Home /News /ajab-gajab /

बुद्धि भ्रष्ट कर देता है खतरनाक ड्रग, लेने वाला खड़े-खड़े सोता है और खुद को ही नोचने लगता है ...

बुद्धि भ्रष्ट कर देता है खतरनाक ड्रग, लेने वाला खड़े-खड़े सोता है और खुद को ही नोचने लगता है ...

नई तरह की बेहद खतरनाक ड्रग (Artisanal Drug) लेकर इंसान जहां का तहां बेसुध खड़ा रह जाता है. (Credit- YouTube/Reuters)

नई तरह की बेहद खतरनाक ड्रग (Artisanal Drug) लेकर इंसान जहां का तहां बेसुध खड़ा रह जाता है. (Credit- YouTube/Reuters)

डेमोक्रैटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो (Democratic Republic of Congo) की राजधानी किनशासा (Kinshasa) में अजीबोगरीब नशीली ड्रग (Weird Drugs) का चलन बढ़ रहा है. ये ड्रग इतना खतरनाक है कि इसका 3-4 बार इस्तेमाल करते ही इंसान की बुद्धि भ्रष्ट हो जाती है.

अधिक पढ़ें ...

    Drugs कैसी भी हो, ये नशीला पदार्थ इंसान को बर्बाद कर देने की क्षमता रखता है. नशे की इस दलदल में फंसने के बाद इंसान मुश्किल से ही अपनी लत छोड़ पाता है. यूं तो इसका किसी भी रूप में होना शरीर को नुकसान (Drug Addiction) ही पहुंचाता है, लेकिन इस वक्त अफ्रीकन देश कांगो की राजधानी किनशासा में एक बेहद अजीब ड्रग का इस्तेमाल हो रहा है. इसे लेते ही मानो इंसान की बुद्धि भ्रष्ट (Bizarre Durg leave people brainless) हो जाती है और वो खुद पर से कंट्रोल खो देता है.

    दुनिया जहां कोरोना नाम की महामारी (Coronavirus Pandemic) से जूझ रही है और इससे बाहर निकलने का तरीका ढूंढ रही है, वहीं कांगो की राजधानी (Kinshasa) में अलग ही महामारी फैली हुई है. यहां नई तरह की बेहद खतरनाक ड्रग (Artisanal Drug) बाज़ार में उतर चुकी है, जिससे लाखों युवाओं को खतरा है. बॉम्बी (Bombe) नाम की इस ड्रग्स का प्रसार बेहद तेज़ी से हो रहा है. लिंगाला भाषा में इसका मतलब ताकतवर होता है. ब्राउन पाउडर की तरह दिखने वाली इस ड्रग्स में बेहद खतरनाक कंटेंट है, जो इंसान की बुद्धि को खत्म कर देता है.

    ड्रग लेकर जहां का तहां खड़ा रह जाता है इंसान
    बॉम्बी नाम की इस खतरनाक ड्रग्स को केटैलिक कनवर्टर के सेलामिक कोर को पीसकर बनाया जाता है. ये कनवर्टर आम तौर पर कारों में ज़हरीली गैसों और एक्जॉस्ट पाइप्स से कार्बन एम्मिशन कम करने के लिए लगाया जाता है. इसके पाउडर को दूसरी दवाओं के साथ मिलाकर तैयार किया जाता है. इस पाउडर को लेने के बाद इंसान जहां का तहां बिना हिले-डुले खड़ा रह जाता है. ये स्थिति कुछ घंटों और कभी कभी कुछ दिनों तक चलती रहती है. वे जॉम्बीज़ की तरह बेवजह भटकते रहते हैं. अब इस ड्र्ग्स को लेने वालों को किनशासा के जॉम्बी कहकर पुकारा जाता है.

    ये भी पढ़ें- प्रेगनेंट बीवी को बेस्वाद खाना खिलाता है पति, खुद मां के साथ मिलकर उठाता है मसालेदार रिच फूड का लुत्फ

    बुद्धि भ्रष्ट कर देता है Bombe
    रेडियो ओकपी से बात करते हुए प्रोफेसर नडेलो ( Prof. Ndelo Di Panzu ) ने बताया कि ड्रग्स लेते ही युवा जागते हुए भी बेहोश हो जाते हैं. वे खड़े-खड़े सोने लगते हैं. अपने ही हाथों को नोचने लगते हैं और उनके चेहरे के भाव बदल जाते हैं. कभी वे रोते हैं तो कभी बेवजह ही हंसने लगते हैं. उनके अंदर से सफाई का सेंस खत्म हो जाता है और वे गंदे घूमते रहेत हैं. उनका खाने-पीने और सोने का होश भी खत्म हो जाता है. चूंकि ये ड्रग काफी सस्ती भी है, ऐसे में इसे खरीदना और बेचना भी आसान है. जो लोग अपनी गरीबी को भूल जाना चाहते हैं, वे इसका इस्तेमाल धड़ल्ले से कर रहे हैं. यही वजह है कि जब दुनिया कोरोना से जूझ रही है, कांगो जॉम्बी क्रिएटिंग ड्रग्स से जूझने पर मजबूर है.

    Tags: Drugs case, Drugs Problem, Shocking news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर