IPL 2020: क्या ब्रेंडन मैक्कुलम पूरा करेंगे KKR का कोरबो, लोड़बो और जीतबो रे का सपना?

खिलाड़ी, कप्तान, लीडर और कोच के तौर पर ब्रेंडन मैक्कुलम अपने साथियों को बोल्ड क्रिकेट खेलने की सलाह देते हैं, नाज़ुक फैसले लेने के समय जुआ खेलने से भी नहीं हिचकते हैं और यही अंदाज़ उन्हें ख़ास बनाता है. देखना रोचक होगा कि क्या मैक्कुलम वैसा ही साहस कोच के तौर पर पहले सीज़न में दिखा पाएंगे?

Source: News18Hindi Last updated on: September 23, 2020, 9:42 AM IST
शेयर करें: Facebook Twitter Linked IN
IPL 2020: क्या ब्रेंडन मैक्कुलम पूरा करेंगे KKR का कोरबो, लोड़बो और जीतबो रे का सपना?
ब्रेंडन मैक्कुलम के नाम आईपीएल के पहले ही मैच में शतक बनाने का रिकॉर्ड है.
न्यूज़ीलैंड के पूर्व कप्तान ब्रेंडन मैक्कुलम ने आईपीएल के पहले सीज़न में सिर्फ 4 मैच खेले लेकिन उनका प्रभाव ना सिर्फ उस सीज़न बल्कि आईपीएल के इतिहास में अमिट तरीके से पड़ा. आखिर बल्लेबाज़ के तौर पर मैक्कुलम ने जो 158 रनों की धुआंधार पारी खेली, उससे बेहतरीन शुरुआत को टूर्नामेंट को मिल ही नहीं सकती थी. उस मैच का ऐतिहासिक गवाह मैं भी बना, जब प्रेस बॉक्स में कुछ चुनिंदा भारतीय पत्रकारों और कुछ इंग्लैंड के पत्रकारों के साथ मौजूद था. मैक्कुलम को अगली सुबह उनकी होटल लॉबी में मैनें उनके पहले टीवी इटंरव्यू के लिए मनाया. (https://www.youtube.com/watch?v=Rl3FtICWPYc) जब इस साल की शुरुआत में न्यूज़ीलैंड में मैनें अपने मोबाइल फोन पर ये क्लिप दिखाई तो वो थोड़े शरमा गये! उस वक्त 26 साल वाले मैक्कुलम ने ये शायद सोचा भी नहीं होगा कि खेल से रिटायर होने के बाद वो फिर से आईपीएल में लौटेंगे.

इस बार मैक्कुलम राज्सथान रॉयल्स के एंड्रयू मैक्डोनाव्ड की तरह कोच के तौर पर अपना पहले सीज़न में शामिल हो रहे हैं. दिल्ली के रिकी पोटिंग और मुंबई के महेला जयावर्धने की तरह मैक्कुलम भी हाई प्रोफाइल कोच हैं. आईपीएल में आने से पहले मैक्कुलम के लिए नाइटराइडर्स ने कैरेबियन प्रीमियर लीग में तहलका मचाते हुए बिना कोई एक मैच गवांये टूर्नामेंट जीत लिया. हालांकि, ऐसा प्रदर्शन आईपीएल में असंभव है.

पिछले एक दशक में आईपीएल में खिलाड़ी के तौर पर मैक्कुलम ने कोलकाता के अलावा चेन्नई सुप किंग्स, गुजरात लॉयंस, कोच्चि टस्कर्स केरला और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का भी हिस्सा बने लेकिन उनका दिल हमेशा अपने पहले प्यार शाहरुख ख़ान की टीम के साथ ही लगा रहा. खुद मैक्कुलम ने कहा कि 2008 की उस तूफानी रात के बाद शाहरुख ने उनसे कहा था कि चाहे कुछ भी हो जाये आप हमेशा नाइट राइडर्स के साथ ही रहोगे.

'जब मैं कोलकाता से अलग हुआ तो मेरे रिश्ते हर किसी से मधुर रहे. मैंने हर तरह के मौकों के लिए अपना आभार व्यक्त किया. इसलिए एक दशक बाद मुझे फिर से कोलकाता के साथ जुड़ने का मौका मिला तो मुझे शाहरुख को वो बात याद आ गयी कि मैं हमेशा केकेआर का हूं.' ये बातें मौजूदा केकेआर कोच ने क्लब की आधिकारिक वेबसाइट के साथ इटंरव्यू में कही.
खिलाड़ी के तौर पर बेहद बिंदास अंदाज़ में खेलने वाले मैक्कुलम ने न्यूज़ीलैंड के कप्तान के तौर पर भी एकदम बैखोफ नज़रिया अपनाया. 2015 वर्ल्ड में वो टीम को ट्रॉफी तो नहीं जिता पाये लेकिन फाइनल में पहुंचकर हर किसी का दिल जीता. कोलकाता के पूर्व कोच जॉन बुकानन ने मुझे बताया कि कोच के तौर पर भी मैक्कुलम से हमलोग उसी तूफानी अंदाज़ की उम्मीद कर सकते हैं. दरअसल, बुकानन ने ही 2009 में पहली बार मैक्कुलम की लीडरशीप क्षमता को पहचाना था और उन्हें साउथ अफ्रीका में कप्तानी की ज़िम्मेदारी भी दिलवायी जिस पर सौरव गांगुली के समर्थकों ने उस वक्त बवाल मचा दिया था.

खिलाड़ी, कप्तान, लीडर और कोच के तौर पर मैक्कुलम अपने साथियों को बोल्ड क्रिकेट खेलने की सलाह देते हैं, नाज़ुक फैसले लेने के समय जुआ खेलने से भी नहीं हिचकते हैं और यही अंदाज़ उन्हें ख़ास बनाता है. लेकिन, आईपीएल जैसे टूर्नामेंट में जहां 1-1 रन से मैच और टूर्नामेंट का फैसला हो जाता है, क्या मैक्कुलम वैसा ही साहस कोच के तौर पर पहले सीज़न में दिखा पाएंगे?

कोलकाता ने अब तक 2 बार आईपीएल जीता है लेकिन आखिरी बार चैंपियन बने उन्हें 5 साल हो गये हैं. बल्लेबाज़ और कप्तान के तौर पर मैक्कुलम ने तो हर टीम के साथ तालमेल बिठाया है लेकिन क्या दिनेश कार्तिक जैसे कप्तान के साथ वो एक ट्रॉफी जितने वाली जोड़ी बना सकते हैं? अगर ऐसा होता है तो मैक्कुलम की गिनती पोटिंग, जयवर्धने के साथ साथ अपने ही मुल्क के स्टीफन फ्लेमिंग के साथी होनी शुरू हो जाएगी.
2008 के पहले सीज़न में कोलकाता का नारा था- कोरबो रे, लोड़बो रे और जीतबो रे . खिलाड़ी के तौर पर मैक्कुलम ने इसपर डांस भी किया था लेकिन कोलकाता का सपना पूरा नहीं हुआ. क्या 12 साल बाद कोच के तौर पर ‘घर-वापसी’ करते हुए क्या ब्रैंडन मैक्कुलम कोरबो रे, लोड़बो रे और जीतबो रे का सपना अब पूरा करेंगे?
ब्लॉगर के बारे में
विमल कुमार

विमल कुमार

न्यूज़18 इंडिया के पूर्व स्पोर्ट्स एडिटर विमल कुमार करीब 2 दशक से खेल पत्रकारिता में हैं. Social media(Twitter,Facebook,Instagram) पर @Vimalwa के तौर पर सक्रिय रहने वाले विमल 4 क्रिकेट वर्ल्ड कप और रियो ओलंपिक्स भी कवर कर चुके हैं.

और भी पढ़ें

facebook Twitter whatsapp
First published: September 23, 2020, 9:42 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर