लाइव टीवी
होम »

ब्लॉग

Analysis: पाकिस्तान में गहराता कोरोना संकट और सेना द्वारा सरकार का विस्थापन

April 29, 2020, 12:25 PM IST

पाकिस्तान की नीति निर्माण और उसके कार्यपालन में हमेशा से एक द्वैध देखने में आता रहा है. पाकिस्तान की सरकार और सेना के बीच प्रधानता को लेकर सतत चलने वाले संघर्ष में अक्सर इस देश की जनता के हितों को दरकिनार होते देखा गया है. कोरोना वायरस एक वैश्विक आपदा ... और भी पढ़ें

OPINION: कोरोना वायरस को लेकर बहुत दूर की सोची स्वास्थ्य मंत्रालय ने

April 28, 2020, 06:21 PM IST

कोरोना वायरस के मद्देनज़र केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सही समय पर दूर की बात सोच ली है. मंत्रालय ने निर्देश जारी कर दिए हैं कि जिन मरीजों में कोरोना के हल्के लक्षण दिखें वे अपने घर पर रहकर ही क्वारंटाइन यानी अपने घर पर ही अलगाव में रह सकते हैं. ... और भी पढ़ें

कोरोना संकट के बीच PM ने वरिष्ठ नेताओं से पूछी कुशलक्षेम, तो उनमें आई नई ऊर्जा

April 28, 2020, 03:33 PM IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काम करने का अंदाज सबसे अलग है. यह बात अक्सर देखने को मिलती है. कोरोना के इस संकट में भी प्रधानमंत्री मोदी एक ओर जहां लगातार काम कर रहे हैं, देश के लिए बड़े फैसले ले रहे हैं, वहीं उन्हें देश की उस पीढ़ी की चिंता ... और भी पढ़ें

कोरोना आफत को अवसर में बदलने की सलाह दे रहे हैं PM मोदी, राज्य हैं तैयार?

April 28, 2020, 01:55 PM IST

अगर रिफॉर्म करने की दिशा में राज्य आगे बढ़ते हैं, तो इस संकट को हम बहुत बड़े अवसर में बदल सकते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ये बात सोमवार को तमाम राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कोरोना महामारी (Covid-19 Pandemic) के संदर्भ में उठाये जा रहे ... और भी पढ़ें

फिल्म संवादः बाजार के 'जलसाघर' में संस्कृति तलाशते सत्यजीत रे

April 28, 2020, 12:41 PM IST

धर्मेंद्र सिंह, भारतीय पुलिस सेवाजलसा घर (1958) सत्यजीत रे की चौथी फ़िल्म थी. 1955 में उन्होंने पाथेर पांचाली बनायी. यह फ़िल्म विभूतिभूषण बंदोपाध्याय के इसी नाम के प्रसिद्ध उपन्यास पर आधारित थी. 1956 में अपराजितो के निर्माण के साथ वह विश्व सिनेमा के क्षितिज पर अपनी गंभीर आमद दर्ज करा ... और भी पढ़ें

तिरंगा साम्प्रदायिक प्रतीक नहीं है!

April 27, 2020, 05:15 PM IST

भारत का यह दुर्भाग्य यह रहा है कि इसका विभाजन हुआ और उस विभाजन को लगातार बरकरार रखने की कोशिशें आज भी हो रही हैं. विभाजन का सबसे बड़ा आधार साम्प्रदायिकता है. मुल्क का बड़ा अघाया तबका भय बना कर सत्ता चलाने के लिए साम्प्रदायिकता की आग को जलाए रखता ... और भी पढ़ें

OPINION: क्यों न राशन दुकानों पर उसी गांव के किसानों की उपज बांटी जाए

April 27, 2020, 02:20 PM IST

बिहार में 22 मार्च को ही लॉकडाउन की घोषणा हो गई थी. राज्य की गरीब और रोज मेहनत करके कमाने-खाने वाली आबादी की मुसीबतों का अंदाजा लगाते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उसी रोज घोषणा की थी कि बिहार के सभी राशन कार्डधारियों को एक महीने का मुफ्त राशन मिलेगा, ... और भी पढ़ें

OPINION: लॉकडाउन में आदिवासी और उनकी मुसीबतें

April 27, 2020, 11:23 AM IST

कोरोना संक्रमण (COVID-19) के कारण लॉकडाउन देश और राज्यों में सबसे ज्यादा परेशानी में आदिवासी समुदाय के लोग हैं. इनमें से ज्यादातर कभी खेतों में तो कभी शहरों में मजदूरी करते हुए जीवनयापन करने वाले हैं. इनके पास न तो खेती वाली बड़ी जमीनें हैं और न ही रोजगार का कोई ... और भी पढ़ें

किस्सागोई: कई साल के संघर्ष के बाद उस्ताद अमजद अली ने हासिल किया मुकाम

April 25, 2020, 03:57 PM IST

कलाकार बनने के लिए एक बहुत लंबा रास्ता होता है. बहुत संघर्ष होते हैं. समाज को ये समझने की जरूरत है कि एक संगीतकार बनता कैसे हैं. उसे अपने संघर्ष के दिनों में सरकार से कोई मदद नहीं मिलती. सरकार को तो पता तक नहीं होता कि कौन सा कलाकार ... और भी पढ़ें

OPINION: कोविड-19 के सबक: आत्मनिर्भर बनें, गैरबराबरी खत्म करें

April 24, 2020, 02:15 PM IST

कोरोना काल में ‘राष्ट्रीय पंचायत राज दिवस 2020 और ज्यादा महत्वपूर्ण संदेश लेकर आया है. देश के पंचायत प्रमुखों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह कहा भी कि कोविड 19 का सबक यही है कि हमें आत्मनिर्भर बनना है. इसके लिए उन्होंने ई-स्वराज्य और पंचायतों में स्वामित्व ... और भी पढ़ें

COVID-19: इंतजार भरे उन 36 घंटों की तकलीफ बीमारी से भी ज्यादा खौफनाक....

April 23, 2020, 04:07 PM IST

लखनऊ. जब पूरा विश्व महामारी (Pandemic Coronavirus) यानी COVID-19 से जूझ रहा है. संक्रमण से बचाव के लिए देशव्यापी लॉकडाउन है. पूरी सरकारी मशीनरी इस आपदा से निपटने के लिए पूरी शिद्दत से जूझ रही है. ऐसे में एक महानगर में प्रशासन के जिम्मेदार पद पर बैठी एक अधिकारी पूरे ... और भी पढ़ें

ब्रह्मांड को बांधे रखने वाली शक्तियां

April 23, 2020, 10:38 AM IST

‘ब्रह्माण्ड (यूनिवर्स) का एक ऐसा शब्द है, जिसके अंदर सबकुछ समाहित है. सुप्रसिद्ध ब्रह्मांडविज्ञानी (कोस्मोलोजिस्ट) सर फ्रेड होयल के मुताबिक, ब्रह्मांड सबकुछ है: जीवंत और निर्जीव वस्तुएं, अणु-परमाणु और आकाशगंगाएँ, आध्यात्मिक और भौतिक तंत्र, स्वर्ग और नर्क (यदि कोई है), सबकुछ समेट लेना ब्रह्मांड का विशिष्ट गुणधर्म है. ब्रह्मांड के ... और भी पढ़ें

कोरोना वायरस: जादुई उपाय नहीं लॉकडाउन, संक्रमण का दूसरा चक्र है वास्तविक खतरा

April 22, 2020, 10:45 PM IST

भारत में लॉकडाउन को बढ़ाकर 3 मई तक कर दिया गया है. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन के अनुसार, भारत में लॉकडाउन सभी देशों में सबसे ज़्यादा सख़्त रहा है. अब लोग यह सोचने लगे हैं कि स्थिति कब सामान्य होगी. कुछ मुट्ठी भर विशेषज्ञों को छोड़ दें, तो बहुत ... और भी पढ़ें

कोरोना के बाद का भारत कैसा हो?

April 22, 2020, 12:08 PM IST

संभव है कि कोरोना-कोविद19 का इलाज़ आते ही, देश-दुनिया अपने काम में फिर से जुट जायेगी. वही जीवन शैली, वही पर्यावरण, गंगा-यमुना नदी विरोधी विकास, वही भेदभाव, श्रमिकों के साथ फिर वही शोषण, वही कट्टरता-साम्प्रदायिकता, जातिवाद, लैंगिक हिंसा आदि इस नव-बर्बर समाज में बने रहेंगे. लेकिन अगर समाज में प्रकृति ... और भी पढ़ें

OPINION: लहूलुहान इन्सानियत और मुसलमानों का इम्तिहान

April 21, 2020, 06:14 PM IST

(आसिफ खान)आदमी ने हर दौर में मुसीबतों का सामना किया है और हर दौर में अपने हौसले, अपनी बुद्धिमानी और अपनी क्षमताओं से उन मुसीबतों को न सिर्फ बुरी तरह हराया बल्कि भविष्य में उनके दोबारा सिर उठाने की संभावनाओं के ख़िलाफ़ भी भरपूर तैयारी की और कई मर्तबा उन ... और भी पढ़ें

LIVE Now

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    खाते-पीते वक़्त सावधान रहें। लापरवाही बीमारी की वजह बन सकती है। फ़ौरी तौर पर मज़े लेने की अपनी प्रवृत्ति पर क़ाबू रखें और मनोरंजन पर ज़रूरत से ज़्यादा ख़र्च करने से बचें। आपके परिवार वाले किसी छोटी-सी बात को लेकर राई का पहाड़ बना सकते हैं। ज़िन्दगी की भाग-दौड़ में आप ख़ुद को ख़ुशनसीब पाएंगे, क्योंकि आपका हमदम वाक़ई सबसे बेहतरीन है। कार्यक्षेत्र में परिस्थितियाँ आपके पक्ष में लगती हैं। आपका आकर्षक और चुम्बकीय व्यक्तित्व सभी के दिलों को अपनी तरफ़ खींचेगा। जब आपका जीवनसाथी जब सारे मनमुटाव भुलाकर प्यार के साथ आपके पास फिर आएगा, तो जीवन और भी सुन्दर लगेगा। अपने प्रियजनों के साथ फ़िल्म देखना बढ़िया और मज़ेदार रहने वाला है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    corona virus btn
    corona virus btn
    Loading