राज्य

बेहद खास है 45 फुट का यह बल्ला, इसी से निकला था टीम इंडिया की जीत का पहला 'शॉट'

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अजीत वाडेकर का आज जन्मदिन है. वाडेकर की कप्तानी में 1971 में पहली बार भारतीय टीम ने इंग्लैंड की टीम को इंग्लैंड में ही टेस्ट मैच में हराया था.


Updated: April 1, 2017, 4:28 PM IST
बेहद खास है 45 फुट का यह बल्ला, इसी से निकला था टीम इंडिया की जीत का पहला 'शॉट'
भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अजीत वाडेकर का आज जन्मदिन है. वाडेकर की कप्तानी में 1971 में पहली बार भारतीय टीम ने इंग्लैंड की टीम को इंग्लैंड में ही टेस्ट मैच में हराया था.

Updated: April 1, 2017, 4:28 PM IST
टीम इंडिया एक अप्रैल को आईसीसी रैकिंग में विधिवत तौर पर दुनिया की नंबर वन टीम बन गई है. इसके साथ ही विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम ने 10 लाख डॉलर की राशि पुरस्कार स्वरूप हासिल की है. यह राशि और टेस्ट गदा एक अप्रैल तक नंबर एक स्थान पर रहने वाली टीम को दी जाती है.

खास बात है कि टीम इंडिया को नंबर 1 बनाने का सफर शुरू करने वाले  पूर्व कप्तान अजित वाडेकर का भी आज यानी एक अप्रैल कोआज जन्मदिन है.  वाडेकर की कप्तानी में 1971 में पहली बार भारतीय टीम ने इंग्लैंड की टीम को इंग्लैंड में ही टेस्ट मैच में हराया था.

टीम इंडिया की इस जीत पर देशभर में जश्न मनाया गया था. मध्य प्रदेश के इंदौर में इसे यादगार के रूप में संजोने के लिए 9 जून 1972 को नवलखा पर चिड़ियाघर के पास 25 फुट ऊंचे विजयी बल्ले को स्थापित किया गया था.

इस पर टीम के कप्तान के हस्ताक्षर के साथ सभी खिलाड़ियों के नाम लिखे हुए थे. इस पर यह संदेश भी लिखा हुआ है कि भारतीय टीम निरंतर अपराजित रहे. इसका उद्घाटन अजित वाडेकर के हाथों हुआ था.

2009 में शहर के नवलखा क्षेत्र में बीआरटीएस कॉरिडोर के निर्माण के दौरान इस विजय बल्ले को यहां से हटाना पड़ा. इसके बाद इसे नेहरू स्टेडियम में नए सिरे से स्थापित किया गया था. नया बल्ला 45 फीट ऊंचा है. इस बल्ले का लोकार्पण भी अजित वाडेकर के हाथों हुआ था.

-अजित वाडेकर का पूरा नाम अजित लक्ष्मन वाडेकर है.
-बाएं हाथ के बल्लेबाज वाडेकर ने 37 टेस्ट मैच खेले, जिनमें 2113 रन 31.07 के औसत से बनाए.
Loading...
-उन्होंने एकमात्र शतक (143 रन) 1967-68 में न्यूजीलैंड के विरुद्ध बनाया था.
-चार बार अजित नर्वस नाइंटीज के शिकार हुए. एक बार उन्होंने 99 रन भी बनाए.
-उन्होंने रणजी ट्राफी मैचों में 12 शतक लगाए
-रणजी ट्रॉफी मैच में 323 का सर्वश्रेष्ठ स्कोर मैसूर के विरुद्ध बनाया.
अजित वाडेकर भारतीय क्रिकेट टीम के एकमात्र ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने लगातार तीन सीरीज जीती हैं, जिनमें दो विदेशी धरती पर तथा एक भारत में जीती.
पूरी ख़बर पढ़ें
Loading...
अगली ख़बर