Home /News /ajab-gajab /

अमेरिकी पॉप सिंगर ब्रिटनी स्पीयर्स को नहीं मिली पिता के 'चंगुल' से मुक्ति, कोर्ट से झटका पर फैंस ने कहा- फ्री ब्रिटनी

अमेरिकी पॉप सिंगर ब्रिटनी स्पीयर्स को नहीं मिली पिता के 'चंगुल' से मुक्ति, कोर्ट से झटका पर फैंस ने कहा- फ्री ब्रिटनी

पॉप सिंगर ने पिता की कंजरवेटरशिप से आज़ादी की अर्जी दी थी.

पॉप सिंगर ने पिता की कंजरवेटरशिप से आज़ादी की अर्जी दी थी.

Britney Spears के संरक्षण ( Conservatorship) का मामला पहले भी कोर्ट पहुंचा था और जज ने उन्हें खाली हाथ लौटा दिया था. एक बार भी अमेरिकन पॉप सिंगर को इस कानून के चलते (Conservatorship Law) अदालत से निराशा ही हाथ लगी है.

    इंटरनेशनल पॉप स्टार और ग्रैमी अवॉर्ड विजेता ब्रिटनी स्पीयर्स (Britney Spears) और उनके पिता के बीच चल रही कंट्रोवर्सी नए मोड़ पर आ गई है. ग्लोबल मीडिया में छाए इस विवाद में कोर्ट ने ब्रिटनी स्पीयर्स (Britney Spears) का साथ नहीं दिया है. लॉस एंजेलस की कोर्ट (Los Angeles Superior Court) ने पिता की कंजर्वेटरशिप ( Conservatorship Law) से आज़ादी पानी की उनकी अर्जी को खारिज कर दिया है. ब्रिटनी स्पीयर्स ने महीने भर पहले ये अर्जी कोर्ट में दी थी. उन्होंने पहले भी मीडिया में अपने पिता के बंधन से आजादी पाने को लेकर काफी कुछ कहा था.

    अमेरिकन पॉप सिंगर ब्रिटनी (Pop Star Britney Spears) पिछले 13 साल से अपने पिता की कंजरवेटरशिप में रह रही हैं. फरवरी, 2008 में पति केविन फेडरलाइन से उनका तलाक हुआ था. उसके बाद से ही ब्रिटनी के पिता जेम्स पी स्पीयर्स (James P Spears) को उनकी गार्जियनशिप दी गई थी. वे सिंगर की पर्सनल लाइफ से लेकर प्रोफेशन और फाइनेंस से जुड़े फैसले लेने का भी कानूनी अधिकार रखते हैं. ब्रिटनी ने इससे आज़ादी पाने के लिए कोर्ट में अर्जी दी थी. इससे पहले साल 2020 में भी ब्रिटनी स्पीयर्स (Britney Spears) ने पिता की कंजर्वेटरशिप से आज़ादी के लिए कोर्ट से रिक्वेस्ट की थी. तब भी इसे नकार दिया गया था और जज ने वित्तीय कंपनी बेसेमेर ट्रस्ट (Bessemer Trust) उनके को-कंजर्वेटर के तौर पर नियुक्त हुई थी.

    ब्रिटनी ने लगाए थे गंभीर आरोप
    ब्रिटनी ने अदालत को दिए बयान में कई चौंकाने वाले खुलासे किए थे. उन्होंने कहा था, '13 साल से चल रहे 'कंजरवेटरशिप' से मुझे आजादी चाहिए. मेरे पिता मेरी ज़िंदगी को नियंत्रित करके बेहद खुश हैं. मेरे रोने को भी वो एंजॉय करते हैं. वे अपने कजरवेटर्स पर मुकदमा करेंगी और इन सबको जेल में होना चाहिए.' ब्रिटनी ने कहा था कि - '13 साल से वे ये सब झेल रही हैं और अब उन्हें आज़ादी चाहिए. उन्होंने ये भी बताया था कि उनसे उनकी मर्जी के बिना काम कराया जाता है और बच्चे पैदा करने का भी अधिकार नहीं दिया जाता.' ब्रिटनी ने साफ कहा था कि इस कंजरवेटरशिप से उनका भला नहीं बल्कि नुकसान हो रहा है और वे एक बेहतर ज़िंदगी जीना चाहती हैं. उन्हें इस केस में उनकी बहन जेमी लिन ने भी सपोर्ट किया था.

    Britney Spears, Conservatorship Law, britney spears loses case,Pop Star Britney Spears,James P Spears, Britney Spears in tears, Britney Spears controversy
    साल 2008 से ही पिता की कंजरवेटरशिप में रह रही हैं ब्रिटनी स्पियर्स.


    ये भी पढ़ें- दावा: बीते 50 साल से एलियन के संपर्क में है पृथ्वी, अमेरिका दुनिया से छिपा रहा है बहुत बड़ा राज  

    13 साल हैं पिता की कंजरवेटरशिप में
    ब्रिटनी स्पियर्स के पिता को उनकी कंजरवेटशिप ( Conservatorship Law) साल 2008 में मिली थी. उस वक्त सिंगर की हालत बेहद खराब थी. उनके पिता के साथ अटॉर्नी एंड्रयू वॉलेट को भी कंजरवेटर बनाया गया था. उन्होंने 2019 में रिजाइन कर दिया, तब से अकेले ब्रिटनी के पिता ही उनकी कंजरवेटशिप संभाल रहे थे. ब्रिटनी के तमाम आरोपों के बाद उनके पिता के वकील ने अदालत में सारे पेपर्स दिखाते हुए कहा था कि उन्होंने अपनी बेटी के साथ कुछ भी गलत नहीं किया है. उधर ब्रिटनी के फैंस उन्हें आज़ादी दिलाने के लिए सोशल मीडिया पर कैंपेन चला रहे हैं.

    क्या है कंजरवेटरशिप?
    कंजरवेटरशिप, अमेरिका का एक कानून ( Conservatorship Law) है, जो संरक्षण का अधिकार देता है. इसमें कोर्ट संरक्षण करने वाले प्रतिनिधियों का चुनाव करती है. ये कानून उन लोगों के लिए होता है, जो मानसिक या शारीरिक रूप से खुद की देखभाल करने में सक्षम नहीं होते. यूं तो बुजर्गों के लिए इसका इस्तेमाल होता है लेकिन मानसिक रूप से अस्थिर और सिजोफ्रेनिया जैसी बीमारी से पीड़ित लोगों पर भी ये लागू होता है.

    Tags: Hollywood, United States (US), World news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर