News18 हिंदी » Cricket » LIVE SCORE »

भारत vs न्यूज़ीलैंड बॉल BY बॉल कॉमेंट्री

भारत vs न्यूज़ीलैंड बॉल BY बॉल कॉमेंट्री

मैच खत्म

भारत vs न्यूज़ीलैंड मैच स्कोरकार्ड (test)

2nd Test test, वानखेड़े स्टेडियम, मुम्बई, 4th Day, 1st Session

भारत

1st INN

325/10

(109.5) RR 2.96

2nd INN

276/7

(70.0) RR 3.94

भारत
v/s
भारत ने न्यूज़ीलैंड को 372 रनों से हराया
न्यूज़ीलैंड
Tom Latham (C)

न्यूज़ीलैंड

1st INN

62/10

(28.1) RR 2.2

2nd INN

167/10

(56.3) RR 2.96

The full commentary may be delayed by up to 6 deliveries.

तो कैसा लगा दोस्तों आपको न्यूज़ीलैंड और भारत के बीच का ये दूसरे टेस्ट मुकाबला जहाँ भारत ने हासिल की 372 रनों की जीत और 1-0 से इस सीरीज़ को अपने नाम कर लिया| जबकि टेस्ट चैंपियनशिप में भी 12 अंक अर्जित किया| आज के लिए बस इतना ही, आपसे फिर 17 दिसंबर को होगी मुलाकात भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच होने वाले पहले टेस्ट मुकाबले के साथ जो कि अफ्रीका के मैदान में होगा| तबतक के लिए हमें दीजिये इजाज़त और रखिये अपना ख़याल, नमस्कार...

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने यहाँ बात करते हुए कहा कि फिर से जीत के साथ वापसी करना, यह एक शानदार एहसास और बेहतरीन ​​​​प्रदर्शन है। आप चाहते हैं कि व्यक्ति आगे बढ़ें। पहला टेस्ट अच्छा था, और यह यहाँ एक नैदानिक ​​प्रदर्शन था। हमने प्रदर्शन पर चर्चा की और विपक्ष ने अच्छा ड्रॉ खेला। गेंदबाजों ने हर संभव कोशिश की लेकिन कीवी बल्लेबाजों ने कानपुर में इसे अच्छी तरह से आउट कर दिया। यहां उछाल ज्यादा था और तेज गेंदबाजों का भी सहयोग मिला इसलिए इससे हमें अंतिम दिन टेस्ट मैच जीतने का बेहतर मौका मिला। नए प्रबंधन के साथ भी भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाने की मानसिकता समान है। भारतीय क्रिकेट के मानकों को बनाए रखना और यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि यह हमेशा बढ़ता रहे। जाते जाते ये भी विराट ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका एक अच्छी चुनौती होने वाली है।

रविचंद्रन अश्विन | मैन ऑफ़ द सीरीज़ दिया गया जिसके बाद उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि मुझे अब 10 मैन ऑफ़ द सीरीज़ पुरस्कार मिल गए हैं। मैंने ईमानदारी से वानखेड़े का आनंद लिया, और हर रोज कुछ नया था, और मैं बल्ले के दोनों किनारों को चुनौती दे सकता था। एजाज का यह शानदार प्रदर्शन था। यह वानखेड़े में हर समय स्पिन नहीं करता है, और उसने सीम का इस्तेमाल किया और गेंद को सही जगहों पर रखा| जिस प्रकार से उन्होंने दस विकेट हासिल की उसकी तारीफ ज़रूर की जायेगी|

न्यूजीलैंड के कप्तान टॉम लाथम ने यहाँ पर बात करते हुए कहा कि हमारी ओर से निराशाजनक प्रदर्शन था ये। शानदार प्रदर्शन करने के लिए भारत को श्रेय दिया जाना चाहिए। 62 रनों पर ऑल-आउट ने हमें पीछे कर दिया। आप हमेशा यहां पहले बल्लेबाजी करना चाहते हैं और ऐसा नहीं था कि हम इसे कैसे खत्म करना चाहते थे। खिलाड़ी अलग-अलग परिस्थितियों में आगे बढ़ने में सक्षम हैं और हम काफी गहराई तक पहुंचने में सफल रहे हैं। एजाज़ के लिए बहुत ही खास गेम था ये, खेल के इतिहास में केवल तीसरी बार एक आदमी को सभी दस मिले हैं। स्वदेश लौटने के बाद हम बांग्लादेश से खेलने जा रहे हैं और हम जल्द से जल्द उस सीरीज की तैयारी शुरू करने जा रहे हैं।

मयंक अग्रवाल को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया| जिसे हासिल करते हुए उन्होंने कहा कि रनों के बीच वापस आकर अच्छा लग रहा है और यह पारी मेरे लिए खास है। मैंने कानपुर से कुछ नहीं बदला, मेरे पास बस मानसिक अनुशासन और दृढ़ संकल्प था। तकनीक हर समय सर्वश्रेष्ठ नहीं होगी, यह रनों की गारंटी नहीं देगी, लेकिन लड़ने की इच्छा महत्वपूर्ण है। राहुल भाई ने मुझे सीरीज के बीच में तकनीक के बारे में नहीं सोचने के बारे में बताया और मुझे बताया कि यही वह तकनीक है जिससे मुझे रन मिले हैं। सनी सर ने कहा कि मुझे पारी की शुरुआत में अपना बल्ला लो रखना चाहिए और अपने बाएं कंधे को खोलना चाहिए। मैंने वास्तव में मैच में दूसरे शतक के बारे में नहीं सोचा था|

श्रेयस अय्यर उनके बाद बात करने आये और कहा कि यह उनके लिए एक यादगार सीरीज थी और उन्होंने साझा किया कि उन्होंने वानखेड़े स्टेडियम में हॉल ऑफ फेम बोर्ड देखा और वहां उनका नाम आएगा। आगे कहा कि आसपास बहुत सारे अच्छे खिलाड़ी हैं और प्रतिस्पर्धा कड़ी है इसलिए उसे सिर्फ प्रदर्शन करने और अवसर का लाभ उठाने की जरूरत है। राहुल द्रविड़ पर श्रेयस का कहना है कि वह आत्मविश्वास देने में बहुत अच्छे हैं और उनकी कार्यशैली महान है। उनके साथ काम करके वह बेहद खुश हैं।

जयंत यादव इस दौरान बात करते हुए दिखे जहाँ उन्होंने कहा कि यह गेंदबाजी करने के लिए एक अच्छी पिच थी और सुबह की परिस्थितियों ने मदद की। आगे कहा है कि बहुत अधिक टर्न था और उन्हें सिर्फ अच्छे क्षेत्रों में गेंदबाजी करने की जरूरत थी। साझा करता है कि वानखेड़े स्टेडियम में उनके लिए एक विशेष याद है, पिछली बार शतक बनाया था और इस बार लगभग एक अर्धशतक मिला। आगे कहते हैं कि रविचंद्रन अश्विन के साथ खेलना बहुत अच्छा है और अश्विन के दिमाग को खिलाना उपयोगी है क्योंकि वह खेल के बारे में एक अलग तरीके से सोचता है और यह उसके लिए एक महान सीख है।

पुरस्कार वितरण समारोह के लिए बने रहिये हमारे साथ...

अब अगर एक नज़र इस पूरे मुकाबले पर डाल लें तो टॉस जीतकर भारत ने मयंक अगरवाल की 150 रनों की शानदार पारी की बदौलत बोर्ड पर 325 रन लगाए| हालाँकि इस पारे में उनके अलावा गिल ने 44 और अक्षर ने 52 रन बनाए थे| उसके बाद जब मेहमान टीम बल्लेबाज़ी करने आई तो भारतीय गेंदबाजी आक्रमण ने उन्हें चारो खाने चित कर दिया और महज़ 62 रनों पर ऑल आउट करते हुए अपने पास 263 रनों की एक विशाल लीड हासिल कर ली| केन विलियमसन का इस टीम के साथ इस मुकाबले में ना होने यहाँ पर पूरी तरह से खला| अब इस बड़ी लीड के साथ भारत ने आगे खेला और बोर्ड पर अपने दूसरी पारी में 276 रन लगा दिए और मेहमान टीम के लिए चौथी पारी का लक्ष्य अब बढ़कर 540 हो गया| शुरुआत तो आक्रामक अंदाज़ में हुई लेकिन फिर से भारतीय गेंदबाजों का दबदबा शुरुआ हुआ और एक के बाद एक तीसरे दिन के आखिरी सेशन में पांच और चौथे दिन के पहले सेशन के पहले घंटे में पांच विकेट झटककर टीम इंडिया ने अपने लिए रनों के मामले में एक बड़ी जीत हासिल की|

भारतीय सरजमीं पर टेस्ट मैच की एक पारी में सिर्फ 62 रन पर आउट होने के बाद टीम के लिए वापसी करना हमेशा कठिन होता है। न्यूजीलैंड को उस परिस्थिति का सामना करना पड़ा और वह यहाँ पर पूरी तरह से बिखर गई| पहले टेस्ट मैच के विपरीत, एक मुश्किल सतह पर दबाव में आने पर उनकी बल्लेबाजी में उसी तरह का चरित्र नहीं दिखा। एक बार बड़ी बढ़त हासिल करने के बाद अंतिम परिणाम हमेशा सामने होता था और भारत ने चौथे दिन जीत हासिल करने के लिए एक प्रोफेशनल गेंदबाजी का प्रदर्शन किया।

कानपुर में काफी नदीक थे जीत के लेकिन वो आई मुंबई में!! मुश्किल परिस्तिथियों से टीम को पहली पारे में मयंक और अक्षर की पारी ने निकाला, फिर सिराज की गेंदबाजी में शानदार शुरुआत, और उसके बाद अश्विन, जयंत और अक्षर की गेंदबाजी ने इस मुकाबले को पूरी तरह से कोहली एंड आर्मी के पक्ष में डाल दिया| न्यूजीलैंड जो हर बार एक नए जज्बे के साथ क्रिकेट खेलती हुई नज़र आती है, इस दौरे पर उसने अपने उस प्रदर्शन को जारी रखा लेकिन मुझे निराशा हाथ लगी है तो रॉस टेलर की उस पारी से जो कल यानी इस मुंबई टेस्ट के तीसरे दिन उन्होंने खेली| गैर जिम्मेदाराना क्रिकेट का नमूना पेश किया जिससे ना ही वो खुद, बल्कि उनके कोच और उनके कप्तान दोनों ही ना खुश होंगे|

मुकाबला हुआ समाप्त!!!! भारत विजयी!!! इसी के साथ इस भारत ने 1-0 से इस सीरीज़ को अपने नाम कर लिया| 372 रनों की सबसे बड़ी जीत!!! भारत के लिए ये रनों के मामले में सबसे बड़ी जीत है| क्या कमाल का क्रिकेट कोहली एंड आर्मी द्वारा देखने को मिला है| साथ ही साथ टीम इंडिया के लिए भारत में ये 14वीं लगातार टेस्ट सीरीज जीत है जिससे पूरा देश गर्व महसूस कर रहा होगा| वानखेड़े और जयंत यादव, इनका रिश्ता काफी बड़ा है, पिछली बार जब खेला था तो भारत के लिए शतक जड़ा था और इस बार जब खेला तो टीम के लिए मैच विनिंग गेंदबाज़ी की है|


  • 56.3
    W

    रविचंद्रन अश्विन to हेनरी निकोल्स: आउट!!! स्टंप्स आउट!!! इसी के साथ भारत ने हासिल की अभी तक की सबसे बड़ी 372 रनों की जीत यहाँ पर| इसी के साथ भारत ने 1-0 से इस सीरीज़ को अपने नाम कर लिया| जबकि टेस्ट चैंपियनशिप में भी 12 अंक अर्जित किया| रविचंद्रन अश्विन ने भारत में खेलते हुए 300वां विकेट भी हासिल कर लिया| हेनरी निकोल्स 44 रन बनाकर पवेलियन लौटे| ऑफ स्टंप पर डाली गई गेंद को बल्लेबाज़ ने आगे निकालकर बड़ा शॉट खेलने का प्रयास किया| गेंद टप्पा खाकर टर्न हुई और बल्लेबाज़ को पूरी तरह से बीट करती हुई कीपर के हाथ में गई जहाँ से साहा ने कोई गलती नहीं करते हुए गेंद को स्टंप्स पर लगाया| स्टंपिंग की हुई अपील, लेग अम्पायर ने ऊँगली उठाते हुए उसे आउट करार दिया| इसी के साथ भारतीय टीम ने जश्न बनाया और एक बड़े अंतर से मुकाबले को अपने नाम कर लिया| 167/10 न्यूज़ीलैंड|

  • 56.2
    0

    रविचंद्रन अश्विन to हेनरी निकोल्स: कोई रन नहीं, आउटसाइड थी गेंद, बल्लेबाज़ ने इसे जाने दिया|

  • 56.1
    0

    रविचंद्रन अश्विन to हेनरी निकोल्स: फ्लिक शॉट खेला गया लेकिन बॉल सीधा फील्डर के पास गई|

  • 55.6
    0

    जयंत यादव to एजाज़ पटेल: विकेट लाइन की गेंद को बल्लेबाज़ ने डिफेंड कर दिया|

  • 55.5
    0

    जयंत यादव to एजाज़ पटेल: फ्रंट फुट पर आकर गेंद को सॉलिड तरीके से डिफेंड किया|

  • 55.4
    0

    जयंत यादव to एजाज़ पटेल: आखिरी समय तक गेंद पर नज़रें जमाई रखी और उसे ब्लॉक कर दिया|

  • 55.3
    0

    जयंत यादव to एजाज़ पटेल: कोई रन नहीं, प्ले एंड मिस! बल्लेबाज़ को समझ ही नहीं आया कि इस गेंद पर क्या करें|

  • 55.2
    0

    जयंत यादव to एजाज़ पटेल: कोई रन नहीं, बीटेन! शानदार गेंदबाज़ी करते हुए बल्लेबाज़ को धराशाई कर दिया|

  • 55.1
    W

    जयंत यादव to विलियम समरविले: आउट!!!! कैच आउट!!! ये लीजिये एक और विकेट यहाँ पर कीवी टीम ने गँवा दिया| यानि अब भारत को जीत के लिए बस एक विकेट ही चाहिए| जयंत यादव के नाम रहेगा आज का चौथा दिन, अपने करियर की सबसे बेहतरीन गेंदबाज़ी करते हुए यहाँ पर चार विकटों को अपने कर लिया है| विलियम समरविले 1 रन बनाकर पवेलियन लौटे| गुड लेंथ पर डाली गई गेंद को डिफेंड करने गए| बल्ले का अंदरूनी किनारा लेकर गेंद सीधे लेग साइड पर खड़े फील्डर के पास गई, जहाँ से मयंक अग्रवाल ने दो बार में कैच को पकड़ा| पहली दफ़ा ने गेंद हाथ ने बाहरी की ओर निकली तो दूरी दफ़ा में उसे पकड़ लिया| इसी बीच अम्पायर ने कैच सही तरीके से हुआ है या नहीं ये देखने के लिए थर्ड अम्पायर का सहारा| रिप्ले में देखने के बाद पता लगा कि गेंद फील्डर ने सही तरीके से पकड़ लिया था| आउट आया थर्ड अम्पायर का फ़ैसला| 167/9 न्यूज़ीलैंड|

  • 54.6
    0

    रविचंद्रन अश्विन to हेनरी निकोल्स: ऊपर डाली गई गेंद को कवर्स की ओर बल्लेबाज़ ने खेला, हवा में गई बॉल लेकिन फील्डर के पास एक टप्पा खाकर पहुँची, बाल बाल बचे बल्लेबाज़ यहाँ पर|

  • 54.5
    1

    रविचंद्रन अश्विन to विलियम समरविले: फ्रंट फुट से गेंद को पंच किया, एक रन मिला|

  • 54.4
    0

    रविचंद्रन अश्विन to विलियम समरविले: विकेट लाइन की गेंद को बल्लेबाज़ ने डिफेंड कर दिया|

  • 54.3
    0

    रविचंद्रन अश्विन to विलियम समरविले: ऊपर डाली गई गेंद को सामने की ओर बल्लेबाज़ ने खेला, गेंदबाज़ ने उसे ख़ुद ही पकड़ा|

  • 54.2
    0

    रविचंद्रन अश्विन to विलियम समरविले: कोई रन नहीं, हल्का सा गेंद को पुश किया लेकिन गैप नहीं मिला|

  • 54.1
    1

    रविचंद्रन अश्विन to हेनरी निकोल्स: को क्रीज़ में रह कर मिड विकेट की ओर फ्लिक किया और सिंगल मिल गया|

  • 53.6
    0

    जयंत यादव to विलियम समरविले: कोई रन नहीं, बीटेन! शानदार गेंदबाज़ी करते हुए बल्लेबाज़ को धराशाई कर दिया|

टीम रैंकिंग

रैंकटीमपॉइंटरेटिंग
NLoading......
NLoading......
NLoading......
NLoading......
NLoading......
फुल रैंकिंग