Home /News /ajab-gajab /

<a href='http://khabar.ibnlive.in.com/photogallery/6792/'><font color=red> धरती पर आ चुके हैं सचमुच के टर्मिनेटर!</font></a>

<a href='http://khabar.ibnlive.in.com/photogallery/6792/'><font color=red> धरती पर आ चुके हैं सचमुच के टर्मिनेटर!</font></a>

मशीनी मानव या साइबॉर्ग यानी पूरे या आधे शरीर के किसी हिस्से में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस फिट कर किसी खास अंग की क्षमता बढ़ाकर काम करने वाले लोग।

मशीनी मानव या साइबॉर्ग यानी पूरे या आधे शरीर के किसी हिस्से में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस फिट कर किसी खास अंग की क्षमता बढ़ाकर काम करने वाले लोग।

मशीनी मानव या साइबॉर्ग यानी पूरे या आधे शरीर के किसी हिस्से में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस फिट कर किसी खास अंग की क्षमता बढ़ाकर काम करने वाले लोग।

    नई दिल्ली। मशीनी मानव या साइबॉर्ग यानी पूरे या आधे शरीर के किसी हिस्से में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस फिट कर किसी खास अंग की क्षमता बढ़ाकर काम करने वाले लोग। ऐसे लोगों की संख्या कम है, लेकिन आने वाले समय में ऐसे लोगों का पूरा समाज होगा। दुनिया के पहले साइबॉर्ग नील हॉर्बिंसन बने जो अपनी तीसरी इलेक्ट्रॉनिक आंख आईबॉर्ग से रंगों को देखते नहीं, सुनते हैं।


    मशीनी मानव

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर