अपना शहर चुनें

  • No filtered items

राज्य

होम »

ब्लॉग

World  Music Day: चांद ने भी आज संगीत का दामन थामा है

June 21, 2022, 11:24 AM IST

कहा जाता है कि जब तानसेन दीपक राग गाते थे तो दीये जल जाते थे और जब वे राग मेघ मल्‍हार गाते थे तो बारिश होने लगती थी. कहा तो यहां तक जाता है कि उनके गायकी सुन पत्‍थर पिघल जाते थे, हिंसक जंगली जानवर शांत हो जाया करते थे. ... और भी पढ़ें

International Yoga Day 2022: तन ही नहीं मन को भी साधता है योग

June 21, 2022, 08:32 AM IST

अनादिकाल से मनुष्य प्रकृति की सुरम्य गोद में समाधिस्थ होकर स्वयं को योग साधना में लगाकर तन और मन को शांत कर अलौकिक तृप्ति का अनुभव कर रहा है. योग ने उसका जीवन संवारा है. योग आज का विषय नहीं वरन् सदियों से चला आ रहा एक सत्य है जिससे ... और भी पढ़ें

Agnipath Scheme: भारतीय युवाओं के लिए स्वर्णिम अवसर

June 20, 2022, 09:56 PM IST

मेरी पैदाइश उत्तरी केरल के एक गांव होसदुर्ग की है. बचपन से ही मेरी इच्छा सेना में जाने की थी पर मुझे यह बताने वाला कोई नहीं था कि मैं किस सेना में जाऊं या क्या पढ़ाई करूं कि सेना में जाने का मेरा लक्ष्य पूरा हो सके. मैं अपनी ... और भी पढ़ें

बुद्ध के देश को नहीं चाहिए अमेरिका की बंदूक संस्कृति

June 20, 2022, 09:05 PM IST

'बंदूक का बाजार बहुत तेजी से बढ़ रहा है. एक राष्ट्र के रूप में हमें पूछना होगा कि आप बंदूक लॉबी के खिलाफ कब खड़े होंगे और आपको इसके लिए क्या होगा? यह सवाल आज इसलिए कि परिजन अपने बच्चों को हिंसा के शिकार होते हुए फिर कभी ... और भी पढ़ें

जब राहुल के उलट, बिना हंगामे के जांच एजेंसी के सामने पेश हुए थे मोदी और शाह

June 20, 2022, 05:52 PM IST

चार दिन के आराम के बाद राहुल गांधी एक बार फिर से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों के सामने हाजिर हुए हैं. माना ये जा रहा था कि चार दिन बाद कांग्रेस के कार्यकर्ता हल्ले-हंगामे से बाज आ जाएंगे, लेकिन ये उम्मीद बेमानी साबित हुई. तेरह से पंद्रह जून तक ... और भी पढ़ें

भारत की खोज: लाल झंडा वाले दंडी संन्यासी सहजानंद सरस्वती

June 20, 2022, 10:53 AM IST

1948 की गर्मियों में बिहार असेंबली की बैठक रांची में हो रही थी. रांची तब बिहार का समर कैपिटल हुआ करता था. मुख्यमंत्री श्री बाबू, डिप्टी सीएम अनुग्रह बाबू समेत सारे दिग्गज नेता सदन में मौजूद थे. पर अधिकतर एमएलए दर्शक दीर्घा की ओर देख रहे थे, जहां बैठे एक ... और भी पढ़ें

बावरा मन: बगावत की इमारत पर प्यारा तिरंगा

June 19, 2022, 10:20 AM IST

लखनऊ रेजीडेंसी में हर रोज़ सैर करने वालों की एक छोटी सी जमात है. उस जमात में मैं भी शामिल हूं. हर शाम लखनऊ रेजिडेंसी के इस परिसर में घूमते हुए जब मैं वहां अपना प्यारा तिरंगा झंडा लहरता हुआ देखती हूं, मन ही मन सोचती हूं, "कितनी भाग्यशाली हूं ... और भी पढ़ें

Agnipath Protest: 'छात्र' राजनीतिक मोहरा बनने से बचें, 'अग्निपथ' में कई फायदे

June 17, 2022, 10:00 PM IST

जब से रक्षा मंत्रलाय ने सेना के तीनों बलों के लिए 'अग्निपथ योजना' की घोषणा की है, पूरा बिहार जल रहा है. इस आग में जल रही है हमारी और आपकी गाढ़ी कमाई से निर्मित भारतीय रेल, जिसपर बाकी राज्यों के मुक़ाबले बिहार के लोग कुछ ज़्यादा ही हक जताते ... और भी पढ़ें

‘अग्निपथ देश की जरूरत, विरोध करने वाले युवा ठंडे दिमाग से सोचें

June 17, 2022, 07:31 PM IST

भारत सरकार की ओर से 14 जून को सेना में भरती की नई प्रक्रिया की शुरुआत करते हुए घोषित की गई ‘अग्निपथ योजना के सामने आने के चंद घंटों बाद ही उसका विरोध शुरू हो गया. वह विरोध कहां तक जा पहुंचा है यह पिछले तीन दिनों से पूरे देश ... और भी पढ़ें

बीसीसीआई और फैंस के लिए आया 'अभी नहीं तो कभी नहीं वाला वक्त'?

June 17, 2022, 01:15 PM IST

क्रिकेट में टाइमिंग की अहमियत सबसे शानदार होती है. मतलब कि सही वक्त पर सही शॉट खेलना. इसलिए दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाज़ों में सिर्फ एक ही समानता होती है और वो ये कि उनकी टाइमिंग का कोई जोड़ नहीं होता है. बीसीसीआई के मौजूदा अधिकारियों ने भले ही फर्स्ट क्लास ... और भी पढ़ें

याद शहरयार की... इस शहर में हर शख़्स परेशान सा क्यों है

June 16, 2022, 07:37 PM IST

ये क्या जगह है दोस्तों, ये कौन सा दयार है... साहित्य और सिनेमा से वाबस्ता अधिकांश लोग ये जानते हैं कि क्लासिक फि़ल्म 'उमराव जान' के लिए मक़बूल शायर शहरयार ने ऐसी पुरकशिश ग़ज़लें लिखीं. लेकिन ये कम लोग जानते हैं कि मुज़फ्फर अली को यह फि़ल्म बनाने का मशविरा ... और भी पढ़ें

नर्मदा के दूषित होते जल को कौन बचाएगा?

June 15, 2022, 07:43 PM IST

"जब तक हम इस विशाल देश को उसकी समूची खूबियों के साथ नहीं देखेंगे तब तक हमारा उसके प्रति प्रेम शाब्दिक ही होगा. परिक्रमा तीर्थाटन तथा पर्यटन से हम अपने देश से जुड़ते हैं. प्रकृति प्रेम देश प्रेम की पहली सीढ़ी है."अमृतलाल बेगड़ ने अपनी तीसरी किताब ‘तीरे-तीरे नर्मदा में ... और भी पढ़ें

रुख हवाओं का जिधर का है, उधर के हम हैं

June 15, 2022, 07:34 PM IST

जगजीत सिंह शायर के लफ्ज़ों को आवाज दे रहे हैं, दार्शनिक अंदाज़ में कहते हैं 'अपनी मर्जी़ से कहॉं अपने सफ़र के हम हैं, रुख़ हवाओं का जिधर का है उधर के हम हैं'. हवाओं में सचमुच वो ताकत है जो दुनिया को अपने हिसाब से मूव करा सके. हवा ... और भी पढ़ें

कबीर जयंती: हिन्‍दूू-मुस्लिम दोनों लड़ मरे, मर्म कोई जान न पाया

June 14, 2022, 09:34 AM IST

कबीर संत हैं. कबीर मध्यकालीन भक्ति आंदोलन के अग्रणी कवि हैं. वे एक पंथ के आधार हैं. वे ऐसे दृष्‍टता हैं जिनकी वाणी को सुन आज भी हैरत होती है कि जो आज कहने में हिम्‍मत नहीं होती वह उस समय में कबीर कैसे कह पाए? कह पाए तो ठीक, ... और भी पढ़ें

जन नाट्य मंच: जनता के थिएटर के पचास साल

June 13, 2022, 01:20 PM IST

पारंपरिक रंगमंच और सभागारों से इतर चौक-चौराहे, गली-मोहल्ले, झुग्गी-झोपड़ी, हड़ताल-आंदोलन में, फैक्ट्रियों के आस-पास या कॉलेज-विश्वविद्यालय में जनता से ‘आओ आओ, नाटक देखो, नाटक देखो... की गुहार से शुरु हो कर समकालीन समय और सामाजिक-राजनीतिक सवालों से मुठभेड़ की शैली अब नुक्कड़ नाटकों की विशिष्ट पहचान बन चुकी है. आजाद ... और भी पढ़ें

LIVE Now

    फोटो

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें

    टॉप स्टोरीज