भगवान बनने की चाहत में शख्स ने उठाया खौफनाक कदम, आरी लेकर काट लिया अपना ही गला

थाईलैंड के पुजारी ने अगले जन्म में भगवान बनने की चाहत में खुद की बलि चढ़ा दी

थाईलैंड के पुजारी ने अगले जन्म में भगवान बनने की चाहत में खुद की बलि चढ़ा दी

थाईलैंड में एक शख्स ने आरी लेकर अपने ही हाथ से अपना गला काट लिया. शख्स ने इस उम्मीद में जान दी कि ऐसा करने से मौत के बाद वो भगवान बन जाएगा. शख्स थाईलैंड के एक मंदिर में पुजारी था. पुलिस को मंदिर से ही पुजारी की लाश मिली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2021, 8:24 AM IST
  • Share this:
अंधविश्वास ऐसी चीज है, जो अच्छे-अच्छों को ले डूबती है. जिसके दिमाग में अंधविश्वास घर कर जाता है, उसके लिए सही-गलत का फर्क खत्म हो जाता है. इसी अंधविश्वास के चक्कर में थाईलैंड के एक शख्स ने आरी लेकर अपने हाथ से अपना गला काट लिया. शख्स की पहचान थम्माकरोण वंगपरीचा (Thammakorn Wangpreecha) के रूप में हुई. थम्माकरोण के मन में ये बात कर गई थी कि अगर वो अपना सिर काट लेगा तो उसका अवतार भगवान के रूप में होगा.

मंदिर से मिली लाश

मामला 15 अप्रैल का बताया जा रहा है. थम्माकरोण की बॉडी थाईलैंड के नोंग बुआ लम्फू (Nong Bua Lamphu) प्रांत मंदिर से मिली. थम्माकरोण वाट फु हिन (Wat Phu Hin) मंदिर में पुजारी था. उसने एक बड़ी आरी से अपना गला मंदिर परिसर में काट लिया. उसे ऐसा लगने लगा था कि अपनी बलि चढ़ाकर वो भगवान बन जाएगा.

पांच साल से चल रही थी प्लानिंग
थम्माकरोण को जानने वालों के मुताबिक़, पुजारी बीते पांच साल से इस अनुष्ठान की तैयारी में लगा था. उसने कई लोगों को इसकी जानकारी दी थी. सभी को लगता था पुजारी मजाक कर रहा है. किसी को उम्मीद नहीं थी कि वो सच में ऐसा कर बैठेगा. जब थम्माकरोण की लाश मिली तो हर कोई हैरान रह गया.

अगले जन्म में बनेगा भगवान

थम्माकरोण की लाश को सबसे पहले उसके भतीजे ने देखा. फ्लोर पर खून की धरा बह रही थी. बग़ल में रखी गई चिट्ठी से सारा खुलासा हुआ. उसमें ही थम्माकरोण ने लिखा कि वो बीते पांच साल से अनुष्ठान की तैयारी कर रहा था. मौत के बाद अब वो भगवान के अवतार में जन्म लेगा. थम्माकरोण बीते 11 साल से मंदिर में पुजारी था. पुलिस ने बॉडी को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज