• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • 2 साल की मासूम को कड़ी धूप में कार पार्क कर भूली महिला, 7 घंटे बाद मिली तंदूर-सी भूनी बच्ची

2 साल की मासूम को कड़ी धूप में कार पार्क कर भूली महिला, 7 घंटे बाद मिली तंदूर-सी भूनी बच्ची

सुबह 8 बजे से दोपहर 3 बजे तक कार की सीट बेल्ट से बंधी रह गई थी बच्ची

सुबह 8 बजे से दोपहर 3 बजे तक कार की सीट बेल्ट से बंधी रह गई थी बच्ची

फ्लोरिडा (Florida) से एक बेहद दर्दनाक घटना (Shocking Accident) सामने आई, जिसके बाद इलाके में सनसनी मच गई. यहां एक महिला अपनी पड़ोसी की दो साल की बच्ची को कार (Infant In Car) में भूल गई. 7 घंटे बाद जब उसे बच्ची की याद आई तो वो दौड़कर कार में गई. लेकिन अंदर का मंजर देख उसके मुंह से चीख निकल गई.

  • Share this:
    हादसे तो कभी भी हो जाते हैं. किस वक्त किस जगह पर किसके साथ क्या दुर्घटना घट जाए, कोई कह नहीं सकता. ऐसा ही एक दर्दनाक वाक्या (Shocking Accident) फ्लोरिडा से सामने आया जहां एक महिला अपनी कार में पड़ोसी की बच्ची को भूल गई. कड़ी धूप में 7 घंटे तक ये कार पार्क रही. जब 7 घंटे बाद महिला को याद आया तो वो बच्ची को निकालने पहुंची. लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी. कार भट्टी से तप गई थी और इतनी देर में अंदर बंद बच्ची की मौत हो गई थी.

    जानकारी के मुताबिक, महिला बच्ची की केयर टेकर (Care Taker) थी. वो दिन के समय बच्ची के पेरेंट्स के काम पर जाने के बाद उसका ध्यान रखती थी. हादसे के दिन वो बच्ची को प्ले स्कूल से घर ला रही थी. लेकिन अचानक उसका ध्यान डाइवर्ट हो गया. वो भूल गई कि बच्ची उसके साथ है. इसके बाद महिला अपने कामों में बिजी हो गई. 7 घंटे बाद उसे बच्ची की याद आई. महिला को अब जेल भेज दिया गया है. उसपर लापरवाही में बच्ची की जान लेने का आरोप लगा है.

    लगा था सीट बेल्ट
    घटना के चश्मदीदों ने जो बताया वो दिल तोड़ने वाला है. NBC Miami में छपी खबर के मुताबिक, बच्ची की पहचान 2 साल की Joselyn Maritza Méndez के रूप में हुई. उसका ध्यान 43 साल की Juana Perez-Domingo रखती थी. वो उसे दिन के समय में स्कूल से घर लाती थी और पेरेंट्स के लौटने तक उसके साथ ही रहती थी. हादसे वाले दिन जुआना ने बच्ची को कार में सीट बेल्ट से बांधा और फिर घर आ गई. लेकिन जुआना बच्ची को उतारना भूल गई. जब बच्ची की लाश मिली तब भी वो सीट बेल्ट से बंधी थी.

    सुबह आठ बड़े से थी बंद
    हादसे वाले दिन बच्ची का डेकेयर बंद था. ऐसे में जुआना उसे अपने घर ले आई. लेकिन अपनी कार से उसे उतारना भूल गई. बच्ची सुबह 8 बजे से सीट बेल्ट से बंधी थी. इसके 7 घंटे बाद जब तीन बजे बच्ची को उतारने गई तो उसकी हालत देख चीख पड़ी. 30 डिग्री तापमान में 7 घंटे बंद बंद रहकर बच्ची की बॉडी तंदूर सी पक गई थी. साथ ही उसकी डेड बॉडी बेल्ट से झूल गई थी. बताया जा रहा है कि इसके बाद जुआना ने बच्ची की मां को कॉल कर मौत की जानकारी दी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज