अपना शहर चुनें

States

क्या कोरोना वायरस पहुंचा सकता है दिमाग को नुकसान? वैज्ञानिकों की टीम ने शुरू की जांच

कोरोना वायरस
कोरोना वायरस

कोरोना वायरस ने क्या रोगियों के दिमाग को भी नुकसान पहुंचाया है ? इसकी जाँच करने के लिए स्वीडन में उप्साला विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने 19 लोगों के मस्तिष्कमेरु द्रव (cerebrospinal fluid) के नमूने लिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 6:52 PM IST
  • Share this:
कोरोना वायरस कितना घातक है इसको लेकर रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं. हाल ही में इसको लेकर एक नई स्टडी सामने आई है, जिससे संकेत मिल रहे हैं कि कोरोना वायरस आप के दीमाग को कमजोर कर सकता है. दरअसल, हाल के समय में कोरोना संक्रमित कुछ मरीजों में सिर दर्द, आशंकित रहना और भ्रम में रहने जैसे अनुभव सामने आ रहे हैं. जानकारों का कहना है कि कोरोना वायरस की वजह से इंसान के दिमाग पर असर पड़ सकता है, जो बहुत ही घातक है, इसके संकेत शुरुआती दौर से ही मिल रहे हैं.

यह स्टडी अप्रैल 2020 में शुरू की गयी थी, जिसमें स्वीडन के उप्साला विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं की टीम शामिल थी. इसके शुरुआती परिणाम हाल ही में पीयर-रिव्यू यूरोपियन जर्नल ऑफ न्यूरोलॉजी में प्रकाशित हुए हैं. इस रिसर्च में स्वीडन में शोधकर्ताओं ने कोरोना संक्रमित हो चुके 19 लोगों के मस्तिष्कमेरु द्रव (cerebrospinal fluid) के नमूने लिए. जांच में पाया गया कि  इन रोगियों में भ्रम से लेकर कोमा तक के न्यूरोलॉजिकल लक्षण थे. जांच के दौरान आठ लोगों (42 प्रतिशत) की  मानसिक स्थिति में बदलाव था और आठ को कोविड-19 के  कारण  सिरदर्द भी था.

शोधकर्ताओं ने स्टडी में लिखा है कि कोरोना वायरस के लिए जिम्मेदार सार्स कोव-2 (Sars-Cov-2) दिमाग को संक्रमित कर सकते हैं और शरीर के न्यूरॉन्स नेटवर्क को भी प्रभावित कर सकते हैं. . यह स्ट्रक्चर वास्तव में दिमाग में बहने वाली रहने वाले खून की नसों की सुरक्षा करता है और उसे किसी बाहरी हमले से बचाता है. इससे पहले जीका वायरस के मामले में भी कहा गया था कि इससे दिमाग की कोशिकाओं को काफी नुकसान पहुंचता है.



दूसरी ओर, यूके और यूएस के शोधकर्ताओं की टीम ने भी एक शोध शुरू किया है, जिसमें यह देखा जा रहा है कि क्या कोरोना संक्रमण से अल्जाइमर का खतरा बढ़ सकता है? हालांकि, अभी तक इससे जुड़ी कोई ठोस जानकारी नहीं मिल पाई है,  लेकिन यह पाया गया है कि वायरस दिमाग पर हमला करने में सक्षम है. वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि ये शोध अच्छा रिजल्ट सामने ला सकेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज