Home /News /ajab-gajab /

british study claims 1 week digital detox does wonders for mental health pratp

हफ्ते भर सोशल मीडिया से दूर होते ही उठ जाएंगे अक्ल के पर्दे, ब्रिटिश स्टडी में किया गया दावा !

स्टडी में सोशल मीडिया से दूर रहने वाले लोग ज्यादा आशावादी और स्वस्थ दिखाई दिए. (सांकेतिक तस्वीर)

स्टडी में सोशल मीडिया से दूर रहने वाले लोग ज्यादा आशावादी और स्वस्थ दिखाई दिए. (सांकेतिक तस्वीर)

बाथ यूनिवर्सिटी (University of Bath) की ओर से की गई स्टडी में दावा किया गया है कि डिप्रेशन और चिंता से मुक्ति चाहिए तो कम से कम 1 हफ्ते तक सोशल मीडिया (Social Media Negative Impact) को टाटा-बाय बाय करना होगा.

Social Media Impact on Mental Health : आज के ज़माने में शारीरिक समस्याओं जितनी ही परेशानी लोगों को मानसिक दिक्कतों से हो रही है. डिप्रेशन, एंग्ज़ायटी और मूड स्विंग्स से दुनिया में करोड़ों लोग जूझ रहे हैं. पिछले कुछ सालों से ये समस्या ज्यादा बढ़ी है या फिर यूं कहें, जबसे इंटरनेट का कब्ज़ा हमारी ज़िंदगी पर बढ़ा है, तब से मानसिक स्वास्थ्य (Social Media Triggers Anxiety) बड़ी समस्या बन गया है.

हाल में ब्रिटेन की बाथ यूनिवर्सिटी (University of Bath) में इससे जुड़ी एक स्टडी की गई है. स्टडी की लीड रही डॉक्टर जेफ लैंबर्ट ने बताया है कि ज़िंदगी में सोशल मीडिया का दखल कुछ ज्यादा ही बढ़ गया है और यही हमारे डिप्रेशन और चिंता की अहम वजह है. ऐसे में अगर हफ्ते भर भी इससे छुट्टी ले ली जाए, तो मानसिक स्वास्थ्य में बड़ा फायदा हो सकता है.

Digital Detox की ज़रूरत
स्टडी के मुताबिक लोग हर हफ्ते घंटों सोशल मीडिया पर बिताते हैं. उन्हें फोन में स्क्रॉल कर-करके देखने में मज़ा तो आता है, लेकिन इसका नकारात्मक प्रभाव कुछ यूं पड़ता है कि वे डिप्रेस हो जाते हैं. इस स्टडी में कुल 154 लोग शामिल किए गए, जिनकी उम्र 18 से 72 साल का के बीच थी. इनमें से एक ग्रुप को सोशल मीडिया जैसे- इंस्टाग्राम, फेसबुक, ट्विटर और टिकटॉक से हफ्ते भर दूर रखा गया, जबकि दूसरे ग्रुप के लोगों ने हफ्ते में 8 घंटे इसे इस्तेमाल किया. जब उनसे हफ्ते भर बाद फीडबैक लिया गया तो सोशल मीडिया से दूर रहने वाले लोग ज्यादा आशावादी और स्वस्थ दिखाई दिए.

ये भी पढ़ें- घर में बंद रहने को मजबूर है 7 साल की बच्ची, बाहर निकलते ही चकत्तों से भर जाता है शरीर !

डिप्रेशन और चिंता हुई कम
डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक स्टडी में इन लोगों ने आशावाद और छोटी-छोटी खुशियों के लेकर सवाल किए गए. जनरल एंग्ज़ाइटी डिसऑर्डर स्केल पर सोशल मीडिया से दूर रहे लोगों को 46-55.93 तक पाया गया. वहीं उनका डिप्रेशन भी 7.46 से 4.84 तक कम हुआ, जबकि एंग्ज़ायटी 6.92 से 5.94 तक पहुंची. ज्यादातर लोगों ने इस प्रयोग के सकारात्मक रिजल्ट बताए. इस स्टडी में साफ हुआ कि सोशल मीडिया डिप्रेशन, चिंता और मानसिक स्वास्थ्य पर खराब प्रभाव डालता है. ऐसे में अगर हफ्ते भर का ब्रेक डॉक्टर की सलाह की तरह अपनाया जाए, तो इससे काफी फायदा हो सकता है.

Tags: Depression, Science news, Social media

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर