होम »

ब्लॉग

सावरकर के आलोचकों ने आधे-अधूरे सच बेचे!

May 28, 2021, 01:07 PM IST

भारतीय राजनीति में हिंदुत्व और सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के एक केंद्रीय तत्व बन जाने और भारतीय जनता पार्टी के सबसे प्रभावशाली राजनीतिक दल के रूप में उभरने के साथ ही विविध प्रश्नों पर विनायक दामोदर सावरकर के विचार सार्वजनिक चर्चा के केंद्र में आते रहे हैं.दुर्भाग्य से, सावरकर के साथ अन्याय ... और भी पढ़ें

Opinion: कोरोनाकाल में भी बदलने को तैयार नहीं 'भोज-खौका' समाज

May 27, 2021, 11:52 AM IST

कंधा देने कोई नहीं आया, मगर भोज खाने के लिए भीड़ लग गई. यह कहानी बिहार के अररिया जिले के एक गांव मधुलता की है और मुमकिन है आपलोगों की निगाह से भी गुजरी होगी. एक किशोरी पीपीई किट पहनकर अकेले अपनी मां का शव दफना रही थी और वह ... और भी पढ़ें

चिकित्सा पद्धतियों में लड़ाई का फिलहाल कोई तुक नहीं!

May 26, 2021, 07:33 PM IST

स्वास्थ्य सबसे अच्छा वरदान है. गौतम बुद्धगौतम बुद्ध की कही इस बात को साधने में स्वास्थ​कर्मियों का अतुलनीय योगदान है. पर चिकित्सा पद्धतियों में इन दिनों आपस में घमासान छिड़ा है. खासकर आयुर्वेद और एलोपैथिक पद्धति को लेकर जो सीधा विवाद सामने आ खड़ा हुआ है और जिस तरह से उसे ... और भी पढ़ें

बहस: कविता में 'छह साल की छोकरी और आम की टोकरी' को हम कैसे देखें?

May 26, 2021, 12:15 PM IST

एनसीईआरटी (राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान व प्रशिक्षण परिषद) की कक्षा पहली की पाठ्यपुस्तक में एक चौदह साल पुरानी कविता 'आम की टोकरी' को लेकर पिछले कुछ दिनों से बहस चल रही है. कविता का विरोध करने वाले पक्ष को लगता है कि इसमें 'छोकरी', 'आम की टोकरी' और 'चूसना' जैसे शब्द ... और भी पढ़ें

सीबीआई का अगला डायरेक्टर कौन? नहीं सुलझी है अभी तक ये गुत्थी

May 25, 2021, 07:28 PM IST

सीबीआई का अगला डायरेक्टर कौन होगा, कल शाम से ही ये सवाल पूछा जा रहा है. लेकिन अभी तक इस महत्वपूर्ण सवाल का जवाब नहीं मिल पाया है. कल शाम उस चयन समिति की बैठक हुई थी, जिसकी अध्यक्षता पीएम करते हैं और सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश और लोकसभा में सबसे ... और भी पढ़ें

सुशील कुमार...एक चैंपियन पहलवान या गुनहगार?

May 25, 2021, 06:25 PM IST

नई दिल्ली. भारतीय खेलों के इतिहास में पहलवान सुशील कुमार (Sushil Kumar) की कहानी प्रेरणा का स्त्रोत थी लेकिन अब अफसोस की बात है कि उनकी कहानी को चेतावनी के तौर युवाओं को सुनाई जायेगी. यही सबसे बड़ी विडंबना है. सुशील की तरह मैदान में कामयाबी हासिल करना लेकिन मैदान ... और भी पढ़ें

‘कम्युनल नहीं, लक्षद्वीप के लिए ‘डेवलपमेंट एजेंडा है मोदी सरकार का

May 25, 2021, 06:20 PM IST

लक्षद्वीप को लेकर पिछले कुछ दिनों से हंगामा मचा हुआ है, लक्षद्वीप से ज्यादा केरल में. केरल की राजनीति में कांग्रेस और वामपंथी पार्टियां आमने-सामने हैं, लेकिन लक्षद्वीप के मामले में एक साथ, क्योंकि उन दोनों के साझा निशाने पर है बीजेपी. लक्षद्वीप के बहाने मोदी सरकार पर हमला करने की कोशिश की ... और भी पढ़ें

महामारी का एक नतीजा एंग्ज़ाइटी

May 25, 2021, 03:47 PM IST

देश में कोरोना फैलाव की रफ्तार कुछ धीमी पड़ रही है. हालांकि इस समय भी रोज़ दो लाख से ज़्यादा नए मरीज आ रहे हैं. फिर भी दूसरी लहर में जहां रोज़ाना संक्रमितों का आंकड़ा चार लाख पार गया था उसके मुकाबले आज की स्थिति राहत भरी ही कही जाएगी. ... और भी पढ़ें

रंग भीनी यादों में सौंधी सी महक

May 25, 2021, 01:04 PM IST

आओ दुखते पैरों को सहलायें .....छाया बैठें, बीती यात्रायें दोहराएं ....'तार सप्तक' के कवि श्रीकांत जोशी का यह शब्द-बिम्ब यादों के दरीचे पर दस्तक देता है. वक्त के साथ बीत गए उन लम्हों को पुकारता है ,जो जीवन की यात्रा में कभी ख़ुशी, कभी खरोचों का चेहरा बन आते रहे-जाते ... और भी पढ़ें

क्या कोरोना से डॉक्टरों की मौत की ज़िम्मेदारी लेंगी सरकारें? 

May 25, 2021, 12:39 PM IST

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन यानी आईएमए ने 22 मई को बयान जारी कर बताया कि देश भर में अभी तक 420 डॉक्टरों की जान कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमित होने की वजह से गई है. आईएमए के मुताबिक़ कोविड-19 पहली लहर ने भी 382 चिकित्सकों को मौत की नींद सुला ... और भी पढ़ें

West Bengal: टीएमसी अपने नेताओं की गिरफ्तारी से बेचैन, भाजपा भी भीतर से परेशान

May 24, 2021, 08:50 PM IST

पश्चिम बंगाल में अपने दो मंत्रियों और एक विधायक की सीबीआई गिरफ्तारी से तृणमूल कांग्रेस थोड़ी मुश्किल में आ गई है. पहले तृणमूल और फिर भाजपा से इस्तीफा देने वाले कोलकाता के पूर्व मेयर शोभन चटर्जी भी गिरफ्तार हैं. इससे टीएमसी की बेचैनी स्वाभाविक है. लेकिन यह मामला प्रदेश भाजपा ... और भी पढ़ें

IIT छात्रों की सोशल इंजीनियरिंग, वंचित बच्चों के लिए बनाया एजुकेशन ब्रिज

May 24, 2021, 10:59 AM IST

कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचने के लिए जब आस-पड़ोस के कई परिवार एक-दूसरे से कट रहे हैं, तब आईआईटी (दी इंडियन इंस्टीटूट्स ऑफ टेक्नोलॉजी) कानपुर के छात्रों ने अपने कैंपस से बाहर वंचित परिवारों के बच्चों को शिक्षा की मुख्यधारा में बनाए रखने के लिए एक ब्रिज तैयार किया है.कोरोना ... और भी पढ़ें

Opinion: लोकतांत्रिक व्यवस्था में लोक सेवक का रवैया आखिर दमनकारी क्यों है?

May 23, 2021, 02:42 PM IST

पहले पश्चिमी त्रिपुरा और अब सूरजपुर में जिला दंडाधिकारी (मजिस्ट्रेट) अर्थात कलेक्टर द्वारा आमजन के साथ की गई मारपीट के बाद यह सवाल स्वाभाविक है कि हम आजाद होने के बाद भी अंग्रेजों की बनाई दमनकारी व्यवस्था को जारी क्यों रखे हुए हैं? कार्यपालिका जिस तरह से जवाबदेही से बच ... और भी पढ़ें

Opinion:कोरोना ट्रैप में फंसे मध्‍यप्रदेश की राजनीति में हनी ट्रैप की चर्चा!

May 23, 2021, 11:41 AM IST

कोरोना महामारी के कारण जिस तरह से लोगों की जान जा रही है और जिस तरह लोग उससे पीड़ित हैं, उसके चलते कायदे से तो इन दिनों सारा ध्‍यान कोरोना से निपटने के उपायों पर ही होना चाहिए. लेकिन ‘अजब-गजब मध्‍यप्रदेश में कुछ ‘अजब-गजब न हो तो ‘अजब-गजब का तमगा ... और भी पढ़ें

सब्सिडी की राजनीति, हरित क्रांति और शास्त्री जी का वामपंथियों द्वारा घोर विरोध

May 23, 2021, 08:50 AM IST

पटना. आपको पता है कि हर वर्ष रबी और खरीफ मौसम से पहले खादों की कीमत को लेकर किसान संगठन क्यों शोर-शराबा क्यों करते हैं? अगर इन उर्वरकों का इस्तेमाल न हो तो क्या होगा? क्या इन रासायनिक उर्वरकों के बगैर भारतीय कृषि संभव नहीं है? उत्तर होगा, नहीं.अगर भारतीय ... और भी पढ़ें

LIVE Now

    फोटो

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें

    टॉप स्टोरीज