होम /न्यूज /अजब गजब /

चमत्कार ! मां के शरीर नहीं लैब में बनेगा बच्चा, रोबोट करेगी नर्स और दाई जैसी देखभाल

चमत्कार ! मां के शरीर नहीं लैब में बनेगा बच्चा, रोबोट करेगी नर्स और दाई जैसी देखभाल

आने वाले वक्त में भ्रूण से नवजात बच्चा बनने तक का पूरा काम लैब में ही हो जाएगा. (सांकेतिक तस्वीर/Pixabay)

आने वाले वक्त में भ्रूण से नवजात बच्चा बनने तक का पूरा काम लैब में ही हो जाएगा. (सांकेतिक तस्वीर/Pixabay)

AI Nanny to look after babies : बच्चा पैदा करने के लिए आने वाले वक्त में मां की कोख (Artificial Womb) की भी ज़रूरत नहीं होगी और इसे पालने के लिए भी रोबोटिक नर्स और दाई उपलब्ध होंगी.

तकनीक के मामले में चीन का कोई जवाब ही नहीं. मशीनों और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) के मामले में हर रोज़ नई चीज़ें विकसित कर रहे चीन ने अब बच्चा पैदा करने (Artificial Womb) जैसे काम के लिए भी मशीनें तैयार कर ली हैं. आने वाले वक्त में भ्रूण से नवजात बच्चा बनने तक का पूरा काम लैब में ही हो जाएगा. इतना ही नहीं इनकी शुरुआती देखभाल के लिए किसी इंसान नहीं बल्कि रोबोटिक नर्स (Robotic Nurses) की ज़रूरत होगी.

चीनी रिसर्चर्स (Chinese Researchers Developed Robotic Nurses) ने अपनी ताज़ा रिसर्च में खुलासा किया है कि जिस तरह मां की कोख में भ्रूण का विकास होता है, ठीक वैसे ही इसे लैब में विकसित किया जा सकेगा. आर्टिफिशियल वॉम्ब (Artificial Womb) में भी बच्चे को विकसित होने में 9 महीने का वक्त लगेगा. इस दौरान लैब में विकसित हुए कृत्रिम गर्भ में पलने वाले बच्चे की देखभाल करने वाले रोबोट को भी बना लिया गया है, जो नर्स की तरह उस पर हर वक्त नज़र रखेगा.

चीन में चल रहा है एक्सपेरिमेंट
साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट (South China Morning Post) के मुताबिक सुझोऊ इंस्‍टीट्यूट ऑफ बायोमेडिकल इंजीनियरिंग एंड टेक्‍नोलॉजी के रिसर्चर्स ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लैस रोबोटिक दाइयों का प्रयोग किया है. ये फिलहाल चूहों पर नज़र रख रही हैं. चीनी वैज्ञानिकों की इस रिसर्च को को जर्नल ऑफ बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में पब्लिश किया गया है. रिपोर्ट में दावा किया गया है कि रोबोटिक दाई और कृत्रिम भ्रूण को इस तरह तैयार किया गया है कि पूरी प्रक्रिया सही तरीके से चल रही है. कुछ गड़बड़ होने पर ये रोबोटिक दाइयां वैज्ञानिकों को अलर्ट करती हैं.

ये भी पढ़ें- Valentine’s Day पर लेना है बेवफाई का बदला, पाल लो Ex के नाम का कॉकरोच !

पैदा नहीं डिज़ाइन होंगे बच्चों
वैज्ञानिकों का कहना है कि लैब में बच्चे का विकास होने से उनका जीन करेक्शन भी हो सकता है. उनकी सेहत पर पड़ने वाले बुरे असर या बीमारियों को रोका जा सकेगा. माता-पिता की ज़रूरत के मुताबिक बच्चा बन सकेगा. बच्चे में क्या खूबियां डालनी हैं और क्या कम करना है, ये खुद तय किया जा सकेगा. अगर आसान भाषा में कहें तो ये डिज़ाइनर बेबी होंगे. चीन भले ही अपने इस प्रयोग से खुश हो, लेकिन कई देश इसे अनैतिक बताकर इसका विरोध कर रहे हैं. ये कुदरत की प्रक्रिया में बाधा डालने जैसा है.

Tags: Science news, Technology, Viral news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर