Home /News /ajab-gajab /

बीमारी का पता लगाने के लिए कुत्तों की ट्रेनिंग शुरु, अल्ट्रासाउंड और स्कैनिंग नहीं सूंघ कर खोज लेंगे बीमारी

बीमारी का पता लगाने के लिए कुत्तों की ट्रेनिंग शुरु, अल्ट्रासाउंड और स्कैनिंग नहीं सूंघ कर खोज लेंगे बीमारी

फोटो-सांकेतिक: बीमारी का पता लगाने के लिए ट्रेंड होंगे पप्पीज़

फोटो-सांकेतिक: बीमारी का पता लगाने के लिए ट्रेंड होंगे पप्पीज़

कुत्तों को सबसे वफादार और समझदार पालतू कहा जाता है. मालिक की सुरक्षा से लेकर क्राइम का पता लगाने में भी कुत्तों का सहारा लिया जाता है. अब ये एक कदम और आगे बढ़ गए हैं. कुत्ते अब सूंघ कर होने वाली बीमारी का पहले से पता लगा लेंगे और आपको आगाह करेंगे.

अधिक पढ़ें ...

    कुत्ते अब सूंघ कर आपकी गंभीर से गंभीर बीमारी का पता लगा सकेंगे. जिससे आप वक्त रहते आगाह हो जाएंगे और समय रहते इलाज शुरु कर बीमारी से निजात भी पा सकेंगे. ये दावा है मेडिकल डिटेक्शन डॉग्स चैरिटी (Medical Detection Dogs charity) का. जिसने बाकायदा कुत्तों को इसके लिए ट्रेंनिग दी है. जिसके बाद अब वो (Trained dogs to detect the odour of Covid) कोविड के मामलों में लोगों की जांच कर भी रहे हैं. मेडिकल डिटेक्शन डॉग्स चैरिटी अब उन्हें और भी गंभार बीमारियों का पता लगाने के लिए ट्रेंड करने की योजना बना रही है. जिस पर जल्द ही काम शुरु किया जाएगा. फिलहाल उन डॉग्स की तलाश पूरी हो गई है, जिन्हें ट्रेनिंग के लिए चुना गया है.

    क्रिसमस पर पैदा हुए लैब्राडोर (Newborns Labradors) के 6 नवजात पप्पी जिनमें से 3 Male और 3 Female हैं. इन सभी को गंभीर बीमारियों का पता लगाने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा. फिलहाल इन्हें ऑब्जर्वेशन में रखा गया. उनकी अपनी मूल प्रवृति पर परीक्षण चल रहा है. उसी के आधार पर ट्रेनिंग शुरू की जाएगी.

    सूंघ कर जान लेंगे बीमारी और उसकी गंभीरता
    डॉग्स को सबसे पहले कैंसर और मलेरिया जैसी बीमारियों की गंध से परिचित कराया जाएगा फिर ट्रेनिंग दी जाएगी जिससे वो जल्द ही इसका पता लगाने में सक्षम हो सकेंगे. इन छोटे लैब्राडोर्स को टाइप 1 डायबिटीज़, ब्लड प्रेशर, पोस्टुरल टैचीकार्डिया सिंड्रोम और एलर्जी जैसी समस्या (Type 1 diabetes, heart-rate condition postural tachycardia syndrome and severe allergies) से जूझ रहे लोगों के साथ काम करना भी सिखाया जाएगा ताकि मेडिकल इमरजेंसी होने पर सचेत किया जा सके.

    पप्पीज़ के प्रजनन का काम शुरु
    कुत्तों की सप्लाई और ट्रेनिंग मैनेजर क्रिस एलेन (Puppy supply and training manager Chris Allen) के मुताबिक कोविड महामारी (Covid Pandemic) के दौरान पप्पीज़ की सोर्सिंग पर खासा असर पड़ा था. जिसे उनका ट्रेनिंग का काम बहुत प्रभावित हुआ था. लेकिन अब उन्होंने इसका निर्माण खुद ही (Own breeding scheme) शुरू कर दिया. जिससे निर्भरता कम होगी और काम तेज़ी से हो सकेगा. फिलहाल वो 6 प्यारे पप्पी जिन्हे ट्रेनिंग के लिए तैयार किया गया है उनके नाम है एल्फ- जो बहुत बहादुर है. कोको- चीज़ों को तलाश करने के लिए बेताब रहती है. पॉपी- प्यारी और शांत है लेकिन ये सोचती बहुत है. इंपीरियल- ये सबसे छोटा है मगर सबसे उत्साही और उमंग (enthusiasm) से भरा हुआ है. हर्षे- ये सबसे प्यारी और आकर्षक है. मैक्स- इसे हमेशा एक्शन में रहना और सोना बहुत पसंद है. ये सभी हैं तो सिबलिंग (सगे भाई-बहन) लेकिन इन सबकी खूबियां एक-दूसरे से जुदा है. ये ट्रेनिंग में कोऑपरेट कर रहे हैं.

    Tags: Ajab Gajab news, Baby animal, Khabre jara hatke, OMG News, Shocking news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर