Home /News /ajab-gajab /

कुत्ते का चेहरा देखकर कोई नहीं ले जाता था घर, अब खुली किस्मत, सोशल मीडिया पर बन गया स्टार

कुत्ते का चेहरा देखकर कोई नहीं ले जाता था घर, अब खुली किस्मत, सोशल मीडिया पर बन गया स्टार

Picasso के चेहरे को देखकर कोई उसे एडॉप्ट नहीं करता था, अब वो सोशल मीडिया स्टार है. (Credit- Lisel Wilhardt)

Picasso के चेहरे को देखकर कोई उसे एडॉप्ट नहीं करता था, अब वो सोशल मीडिया स्टार है. (Credit- Lisel Wilhardt)

पिकासो (Piccaso) नाम के इस कुत्ते के चेहरे (Deformed Face of Dog) को देखने के बाद उसे कोई भी एडॉप्ट करने के लिए तैयार नहीं होता था, आखिरकार उसे एक घर मिल ही गया.

    आमतौर पर घर में पेट्स (Pets) को पालने से पहले लोग उसकी स्किल्स से लेकर सारी चीज़ें चेक करते हैं और फिर पेट को घर ले आते हैं. अगर सोचिए किसी डॉग का चेहरा (Deformed Face of Dog) ही खराब हो, तो उसे कौन घर ले जाना चाहेगा? Piccaso नाम के एक Dog की कहानी ऐसी ही है. उसके चेहरे का शेप देखने के बाद उसे कोई भी अपने घर एडॉप्ट करके ले जाना नहीं चाहता था.

    स्पैनिश आर्टिस्ट के नाम पर इस डॉग का नाम Picasso रखा गया. इसके चेहरे का एक हिस्सा बिल्कुल अजीब है. उसके अजीबोगरीब चेहरे की वजह से ही उसका नाम पिकासो रखा गया है. इस पिटबुल डॉग को काफी दिनों से एडॉप्शन के लिए रखा गया था, लेकिन कोई भी इसे एडॉप्ट नहीं कर रहा था. वजह थी पिकासो का अजीबोगरीब चेहरा और उसका खाते वक्त गंदगी फैलाना.

    आखिरकार Picasso के नखरे उठाने को तैयार हुआ ओनर
    जन्म से ही पिकासो का चेहरा टेढ़ा था. डॉग का जबड़ा बिगड़ा हुआ था, इस विकलांगता की वजह से कुत्ते को खाते समय ज्यादा बड़ी बाइट लेनी होती है और वो इधर-उधर खाना भी गिराता है. वो सिर्फ एक तरफ से ही जीभ का इस्तेमाल कर सकता है. कुत्ते का नाम स्पैनिश आर्टिस्ट पिकासो की मशहूर पेंटिंग The Weeping Woman से प्रभावित होकर रखा गया है. दिलचस्प बात ये है कि कुत्ते को देखकर आपको भले ही अजीब लगे, लेकिन उसे न तो खाने में, भौंकने में या फिर खेलने में अपने टेढ़े चेहरे की वजह से कोई तकलीफ होती है.

    महिला को भाया पिकासो का साथ
    पिकासो ( Picasso) और उसके भाई पॉब्लो को क्रिसमस, 2016 में कैलिफोर्निया डॉग सेंटर (California Dogs Center) लाया गया था. पॉब्लो को किसी तरह की कोई परेशानी नहीं थी, लेकिन पिकासो को चेहरा खराब होने की वजह से किसी ने एडॉप्ट नहीं किया. आखिरकार 51 साल के लीसेल विलहार्डट (Liesl Wilhardt) को पिकासो का साथ भाया और उन्होंने उसे एडॉप्ट कर लिया. उन्हें इस बात से भी काफी राहत मिली कि पिकासो का मुंह किसी हादसे की वजह से नहीं बिगड़ा है, बल्कि वो जन्मजात ऐसा ही है.

    ये भी पढ़ें- ‘भारत माता की जय’ से लेकर ‘जय हिंद’ तक …जानिए जोश भर देने वाले नारों की कहानी 

    इस वक्त पिकासो सोशल मीडिया पर खूब पॉपुलर हो चुका है. Instagram पर उसके 2 लाख 63 हजार से भी ज्यादा फॉलोअर्स हैं, जो उसके वीडियो और फोटो को काफी पसंद करते हैं. नए घर में वो काफी खुश है, हालांकि खाते वक्त उसके ओनर को खासी मेहनत करनी पड़ती है.

    Tags: Dog Breed, Dog squad, Dogs

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर