दलाई लामा पहुंचे ताइवान, लगाया पीड़ितों को मरहम

दलाई लामा ने कहा कि ताइवान को अपने लोकतंत्र को संभाल कर रखना होगा।

दलाई लामा ने कहा कि ताइवान को अपने लोकतंत्र को संभाल कर रखना होगा।

दलाई लामा ने कहा कि ताइवान को अपने लोकतंत्र को संभाल कर रखना होगा।

  • News18India
  • Last Updated: September 1, 2009, 3:23 PM IST
  • Share this:

ताइवान। तिब्बत के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा समुद्री तूफान मोरकोट के पीड़ितों के आंसू पोंछने ताइवान पहुंचे। पिछले 50 साल के सबसे भयंकर समुद्री तूफान में पूरी तरह तबाह हो चुके एक गांव में दलाई लामा ने कहा कि ताइवान का चीन के साथ बड़ा खास रिश्ता है। इसके बावजूद यहां जो लोकतंत्र है, वो सराहनीय है।

चीन ने दलाई लामा की ताइवान यात्रा का कड़ा विरोध किया था। उसने चेतावनी दी थी कि इससे दोनों देशों के सुधरते संबंधों पर असर पड़ सकता है। दलाई लामा विपक्षी दलों के न्यौते पर यहां पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि उनकी ये यात्रा गैरराजनीतिक है।

उन्होंने कहा कि ताइवान को अपने लोकतंत्र को संभाल कर रखना होगा। अगस्त के शुरू में आए इस भयानक तूफान में करीब 670 लोगों की मौत हो गई जबकि कई लोग लापता हो गए थे। चीन के लिए तिब्बत और ताइवान दोनों ही संवेदनशील मुद्दे हैं। चीन 1949 में अलग हुए ताइवान को अपना हिस्सा मानता है।



दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज