अपना शहर चुनें

States

Video: चीनी इंजीनियरों ने किया कमाल, यूं अपने 'पैरों' पर चलकर एक से दूसरे जगह पहुंची ये इमारत!

चीन में पहली बार किसी बिल्डिंग को दूसरे जगह शिफ्ट करने के लिए रोबोटिक लेग्स का इस्तेमाल किया गया. (फोटो- सोशल मीडिया)
चीन में पहली बार किसी बिल्डिंग को दूसरे जगह शिफ्ट करने के लिए रोबोटिक लेग्स का इस्तेमाल किया गया. (फोटो- सोशल मीडिया)

चीन के इंजीनियर्स (Chinese Engineers) ने एक बिल्डिंग को रोबोटिक पैर (Robotic Legs) के सहारे दूसरे जगह शिफ्ट करने में सफलता पाई है. इस बिल्डिंग के पास एक नया कमर्शियल प्रोजेक्ट (Commercial Project) बन रहा था, इस कारण से इमारत को शिफ्ट करना पड़ा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 2, 2020, 5:23 PM IST
  • Share this:
क्या आपने किसी बिल्डिंग को अपने पैरों पर चलते (Walking Buildings) हुए देखा है? शायद नहीं देखा होगा, लेकिन आपको बता दें कि चीन (Chinese Engineers) के इंजीनियर्स ने ऐसा कर दिखाया है. कुछ दिन पहले ही चीन (China) के शांघाई (Shanghai) में एक 5 मंजिले इमारत को उसके 'पैरों' के सहारे एक जगह से दूसरे जगह शिफ्ट किया गया. इस इमारत का वजन 7,600 टन है, जिसमें हाल-फिलहाल एक स्कूल चल रहा था.

इंजीनियर्स के पास इस बिल्डिंग को शिफ्ट करने की जगह गिराने का भी विकल्प था, लेकिन उन लोगों ने इस 85 साल पुरानी इमारत को शिफ्ट करने का निर्णय लिया. बता दें कि इस बिल्डिंग का निर्माण सन् 1935 में हुआ था, जिसमें 2018 में एक स्कूल खोला गया. इस स्कूल का नाम लागेना प्राइमरी स्कूल (Lagena Primary School) है. जहां पर यह इमारत खड़ी थी, वहां पर एक नया कमर्शियल प्रोजेक्ट बनाया जा रहा है, इस बिल्डिंग की वजह से उसके लिए जगह कम पड़ रहा था. ऐसे में इसे खिसकाने का फैसला किया गया.





198 रोबोटिक लेग्स, 202 फीट तक चली इमारत!
इस बिल्डिंग को शिफ्ट करने के लिए चीनी तकनीशियनों ने इमारत के नीचे पहले 198 रोबोटिक पैर लगाए. इसके बाद रोबोटिक लेग्स के सहारे कुल 18 दिनों में इसे 61.7 मीटर (202.4 फीट) तक चलाया. अब इमारत बिल्कुल सुरक्षित है और स्थानीय प्रशासन इसे संरक्षित करने का कार्य कर रही है.



बता दें कि यूं तो बिल्डिंग को एक जगह से दूसरे जगह शिफ्ट करने के कई तरीके हैं, लेकिन चीन ने पहली बार इस काम में रोबोटिक लेग्स का इस्तेमाल किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज