sri-lanka
टीम श्रीलंका

टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत 1877 में हुई. लेकिन श्रीलंका (Sri Lanka) ने पहला टेस्ट 1982 में खेला. यानी इस देश में क्रिकेट तकरीबन 100 साल पीछे चल रहा था. इसके बावजूद विश्व क्रिकेट में श्रीलंका की कामयाबी काबिलेतारीफ है. श्रीलंका की टीम वनडे और टी20 विश्व कप एक-एक बार जीत चुकी है. इस देश ने मुथैया मुरलीधरन, सनथ जयसूर्या, महेला जयवर्धने, कुमार संगकारा, अर्जुन रणतुंगा, अरविंद डिसिल्वा जैसे विश्व स्तरीय क्रिकेटर दिए हैं. मुरलीधरन के नाम टेस्ट क्रिकेट में सबसे अधिक 800 विकेट लेने का विश्व रिकॉर्ड है.

श्रीलंका को 17 फरवरी 1982 को कोलंबो में इंग्लैंड से खेले गए पहले टेस्ट में हार मिली थी. उसे पहली जीत 6 सितंबर 1985 को भारत के खिलाफ मिली. श्रीलंका ने कोलंबो में खेले गए मैच में 149 रन से जीत दर्ज की थी. श्रीलंका को विदेश में पहली जीत के लिए 13 साल तक इंतजार करना पड़ा था. 11 मार्च 1995 को नेपियर में खेले गए टेस्ट में टीम ने न्यूजीलैंड को 241 रन से मात दी थी. टेस्ट का सबसे बड़ा स्कोर बनाने का वर्ल्ड रिकॉर्ड श्रीलंका के ही नाम है. टीम ने 2 अगस्त 1997 को भारत के खिलाफ कोलंबो में 6 विकेट पर 952 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया था. टीम की ओर से अब तक 17 कप्तान टेस्ट में उतर चुके हैं. 2 को एक भी जीत नहीं मिली है. सनथ जयसूर्या और महेला जयवर्धने ने अपनी कप्तानी में सबसे अधिक 18-18 टेस्ट जीते हैं. बड़े खिलाड़ियों के संन्यास लेने के बाद श्रीलंका का प्रदर्शन भी पिछले कुछ समय से इंटरनेशनल लेवल पर खराब रहा है.