अमेरिका में 40 साल पहले ही आया 'COVID',धड़ल्ले से होता रहा बिज़नेस ...जानिए पूरा मामला!

अमेरिका के एरिज़ोना में कोविड इंक नाम से 40 साल से चल रही है कंपनी.

अमेरिका के एरिज़ोना में कोविड इंक नाम से 40 साल से चल रही है कंपनी.

'COVID'टर्म को हममें से ज्यादातर लोगों ने तभी सुना, जब ये कह बनकर पूरी दुनिया पर टूटा, लेकिन अमेरिका के अंदर ही COVID नाम 40 साल पहले ही अस्तित्व में आ गया था. वो बात अलग है कि इस पर किसी का ध्यान ही नहीं गया क्योंकि कौन जानता था कि ये नाम 2020 में बच्चे-बच्चे की ज़ुबान पर होगा.

  • Share this:

एरिज़ोना. अमेरिका में COVID-19 ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई. अर्थव्यवस्था से लेकर मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर तक की कमर तोड़ कर रख दी. अमेरिका कोविड नाम की इस बला की पैदाइश को लेकर परेशान है लेकिन उसके अपने घर में 'COVID'पिछले 40 साल से मौजूद है. वो बात अलग है कि उसका इस मानवीय संकट और महामारी से कोई लेना-देना नहीं है. दरअसल COVID अमेरिका के एरिज़ोना प्रांत में एक शहर टेंपे में मौजूद ऑडियो-वीडियो सेक्टर से जुड़ी हुई कंपनी है. ये 40 साल पहले से यहां कारोबार कर रही है. साल 2020 में जब कोविड नाम की महामारी आई तो इस कंपनी के कर्ता-धर्ता भी चौंक गए.

चार दशक पहले एरिज़ोना में COVID.inc नाम की इस कंपनी की स्थापना हुई थी. कंपनी ऑडियो विजुअल वॉल प्लेट्स और केबल बनाने का काम करती है. उन्होंने पहले अपनी कंपनी का नाम कुछ और रखने के लिए सोचा था. कंपनी के सीईओ नॉम कार्सन कहते हैं कि वे अपनी कंपनी का नाम वीडियो कंपनी या वीडियो फॉर शॉर्ट रखना चाहते थे. चूंकि उस वक्त ऐसे नाम की तमाम कंपनियां बाज़ार में मौजूद थीं, इसलिए उन्होंने एक कर्मचारी के सुझाव के बाद कंपनी का नाम COVID.inc रखा.

महामारी के काल में हुए मशहूर

नॉम कार्सन का कहना है कि वे 40 साल से बिज़नेस कर रहे हैं. पिछले साल जब WHO ने COVID-19 को महामारी घोषित किया तो कंपनी के कर्ता धर्ता भी चौंक गए. इसके बाद कंपनी को ज्यादा लोग जानने लगे. धीरे-धीरे दुनिया भर में वे चर्चित हो गए. महामारी और उनकी कंपनी के नाम के बीच की समानता सिर्फ एक इत्तेफाक था.
कुछ दिलचस्प घटनाएं भी हुईं 

कंपनी का बोर्ड और ऑफिस देखने के बाद लोग कई बार वहां सेल्फी लेने के लिए रुक जाने थे. कंपनी के कर्मचारी बताते हैं कि कई बार तो ऐसा भी हुआ कि कंपनी का बोर्ड देखकर लोग समझ बैठते थे कि यहां कोविड-19 का टेस्ट होता है. कुछ लोग लाइन लगाकर भी खड़े हो जाया करते थे. वहीं कुछ लोगों ने सुझाव दिया कि कंपनी का नाम ही बदल दिया जाए. हालांकि COVID.inc के सीईओ कहते हैं कि इसकी उन्हें ज़रूरत नहीं. वे संक्रमण फैलाते हैं लेकिन अपने प्रोडक्ट की क्वालिटी का.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज