ा कम या ज़्यादा) मिल रहा होगा. इसी तरह प्याज़ 40-45 रुपये किलो और आलू भी इसी क़ीमत पर मिल रहा है. ये तीनों ही जिस बेसिक ... और भी पढ़ें

बावरा मन: भारतीय सिनेमा की पहली फेमिनिस्ट हीरोइन देविका रानी

September 19, 2020, 11:07 AM IST

पूरे लॉकडाउन में एक घर बड़ी चर्चा में रहा. ये घर था मशहूर अभिनेत्री कंगना रनौत का हिमाचल प्रदेश वाला आलीशान महलनुमा निवास. वैसे तो कलाकार की पहचान उसके काम से होती है, लेकिन कलाकार के घर से उसकी पहचान ज़रूर झलकती है. लॉकडाउन में मैं भी घर में बैठी क्या करती, ... और भी पढ़ें

ध्रुपद संस्थान में जो हो रहा है, उसके लिए कहीं हम भी तो जिम्मेदार नहीं?

September 19, 2020, 09:55 AM IST

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के बाहरी इलाके में स्थापित ध्रुपद संस्थान (Dhrupad Sansthan) पिछले 15-20 दिन से चर्चा में बना हुआ है. वैसे देश और दुनिया में यह संस्थान चर्चित तो पहले से भी रहा है. लेकिन पहले और अब में फर्क है. पहले यह सकारात्मक संगीतिक कारणों चर्चा ... और भी पढ़ें

LIVE Now

    फोटो

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें

    टॉप स्टोरीज