होम /न्यूज /अजब गजब /डॉक्टर खुद ही मरीजों को देता था दर्द, फिर इलाज के नाम पर ऐंठता था पैसे !

डॉक्टर खुद ही मरीजों को देता था दर्द, फिर इलाज के नाम पर ऐंठता था पैसे !

बुजुर्ग अमेरिकन डॉक्टर ने अपने मरीज़ों को 10 साल तक बेवकूफ बनाया. (सांकेतिक तस्वीर)

बुजुर्ग अमेरिकन डॉक्टर ने अपने मरीज़ों को 10 साल तक बेवकूफ बनाया. (सांकेतिक तस्वीर)

61 साल के अधेड़ डॉक्टर (Doctor Damages Patients teeth for profits) ने अपने पेशे को पैसे कमाने का धंधा बना रखा था. वो खु ...अधिक पढ़ें

किसी भी तरह की शारीरिक दिक्कत होने पर हम डॉक्टर के पास जाते हैं और वे हमें जो भी बताते हैं, उस पर भरोसा भी करते हैं. अमेरिका (United States News) में भी एक बुजुर्ग डॉक्टर (Dentist fooled patients for profit) के पास जाने वाले मरीज़ यही सोचते थे कि वो उन्हें ठीक कर देगा. उन्हें इस बात का बिल्कुल अंदाज़ा नहीं था कि डॉक्टर न सिर्फ उनकी परेशानी बढ़ा रहा है, बल्कि लंबे-चौड़े बिल (Doctor Damages Patients teeth for profits) का भी इंतज़ाम कर रहा है.

61 साल के डेंटिस्ट स्कॉट चैमोली (Scott Chamolli) अमेरिका के विंस्कंसिन (United States, Wisconsin) में रहते हैं और उन्हें हाल ही में ऐसे मामले में दोषी पाया गया है, जो किसी भी डॉक्टर के पेशे के लिए अच्छा नहीं है. उन पर अपने मरीज़ों के साथ फ्रॉड करने का आरोप है. वो पिछले 10 साल से लोगों को इलाज के नाम पर बेवकूफ बना रहा था और उनका फायदा उठाता था.

पहले बढ़ाता था परेशानी, फिर करता था इलाज
स्कॉट चैमोली (Scott Chamolli) पर पिछले 10 साल से हेल्थकेयर फ्रॉड करने का आरोप है. अच्छा-खासा एक्सपीरियंस रखने वाले डेंटिस्ट ने लोगों के दांतों ज़बरदस्ती ड्रिलिंग करके और उन्हें तोड़कर पैसे कमाए. पहले वो खुद ही ज़बरदस्ती की परेशानियां पैदा करता था और फिर गैर-ज़रूरी ट्रीटमेंट करके उनका बिल बनाता था. जिन लोगों के दांत ठीक भी होते थे, उन्हें डॉक्टर यकीन दिला देता था कि कुछ ट्रीटमेंट की ज़रूरत है. इसके बाद वो उनका लंबा-चौड़ा बिल बनाता था.

साल 2019 में सामने आया फ्रॉड
डॉक्टर की इस फ्रॉड स्कीम का पता साल 2019 में चला. जब डॉक्टर अपनी प्रैक्टिस को बेचना चाहता था, तब नए ओनर्स ने उसकी फाइल्स चेक की तो 3 साल के अंदर इतनी सारी सर्जरी और प्रोसिजर देखकर उनका दिमाग घूम गया. डॉक्टर ने 100 मरीज़ों में कम से कम 6 क्राउन्स लगाए थे, इसका औसत 32 क्राउन/100 मरीज़ था. वकील जूली स्टीवर्ट के मुताबिक वो ज्यादातर मरीज़ों का बैकग्राउंड देखकर इलाज करता था. डॉक्टर की असिस्टेंट रह चुकी एक लड़की ने बताया कि वो ज़बरदस्ती की सर्जरी देखकर हैरान रह जाती थी. डॉक्टर को इस मामले में दोषी पाया गया है और उन्हें सज़ा के तौर पर 20 साल की जेल हुई है.

Tags: Shocking news, Viral news, Weird news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें