यूज के बाद फेंके गए Mask से बनेगी मजबूत सड़कें, 1 km लंबी रोड बनाने में लगेंगे 30 लाख मास्क

कोरोना के दौरान हर दिन कचरे में फेंके जा रहे हैं 680 करोड़ फेस मास्क से बनाई जाएगी सड़क

कोरोना के दौरान हर दिन कचरे में फेंके जा रहे हैं 680 करोड़ फेस मास्क से बनाई जाएगी सड़क

कोरोना (Corona) महामारी से बचने के लिए फेस मास्क को सबसे ज्यादा प्रभावी बताया गया है. 2020 से मास्क का इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जा रहा है. इस वजह से पिछले साल से सबसे ज्यादा कचरा इस्तेमाल किये गए मास्क से ही निकला है. ऑस्ट्रेलिया (Australia) ने इस कचरे से सड़क निर्माण का तरीका निकाला है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 14, 2021, 9:39 AM IST
  • Share this:
2020 की शुरुआत से ही दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है. इस महामारी की रोकथाम के लिए कई तरह के वैक्सीन (Vaccine) बनाए जा चुके हैं लेकिन इससे बचाव के लिए मास्क (Mask) लगाने और बार-बार हाथ धोने को सबसे ज्यादा प्रभावी बताया जाता है. कोरोना के दौरान दुनिया में फेसमास्क का कचरा सबसे ज्यादा इक्कठा किया गया है. इस कचरे से निपटने के लिए ऑस्ट्रेलिया (Australia) ने नई तकनीक निकाली है. इसमें मास्क से सड़क निर्माण का तरीका निकाला गया है. कूड़े में डाले गए मास्क का यूज अब रोड बनाने में किया जाएगा. इससे कचरे का भी निपटारा होगा और मजबूत सड़क भी बनाई जाएगी.

मास्क से बनेगी मजबूत सड़क

मास्क से सड़क निर्माण की ये तकनीक निकाली है ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न के RMIT यूनिवर्सिटी (University) के रिसर्चर्स ने. उन्होंने फेस मास्क से सड़क निर्माण का तरीका निकाला है. इसमें मास्क को कच्चे माल के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा. दो लेन की 1 किलोमीटर लंबी सड़क बनाने में 30 लाख मास्क लगेंगे। इससे करीब 93 टन कचरे का यूज हो जाएगा. ये सड़क काफी मजबूत होगी और इसमें फेस मास्क के साथ भवन निर्माण का मलबा भी यूज होगा.

हर दिन निकलता है 680 करोड़ मास्क
कोरोना महामारी के दौरान अभी दुनिया में हर दिन 680 करोड़ टन कचरा निकल रहा है. दुनिया में वैसे ही कचरे की वजह से ग्लोबल वार्मिंग की समस्या थी. लेकिन कोरोना के कारण कचरे का प्रोडक्शन बढ़ गया है. ऐसे में ऑस्ट्रेलिया के एक्सपर्ट्स ने फेस मास्क से सड़क निर्माण का सॉल्यूशन निकाला है. अब एक्सपर्ट्स इस कोशिश में लगे हैं कि पीपीई किट से भी सड़क बनाई जा सकती है या नहीं?

इस्तेमाल से पहले होगा प्रॉसेस

कोरोना से बचाव के लिए लोग फेस मास्क का इस्तेमाल कर रहे हैं. इनसे सड़क बनाने से पहले इन्हें अच्छी तरह सैनेटाइज किया जाएगा. इसके लिए स्टरलाइज का यूज कर इसे कीटाणुरहित बनाया जाएगा. ताकि इस्तेमाल के दौरान मजदूर कोरोना की चपेट में आ आए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज