अपना शहर चुनें

  • No filtered items

राज्य

होम »

ब्लॉग

Covid-19: जमींदार की तरह अहंकार जता रहे हैं विकसित देश

May 04, 2022, 11:19 AM IST

भारत सहित कुछ अन्य देशों के महागठबंधन ने कोरोना उपचार से संबंधित सभी बौद्धिक संपदाओं को स्थगित करने के प्रस्ताव दिया है. सवाल है कि कितना अनिवार्य है यह प्रस्ताव और इसे लेकर क्यों उलझन में पड़ गए दुनिया के अमीर देश.बात दो सदी पुरानी है. फ्रांस में भयंकर अकाल ... और भी पढ़ें

धर्म के संकुचित दायरों से बाहर निकलें

May 03, 2022, 03:24 PM IST

हिन्दी साहित्य के भक्तिकाल में निर्गुण भक्ति शाखा के श्रेष्ठ कवि कबीरदास जी ने सैकड़ों साल पहले बाह्य आडम्बरों का विरोध किया था. समाज में अन्धविश्वास का बोलबाला था. जाति-पाति, मजहब के नाम पर समाज बॅंटा हुआ था. अपने धर्म पर अड़कर चलना व्यक्ति की सोच में शामिल था. कबीर ... और भी पढ़ें

क्या जात-पात तोड़कर राजनीति कर सकेंगे प्रशांत किशोर या ...

May 02, 2022, 05:41 PM IST

पानी में रहकर तैरना और किसी को पानी के बाहर रहकर तैरने का निर्देश देना; दोनों अलग-अलग बातें हैं. आप दोनों काम साथ-साथ नहीं कर सकते, संभवतः राजनीति के घाघ आपको ऐसा करने की इजाज़त भी नहीं देंगे. अभी तक अपने वाक-चातुर्य और रणनीति के लिए जाने-जाने वाले ... और भी पढ़ें

भारत की खोज: गांधी का गंगौर और आत्मनिर्भर भारत

May 02, 2022, 08:08 AM IST

कदम अंग्रेज कलकत्ते से अब दिल्ली में धरते हैं. तिजारत देख ली, देखें, हुकूमत कैसी करते हैं. - अकबर इलाहाबादीवो कंसार केवल कंसार नहीं था. वो गाँव की आत्मनिर्भरता का प्रतीक था. कुम्हार का आवां, तेली की घानी, कमार की आरी, जुलाहे का करघा और घर-घर में चलने वाला चरखा और तकली ... और भी पढ़ें

मजदूर दिवस: जिस दिन सोए देर तक, भूखा रहे फकीर

May 01, 2022, 12:02 PM IST

हम मेहनतकश जग वालों से, जब अपना हिस्‍सा मांगेंगे इक खेत नहीं, इक देश नहीं, हम सारी दुनिया मांगेंगे.मज़दूरों की बात करना हो या मज़दूर दिवस की, इससे अच्‍छी लाइनें नहीं मिलतीं. फैज़ अहमद फैज़ की ये लाइनें मज़दूरों के हक की बात पूरे दमखम से रखती हैं. मज़दूरों की और ... और भी पढ़ें

संजय उवाच: रवींद्र जडेजा ने छोड़ी कप्तानी या धोनी का कद पड़ गया भारी?

May 01, 2022, 11:01 AM IST

अनहोनी को होनी करने वाले महेंद्र सिंह धोनी आखिर आज से फिर चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी संभालेंगे. मुकाबला सनराइजर्स हैदराबाद से है, जो पॉइंट्स टेबल मे फिलहाल टॉप चार में है और चेन्नई दस टीमों की लीग मे नवें स्थान पर. क्या धोनी की कप्तानी का मिडास टच चेन्नई ... और भी पढ़ें

‘गर्म हवा के सलीम मिर्जा, एम एस सथ्यू की यादों में बलराज साहनी

May 01, 2022, 07:20 AM IST

हिंदुस्तान में नव-यथार्थवादी सिनेमा की नींव रखने वाले अभिनेता बलराज साहनी (1913-1973) का आज 109वां जन्मदिन है. आजादी से पहले वे मुंबई में इप्टा (इंडियन पीपुल्स थिएटर एसोसिएशन) के कलाकार थे. फिर ख्वाजा मोहम्मद अब्बास के निर्देशन में बनी फिल्म 'धरती के लाल' (1946) से उनके अभिनय की चर्चा होने ... और भी पढ़ें

'बर्तन-भांडों' की याद में…

April 30, 2022, 07:55 AM IST

बच्चे अब नन्हें नहीं रहे थे, वो आत्मनिर्भर थे. वो इतने तो बड़े हो ही गए थे कि उन्हें अब हर वक्त मां की ज़रूरत नहीं थी. इसलिए इस बार के अपने दो साल के विदेश प्रवास में मैं सिर्फ़ घर ही नहीं संभालूंगी बल्कि नौकरी भी करूंगी, ये दृण ... और भी पढ़ें

फसल विविधता कम होना खतरे की घंटी

April 29, 2022, 04:19 PM IST

मध्य प्रदेश सरकार को उन्हीं नगदी फसल गेहूं और धान ने चिंता में डाल दिया है जिनकी दम पर वह लगातार पांच साल कृषि कर्मण अवार्ड लेती रही. सरकार अब इस बात पर चिंतित है कि प्रदेश की कृषि विविधता को गंभीर ख़तरा पैदा हो गया है. सत्तर के दशक ... और भी पढ़ें

International Dance Day: जीवन भी एक नृत्‍य है

April 29, 2022, 02:56 PM IST

गब्‍बर ने धमकी दी है 'जब तक तेरे पांव चलेंगे तेरे यार की सांस चलेगी.' सो बसंती को हर हाल में नाचना है, कांच के टुकडों पर भी डांस करना है ताकि अपने प्रेमी वीरू की जान बचाई जा सके. 'टूट जाए पायल तो क्‍या, पांव हो जाएं घायल तो ... और भी पढ़ें

बहुत संवेदनशील होते हैं पौधे

April 29, 2022, 02:53 PM IST

भारतीय दर्शन एवं लोक जीवन में पेड़-पौधों में जीवन की मौजूदगी मानी जाती है, ठीक हमारें अपने जीवन की ही तरह. हाल ही में बेसिक एण्ड एप्लाइड इकोलॉजी जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में बताया गया है कि ध्वनि प्रदूषण का सीधा विपरीत प्रभाव पौधों के विकास पर पड़ता है. ... और भी पढ़ें

International Dance Day: आनंद की लय-ताल पर आबाद है जीवन का नर्तन

April 29, 2022, 02:49 PM IST

आज विश्व नृत्य दिवस है. एक ऐसी कला को देखने-समझने का अवसर जो जीवन की आनंदित लय-ताल पर थिरकते हुए देह की अभिव्यक्ति के अलहदा रूपक रचती है. अंतर्यात्रा की राहें खोलती हैं. विराट को पुकारती है. भक्ति के पवित्र भावों का संचार करती है. देह, मन और आत्मा मिलकर ... और भी पढ़ें

अपना घर नहीं बनवा सके थे पूर्व पीएम मोरारजी और गुलजारी लाल नंदा

April 28, 2022, 04:35 PM IST

देश में राजनीति और राजनीतिज्ञों की चर्चा जब भी कहीं चलती है तो आम आदमी उनके प्रति घृणा के भाव से सोचता है. लोगों की नजरों में राजनीति अब कमाई का जरिया बन गयी है. सेवा, समर्पण, त्याग और ईमानदारी के जो गुण पहले के राजनीतिज्ञों में होते थे, वे ... और भी पढ़ें

ज़कात के बेहतर प्रबंधन से दूर हो सकती है मुसलमानों की गरीबी

April 28, 2022, 04:23 PM IST

कुछ लोग ग़लत तरीक़े से ग़रीब, यतीम बच्चों, विधवा औरतों और बेसहारा लोगों के हिस्से की ज़कात गलत तरीके से डकार जाते हैं. मैंने पिछले लेख में बताया था कि कैसे मुसलमानों की ज़कात सही जगह नहीं पहुंच रही. अब इस लेख में हम देश में ... और भी पढ़ें

ये है... जानकी बैंड ऑफ वुमेन

April 27, 2022, 06:48 PM IST

अदब और तहज़ीब के मरकज़ भोपाल की वादियों में उतरती चैत्र की वो सुरमई शाम यक़ीनन अब भी इस शहर के वाशिंदों की रूह में महकती होगी. रवीन्द्र भवन के मुक्ताकाश मंच पर कविवर भवानी प्रसाद मिश्र की कविता "सतपुड़ा के घने जंगल, उंघते-अनमने जंगल" का सुरीला पाठ गूँज रहा ... और भी पढ़ें

LIVE Now

    फोटो

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें

    टॉप स्टोरीज