Home /News /maharashtra /

shiv sena attack ncp and congress in saamana says many people objected to change the name of aurangabad

शिवसेना का NCP और कांग्रेस पर हमला, सामना में लिखा- औरंगाबाद का नाम बदलने को लेकर कई लोगों के पेट मे था दर्द

सामना में लिखा है- अयोध्या के बाबर का नामोनिशान शिवसैनिकों ने हमेशा के लिए नष्ट कर दिया उसी तरह औरंगाबाद का नाम महाराष्ट्र से मिटा दिया. (फोटो: ANI)

सामना में लिखा है- अयोध्या के बाबर का नामोनिशान शिवसैनिकों ने हमेशा के लिए नष्ट कर दिया उसी तरह औरंगाबाद का नाम महाराष्ट्र से मिटा दिया. (फोटो: ANI)

Maharashtra Political Crisis: औरंगाबाद नाम मुगल बादशाह औरंगजेब के नाम पर रखा गया था. जब शिवसेना ने BJP के साथ गठबंधन खत्म किया था और कांग्रेस-NCP के साथ हाथ मिलाया था तभी से भाजपा उसे औरंगाबाद का नाम बदलने की अपनी मांगों की याद दिलाती रही है.

अधिक पढ़ें ...

मुंबई. महाराष्ट्र की राजनीतिक तस्वीर बदल गई है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फ्लोर टेस्ट से पहले ही अपना इस्तीफा दे दिया है. इस बीच पिछले कुछ दिनों से बागी विधायकों और बीजेपी पर हमला करने के बाद अब शिवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी पर निशाना साधा है. अपने मुखपत्र ‘सामना’ में लिखा है कि औरंगाबाद का नाम बदलने को लेकर कई लोगों के पेट में दर्द था, लेकिन उद्धव ठाकरे ने इसकी परवाह नहीं की. साथ ही शिवसेना ने बीजेपी पर भी हमला बोलते हुए खुद को हिंदुत्ववादी साबित करने की कोशिश की है.

बता दें कि महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट के बीच राज्य मंत्रिमंडल ने बुधवार को औरंगाबाद शहर का नाम बदलकर संभाजीनगर करने और उस्मानाबाद शहर का नाम धाराशिव करने को मंजूरी दी. इतना ही नहीं कैबिनेट की बैठक में नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे का नाम किसान नेता दिवंगत डीबी पाटिल के नाम पर रखने को भी मंजूरी दी गई. खास बात ये है कि राज्य योजना एजेंसी सिडको ने पहले नवी मुंबई हवाई अड्डे का नाम शिवसेना के संस्थापक दिवंगत बालासाहेब ठाकरे के नाम पर रखने का प्रस्ताव दिया था.

‘ठाकरे ने नहीं की परवाह’
सामना में शिवसेना ने लिखा है, ‘औरंगाबाद को संभाजीनगर करने को लेकर कई लोगों के पेट में दर्द हुआ फिर भी उसकी परवाह किए बगैर मुख्यमंत्री ने यह निर्णय लिया. अयोध्या के बाबर का नामोनिशान शिवसैनिकों ने हमेशा के लिए नष्ट कर दिया उसी तरह औरंगाबाद का नाम महाराष्ट्र से मिटा दिया. इस पर महाराष्ट्र के मुसलमान भाइयों को भी अभिमान होना चाहिए.’

‘महाराष्ट्र सिर्फ हिंदू हृदय सम्राट की बात मानेगा’
संपादकीय में औरंगजेब की कब्र का भी ज़िक्र किया गया. लिखा है, ‘हाल के दिनों में कुछ लोगों के औरंगजेब की कब्र पर जानबूझकर नमाज आदि अता करने के लिए आने से यह अवशेष कुछ ज्यादा ही चर्चा में आ गया. परंतु महाराष्ट्र सिर्फ हिंदू हृदय सम्राट शिवसेनाप्रमुख बालासाहेब ठाकरे की भूमिका को माननेवाला है.’

बीजेपी पर निशाना
सामना में आगे लिखा है, ‘ठाकरे सरकार औरंगाबाद का संभाजीनगर करने से डरती है, ऐसा सवाल बीच के दौर में राज्य के विपक्ष ने किया था. असल में फडणवीस का महाराष्ट्र में होने के दौरान उन्होंने यह पुण्य कर्म क्यों नहीं किया, इस सवाल का उत्तर उन्हें पहले देना चाहिए. संभाजीनगर और धाराशीव के निर्णय से महाराष्ट्र की अस्मिता को तेज प्राप्त हुआ है और ठाकरे सरकार निखरकर सामने आई है. विरोधियों के पास अब बोलने के लिए क्या बचा है?’

Tags: Sanjay raut, Shiv sena

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर