• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • Amazing: CEO ने घर बेचकर बढ़ाई स्टाफ की सैलरी, खुद का वेतन 7 करोड़ कम किया, कर्मचारियों को दिया 51 लाख

Amazing: CEO ने घर बेचकर बढ़ाई स्टाफ की सैलरी, खुद का वेतन 7 करोड़ कम किया, कर्मचारियों को दिया 51 लाख

 Gravity Payments नाम की कंपनी चलाने वाले Dan Price अपने इस फैसले से काफी संतुष्ट हैं. (Credit- Gravity)

Gravity Payments नाम की कंपनी चलाने वाले Dan Price अपने इस फैसले से काफी संतुष्ट हैं. (Credit- Gravity)

क्रेडिट कार्ड प्रोसेसिंग कंपनी चलाने वाले डैन प्राइस (Dan Price) ने कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने के लिए अपना एक घर तक बेच डाला. आपको जानकर हैरानी होगी अब उनकी कंपनी में CEO से लेकर स्टाफ तक 51 लाख की सैलरी (Salary Hike) पर ही काम करते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    अमेरिका के एक बड़े दिलवाले बॉस की कहानी इन दिनों वायरल हो रही हैं. Gravity Payments नाम की कंपनी चलाने वाले डैन प्राइस (Dan Price) को एक दिन पता चला कि उनके एक कर्मचारी को अपने खर्चे पूरे करने के लिए चुपके से दूसरी नौकरी भी करनी पड़ती है, तो उन्होंने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए पूरे स्टाफ की मिनिमम सैलरी 51 लाख पहुंचा दी.

    डैन प्राइस (Dan Price) महज 31 साल के हैं. बतौर CEO उनका ये फैसला सुनने के बाद कहा गया था कि इससे उनकी कंपनी दिवालिया हो जाएगी और ये सब ज्यादा दिन नहीं चल पाएगा. हालांकि अब डैन का कहना है कि उन्हें अपने इस फैसले से फायदा हुआ है. इस फैसले के बाद जहां उनकी कंपनी के कर्मचारी खुश हैं, बल्कि उनका डेडिकेशन भी पहले से कहीं ज्यादा बढ़ गया है.

    अपना घर बेचा, 7 करोड़ कम कर दिया वेतन
    ग्रैविटी पेमेंट्स नाम से डैन अपनी एक क्रेडिट कार्ड प्रोसेसिंग कंपनी चलाते हैं. उन्हें एक दिन पता चला कि उनकी कंपनी के कर्मचारी को अपने खर्चे पूरे करने के लिए पार्ट टाइम नौकरी करनी पड़ती है. ये बात पता चलते ही डैन प्राइस (Dan Price ) ने बड़ा फैसला लेते हुए अपने स्टाफ की सैलरी 51 लाख कर दी. इसके लिए उन्होंने अपने वेतन में 7 करोड़ की कटौती कर दी. इतना ही नहीं उन्होंने अपना दूसरा घर भी बेच दिया. इससे मिलने वाले पैसे से उन्होंने अपने स्टाफ के लोगों का वेतन मिनिमम 51 लाख कर दिया. इस वक्त उनकी सैलरी उनकी कंपनी के कर्मचारियों के ही बराबर है.

    ये भी पढ़ें- लड़की के हाथ पर बने टैटू थे मकान मालिक को नापंसद, बिना नोटिस के ही निकाल दिया घर से बाहर

    CEO ने कहा- फैसले से हुआ फायदा
    डैन प्राइस (Dan Price) के इस फैसले के 6 साल बाद अब कंपनी फायदे में है. उनकी कंपनी का न सिर्फ टर्नओवर बढ़ गया है, बल्कि कंपनी में स्टाफ की संख्या भी डबल हो गई है. Gravity Payments काफी तरक्की पर है और यहां से अब स्टाफ नौकरी छोड़कर भी नहीं जाता है. The Sun की रिपोर्ट के मुताबिक डेन का कहना है कि साल 2020 में कोरोना के दौरान उन्हें नुकसान ज़रूर हुआ था, लेकिन अब उनकी कंपनी हालात से उबर चुकी है. कोरोना काल में कंपनी के स्टाफ ने अपनी इच्छा से ही अपनी सैलरी कम कर ली थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज