होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

पहले पुल से, फिर नाव से गिरी महिला; उफनती नदी में 16 किमी बही, बाद में ऐसे दी मौत को मात

पहले पुल से, फिर नाव से गिरी महिला; उफनती नदी में 16 किमी बही, बाद में ऐसे दी मौत को मात

Vidisha News: विदिशा जिले में एक महिला नदी में गिरने के 14 घंटे के बाद जीवित मिली.

Vidisha News: विदिशा जिले में एक महिला नदी में गिरने के 14 घंटे के बाद जीवित मिली.

MP News: मध्य प्रदेश के विदिशा जिले की एक महिला ने मौत को मात दी. उसे दो बार मौत ने अपनी ओर खींचा, लेकिन वह दोनों बार उससे लड़ी और जिंदगी की जंग जीत गई. दरअसल यह महिला बाइक फिसलने की वजह से उफनती नदी में गिर गई. उसके बाद वह 16 किमी दूर 14 घंटे बाद सरियों को पकड़े मिली. हैरान करने वाली बात यह है कि जब बचाव दल उसे बचाकर नदी पार कर रहा था तो उसकी नाव पलट गई. लेकिन, महिला ने हिम्मत नहीं हारी और कुछ किमी बहने के बाद लकड़ी पकड़ ली. उसके बाद ग्रामीणों ने उसे नदी से बाहर खींच लिया.

अधिक पढ़ें ...

विदिशा. मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में चमत्कार हुआ. जिले के पास के गांव पड़रिया की एक महिला ने बाकायदा मौत को मात दी और 14 घंटे बाद उसके मुंह से सुरक्षित निकल आई. उसने दो बार मौत को छकाया. पहले वह बाइक फिसलने से कई फीट ऊंचे पुल से गिरी और 16 किमी तक बह गई. उसके बाद फिर नाव से गिर गई, लेकिन उसने हार नहीं मानी और जिंदगी की जंग जीत ली. फिलहाल महिला का इलाज अस्पताल में जारी है. उसकी हालत खतरे से बाहर है.

जानकारी के मुताबिक, पड़रिया की सोनम दांगी गुरुवार शाम परिजन के साथ बाइक पर गंजबासौदा की तरफ जा रही थी. इस बीच जैसे ही उनकी बाइक बेतवा नदी के पुल पर बने बर्रीघाट पर पहुंची वैसे ही फिसल गई. फिसलने से सोनम नीचे उफनती नदी में जा गिरी. ये देख परिजन के होश उड़ गए. देखते ही देखते मौके पर जबरदस्त भीड़ लग गई. लोगों ने नीचे जाकर आसपास देखा लेकिन सोनम नहीं मिली. लोगों ने तुरंत पुलिस को खबर दी. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन उसे भी कोई सफलता नहीं मिली. उसके बाद पुलिस ने होमगार्ड के बचाव दल को भी घटना की जानकारी दे दी. तब तक मौके पर हंगामे और अफरा-तफरी का माहौल रहा.

बता दें, सोनम का रेस्क्यू ऑपरेश रातभर चला, लेकिन उसका कहीं कुछ पता नहीं चला. इस बीच उसके जिंदा होने की खबर परिजनों को मिली. बचाव दल ने बताया कि सोनम करीब 16 किलोमीटर दूर बह गई थी. अच्छी बात यह रही कि उसे एक निर्माणाधीन पुल के सरिये मिल गए. सोनम उस पर रातभर लटकती रही और 14 घंटों तक जीवित रही. इसके बाद फिर चौंकेने वाला हादसा हुआ. होमगार्ड बचाव दल ने सोनम को लाइफ जैकेट पहनाकर नाव में बैठा लिया. कुछ दूर चलने के बाद उनकी नाव पलट गई और सोनम दोबारा बह गई.

फिर हुआ यह चमत्कार
चूंकि, होमगार्ड बचाव दल के सदस्य तैराक थे तो वो तैरकर आ गए. लेकिन, सोनम बहती चली गई. यहां एक बार फिर चमत्कार हुआ. करीब 4 किमी बहने के बाद सोनम को एक लकड़ी मिल गई. वह उसे पकड़कर धीरे-धीरे नदी में बहने लगी. इस बीच नदी के किनारे खड़े ग्रामीणों ने उसे देख लिया और नदी में कूद गए. उन्होंने महिला को नदी से खींचकर सुरक्षित बाहर निकाल लिया और पुलिस को सूचना दे दी. फिलहाल सोनम का अस्पताल में इलाज चल रहा है. उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है.

Tags: Mp news

अगली ख़बर