एयर इंडिया का यू-टर्न, अरविंद को रीजनल डायरेक्टर बनाने का आदेश रोका

फाइल फोटो

फाइल फोटो

सुबह दिया था एयर इंडिया ने आदेश, विरोध के चलते शाम को पद्दोन्नति पर लगाई रोक

  • Share this:

एक 'दागदार' अफसर को रीजनल डायरेक्टर बनाने के मंगलवार सुबह दिए अपने फैसले को शाम को ही एयर इंडिया ने रोक दिया है. यह फैसला पायलट एसोसिएशन के विरोध और मीडिया रिपोर्ट्स के बाद लिया गया. पायलट एसोसिएशन ने कहा था कि यह एक दागदार अफसर को ऊपर पहुंचाने की कोशिश है. गौरतलब है कि एयर इंडिया के वरिष्ठ पायलट अरविंद कथपलिया को एयर इं‌डिया ने रीजनल डायरेक्टर नियुक्त किया था.

ये भी पढ़ें- शराब के नशे में मिला तो छीना था फ्लाइंग लाइसेंस, अब एयर इंडिया ने बनाया रीजनल डायरेक्टर

अरविंद वही पायलट थे जिन्हें 11 नवंबर 2018 को दिल्ली से लंदन की फ्लाइट उड़ाने से ठीक पहले शराब के नशे में पकड़ा गया था. जिसके बाद उनका एविऐशन लाइसेंस तीन साल के लिए स्‍थगित कर दिया गया था. वहीं नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 13 नवंबर को उन्हें ऑपरेशंस डायरेक्टर के पद से भी हटाने का आदेश जारी किया था.



ये भी पढ़ें: चीन को झटका देकर भारत आने की तैयारी में 200 बड़ी अमेरिकी कंपनियां! मिलेंगी हजारों नौकरियां
क्या कहा एयर इंडिया ने

एयर इंडिया ने एक आदेश जारी करते हुए कहा कि रीजनल डायरेक्टर के पद से पंकज कुमार 30 अप्रैल को रिटायर हो गए हैं ऐसे में अरविंद कथपलिया को यह पद दिया गया था लेकिन उनके पद्दोन्नति के पूर्व आदेश पर रोक लगाई जाती है. इस संबंध में एयर इंडिया के प्रवक्ता धनंजय कुमार ने कहा कि अरविंद को यह पद नियमों के अनुसार ही दिया गया था. क्योंकि वह पहले एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर थे और यह पद रीजनल डायरेक्टर के पद के समान ही होता है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज