एयरलाइंस की नौकरी जाने के बाद भी पायलट ने नहीं उतारी वर्दी, सड़क किनारे बेचने लगे नूडल्स

(फोटो: Facebook/Latun Noralyani)
(फोटो: Facebook/Latun Noralyani)

कभी प्लेन उड़ाने वाले अजरीन अब सड़क किनारे नूडल्स बेचते हैं. लोग एक पायलट के हाथों खाना सर्व होते देख इस नजारे को काफी पसंद करते हैं. उन्होंने अपनी दुकान का नाम भी 'कैप्टन कॉर्नर' रखा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2020, 3:52 PM IST
  • Share this:
कुआलालंपुर. कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी (Pandemic) ने करोड़ों लोगों को अपनी चपेट में लिया है, लेकिन मानसिक रूप से हर कोई इस बीमारी से प्रभावित है. इस महामारी के दौरान काफी लोगों ने अपनी नौकरियां गंवाई. हालांकि, ऐसे भी कई लोग रहे, जिन्होंने तमाम मुश्किलों के बीच अपना मनोबल नहीं टूटने दिया. तनख्वाह का नुकसान भले ही उठाया हो, लेकिन अपने नए प्लान के साथ परेशानियों का सामना किया है. ऐसे ही एक शख्स की कहानी आपको बताते हैं, जिसने पायलट की नौकरी जाने के बाद फूड स्टॉल शुरू किया है.

यह कहानी मलेशिया के अजरीन मोहम्मद जवावी की है. अजरीन पेशे से पायलट थे, लेकिन कोरोना के कारण एयरलाइंस में हुई छंटनी का शिकार हो गए. महामारी शुरू होने से पहले अजरीन रोज सुबह अपनी पायलट की यूनिफॉर्म में काम पर जाते थे और खास बात है कि उन्होंने नौकरी जाने के बाद भी यह दिनचर्या जारी रखी है. हालांकि, अब उनके काम करने की जगह बदल गई है. कभी प्लेन उड़ाने वाले अजरीन अब सड़क किनारे नूडल्स बेचते हैं. लोग एक पायलट के हाथों खाना सर्व होते देख इस नजारे को काफी पसंद करते हैं. उन्होंने अपनी दुकान का नाम भी 'कैप्टन कॉर्नर' रखा है.





Posted by Mohamad Zawawi Ahmad on Monday, 2 November 2020


44 साल के अजरीन मालिंडो एयर लाइंस में पायलट के तौर पर तैनात थे. एयर लाइंस में उन्होंने करीब दो दशकों तक काम किया है, लेकिन कोरोना के कारण उनकी नौकरी चली गई. 6 सदस्यों के परिवार के मुखिया अजरीन को आमदनी की जरूरत थी. उनके 4 बच्चे हैं. रोड साइड खाना बेचने की उनकी कोशिश को तब और पर लग गए जब उनके ग्राहकों ने सोशल मीडिया (Social Media) पर स्टॉल की तस्वीरें वायरल कर दीं. अजरीन अपनी कहानी से लोगों को प्रेरित करना चाहते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज