इन्फोसिस के सिर्फ 100 शेयरों ने निवेशकों को बनाया करोड़पति, ऐसे ही कमाते हैं वारेन बफे

अगर किसी ने इन्फोसिस के शेयर खरीदें होते तो और उस निवेश को बनाए रखा होता तो वह इस समय 6.36 करोड़ रुपये का मालिक होता.

  • Share this:

देश की बड़ी आईटी कंपनी इन्फोसिस के शेयर को एक्सचेंज BSE, NSE पर  लिस्ट हुए 25 साल बीत चुके हैं. अगर उस दौरान किसी ने कंपनी के शेयर खरीदें होते तो और उस निवेश को बनाए रखा होता   वह करोड़पति जरूर बन जाता. आपको बता दें कि कंपनी फरवरी 1993 को IPO लेकर आई थी और उसके बाद 14 जून 1993 को यह शेयर बाजार पर लिस्ट होने वाली पहली आईटी कंपनी थी. आइए जानें कैसे लोगों ने बनाए करोड़ रुपये...

कैसे 100 शेयरों ने बनाया करोड़पति 

>> इन्फोसिस जब IPO लेकर आई थी तो इसका इश्यू प्राइस 95 रुपए था.

>> लेकिन शेयर बाजार में लिस्ट होने के दिन ही इसका शेयर 145 रुपए पर लिस्ट हुआ.
>> लिस्टिंग के समय ही शेयर ने अपने निवेशकों को 52 फीसदी का रिटर्न दिया.

>> इसके बाद कई बार कंपनी ने अपने निवेशकों को बोनस शेयर दिए. जिन निवेशकों ने IPO के समय >> इन्फोसिस का शेयर खरीदा था उनके 95 रुपए 25 साल में बढ़कर 6.46 लाख रुपए हो गए हैं.



>> अगर किसी निवेशक ने IPO के समय 100 शेयर खरीदे होंगे तो आज उनका निवेश 6.46 करोड़ रुपए होगा.

ऐसे बढ़ते गए शेयर

साल 1994: एक शेयर पर एक बोनस शेयर का ऐलान: इसके बाद निवेशक के शेयर बढ़कर 200 हो गए.

साल 1997: कंपनी ने फिर से एक शेयर पर एक बोनस शेयर का ऐलान किया: इसके बाद निवेशक के शेयर बढ़कर 400 हो गए.

साल 1999: कंपनी ने फिर से एक शेयर पर एक बोनस शेयर का ऐलान किया: इसके बाद निवेशक के शेयर बढ़कर 800 हो गए.

साल 1999: कंपनी ने शेयर को विभाजित कर दिया. इसके बाद निवेशक के शेयर बढ़कर 1600 हो गए.

साल 2004: कंपनी ने फिर से 3 शेयर पर एक बोनस शेयर देने का ऐलान किया. इसके बाद निवेशकों के शेयर बढ़कर 6400 हो गए.

साल 2006: कंपनी ने फिर से एक पर एक बोनस शेयर का ऐलान किया. इसके बाद शेयरों की संख्या बढ़कर 12800 हो गई.

साल 2014: कंपनी ने फिर से एक पर एक बोनस शेयर का ऐलान किया. इसके बाद शेयरों की संख्या बढ़कर 25,600 हो गई.

साल 2015: कंपनी ने फिर से एक पर एक बोनस शेयर का ऐलान किया. इसके बाद शेयरों की संख्या बढ़कर 51,200 हो गई.

अब इन कुल शेयरों की कीमत (51,200 कुल शेयर X एक शेयर का भाव 1239 रुपये) बढ़कर 6,34,36,800 रुपये हो गई है.

पत्नी से 10 हजार रुपए लेकर खड़ी की 2.7 लाख करोड़ की कंपनी

आप भी उठा सकते हैं फायदा

(1) दुनिया के सबसे कामयाब और भरोसेमंद निवेशक वॉरेन बफे के हिट रूल्स कहते हैं कि लंबी अवधि और बेहतर डिविडेंड के रिकॉर्ड वाले शेयरों में निवेश करना चाहिए. इस नियम पर इन्फोसिस खरी उतरती हैं.

(2) शेयर में  एकमुश्त बड़े निवेश की जगह नियमित और छोटे निवेश की सलाह देते हैं.

छोटे निवेश की वजह से जोखिम कम होता है. नियमित निवेश की वजह से गिरावट के समय कीमतों का औसत घटता है और नुकसान सीमित होता है.

 (3) लंबी अवधि के निवेश का निवेशकों का काफी फायदा होता है. इस दौरान कीमतों में बढ़त का फायदा तो मिलता ही है, वहीं डिविडेंड और बोनस जैसे कई फायदे भी निवेशकों को मिल जाते हैं.

ये भी पढ़ें

VIDEO: सिर्फ 15 हजार में शुरू किया था बिजनेस, अब रोज कमाते हैं 4 करोड़ रुपये

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज