राज्य

चिरायु के हड़तालरत डाक्‍टरों व कर्मचारियों को सेवा समाप्ति के नोटिस

जांजगीर जिले में चिरायु योजना में कार्य करने वाले जिले के 65 चिकित्सकों व अन्‍य कर्मचारियों को सेवा समाप्ति के को नोटिस जारी कर दिए गए हैं.

Yugal Tiwari | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: June 27, 2017, 11:23 PM IST
चिरायु के हड़तालरत डाक्‍टरों व कर्मचारियों को सेवा समाप्ति के नोटिस
डीपीएम गिरीश कबीर. फोटो : न्‍यूज़18/ईटीवी
Yugal Tiwari | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: June 27, 2017, 11:23 PM IST
छत्‍तीसगढ़ के जांजगीर जिले में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत चिरायु योजना में कार्य करने वाले जिले के 65 चिकित्सकों व अन्‍य कर्मचारियों को सेवा समाप्ति के को नोटिस जारी कर दिए गए हैं.

चिरायु के चिकित्सक व अन्‍य कर्मचारी वेतन विसंगति दूर करने व समान काम, समान वेतन की मांग को लेकर पिछले 12 दिनों से हड़ताल पर हैं. इन्‍होंने 16 जून से सामूहिक रूप से धरना आन्दोलन शुरू कर दिया था. अब राज्य शासन के आदेश के बाद जिला कलेक्टर की अनुमति से स्वास्थ्य विभाग ने सेवा समाप्ति को लेकर नोटिस जारी कर दिए हैं.

चिरायु के चिकित्सकों के हड़ताल पर चले जाने की वजह से मौसमी बिमारियों के बीच चिरायु योजना के तहत स्कूल और आगनवाड़ी बच्‍चों के स्‍वास्‍थ्‍य परीक्षण कार्य में काफी परेशानियों का का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में स्वास्थ्य सुविधाएं दुरुस्त करने के लिए शासन-प्रशासन ने अल्टीमेटम देते हुए सेवा समाप्ति के लिए पत्र भेज दिए हैं.

चिरायु के जिला कार्यक्रम प्रबंधक (डीपीएम) गिरीश कबीर ने बताया कि प्रदेशभर में चिरायु स्‍टाफ अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर है. जांजगीर जिले का भी 90 प्रतिशत स्‍टाफ हड़ताल पर है. उन्‍होंने बताया कि चिरायु स्‍टाफ की मांग है कि उनकी वेतन विसंगति को दूर किया जाए और योग्‍यता और अनुभव के आधार पर उनका वेतन निर्धारित किया जाए.

कबीर ने बताया कि राज्‍य शासन की ओर से उन्‍हें हड़तालरत चिकित्‍सकों को सेवा समाप्ति का नोटिस देने और नई भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश मिले थे. उसी तारतम्‍य में ये नोटिस जारी किए गए हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर